टमाटर की कीमतों में कुछ गिरावट से राहत, कीमत में बढ़त दो महीनों तक रहेगी जारी
टमाटर की कीमतों में कुछ गिरावट से राहत, कीमत में बढ़त दो महीनों तक रहेगी जारीSocial Media

टमाटर की कीमतों में कुछ गिरावट से राहत, कीमत में बढ़त दो महीनों तक रहेगी जारी

महंगाई की मार झेल रहे ग्राहकों का स्वाद बिगड़ गया था। वहीं, अब टमाटर की कीमतों में कुछ गिरावट से ग्राहकों को राहत मिली है, लेकिन टमाटर की कीमत में बढ़त दो महीनों तक जारी रहेगी।

राज एक्सप्रेस। टमाटर की गिनती एक ऐसे खाद्य पदार्थ में होती है जो, किसी भी सब्जी में मिलते ही सब्जी का स्वाद कई गुना बढ़ा देता है। वहीं, हाल ही में टमाटर की कीमतें बढ़ने से व्यापारियों का स्वाद तो बढ़ रहा था, लेकिन महंगाई की मार झेल रहे ग्राहकों का स्वाद बिगड़ गया था। वहीं, अब टमाटर की कीमतों में कुछ गिरावट से ग्राहकों की सब्जी का स्वाद बिगड़ने से बचता नजर आरहा है। जी हां, टमाटर की कीमतों में कुछ गिरावट दर्ज की गई है।

टमाटर की कीमतों में गिरावट :

दरअसल, देश में लॉकडाउन के बाद से ही लगातार आर्थिक मंदी का माहौल है। इसी बीच देशवासी महंगाई की मार झेल रहे हैं। ऐसे में लगभग सभी जरूरी वस्तुओं की कीमतें बढ़ती जा रही हैं। वहीं, पिछले दिनों देश में खाद्य पदार्थों की कीमतें भी आसमान छूती नजर आरही थी। इसी कड़ी में जहां सर्दी में टमाटर 20 रुपये प्रति किलो मिलने चाहिए। वहीं, अब कई शहरों में टमाटर की कीमतें 60 रूपये से लेकर 160 रुपये प्रति किलो तक बिकते नजर आरहे थे। हालांकि, अब टमाटर की कीमतों में गिरावट से कुछ राहत नजर आरही है। इस गिरावट के बाद खुदरा बाजार में 100 रुपए से ज्यादा प्रति किलों में बिक रहे टमाटर की कीमत अब थोक बाजार में 30 रुपये प्रति किलो तक बिकती नजर आई।

दो महीनों तक जारी रहेगी बढ़त :

क्रिसिल रिसर्च ने शुक्रवार को कहा कि, 'ज्यादा बारिशों की वजह से सब्जियों की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है और कीमतों में यह बढ़त अगले दो महीनों तक जारी रहेगी। टमाटर उगने वाले बड़े क्षेत्रों में से एक कर्नाटक में स्थिति इतनी खराब है कि सब्जी को महाराष्ट्र के नासिक से भेजा जा रहा है। कर्नाटक में ज्यादा बारिशों की वजह से लगी हुई फसलें बर्बाद हो गईं। राज्य में सामान्य से 105 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है। वहीं, आंध्र प्रदेश में सामान्य से 40 फीसदी ज्यादा और महाराष्ट्र में 22 फीसदी अधिक बारिश हुई है। ये राज्य अक्टूबर से दिसंबर की अवधि के दौरान मुख्य आपूर्तिकर्ता हैं।

दिल्ली में टमाटर की कीमतें :

देश की राजधानी दिल्ली स्थित सबसे बड़ी थोक मंडी से लेकर आजादपुर मंडी एपीएमसी में टमाटर की कीमतें 60 रुपये प्रति किलोग्राम में ही चल रही है। पिछले दिनों से अब तक आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में माटर की कीमतें बहुत ज्यादा बढ़ गई हैं। हालांकि, यहां टमाटर की कीमतें बढ़ने का मुख्य कारण बाढ़ के चलते फसलों का खराब होना है। उधर हिमाचल प्रदेश से आने वाले देशी टमाटर की कीमतों में कोई गिरावट देखने नहीं मिली हैं और टमाटर मंडियों में 50 रुपये प्रति किलो तक बेचा गया। फिलहाल खुदरा बाजार में टमाटर की कीमत लगभग 70 रुपये प्रति किलो है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co