#BanTWITTER : विवादों में घिरे Twitter ने तोड़ी चुप्पी और रखा अपना पक्ष
#BanTWITTERSyed Dabeer Hussain - RE

#BanTWITTER : विवादों में घिरे Twitter ने तोड़ी चुप्पी और रखा अपना पक्ष

#BanTWITTER : पिछले कुछ समय से माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter विवादों में घिरी है। एक-एक करके कंपनी पर लगातार बड़े-बड़े इल्जाम लगते आए हैं, लेकिन अब Twitter ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए अपना पक्ष रखा।

राज एक्सप्रेस। पिछले कुछ समय से माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter विवादों में गिरी है। एक-एक करके कंपनी पर लगातार बड़े-बड़े इल्जाम लगते आए हैं, लेकिन अब तक Twitter की तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया था। हालांकि, इस दौरान Twitter द्वारा कई अकाउंट सस्पेंड किए गए थे। वहीं, अब Twitter ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए अपना पक्ष रखा और बुधवार को एक बयान जारी किया।

Twitter ने बयान जारी कर रखा अपना पक्ष :

दरअसल, पिछले कुछ समय में Twitter पर लग रहे आरोपों को लेकर अपना पक्ष रखा है। Twitter ने अपने बयान में कहा है कि, 'कंपनी किसी से अभिव्यक्ति की आजादी नहीं छीन सकती इसलिए वह इन सामाजिक कार्यकर्ताओं, राजनीतिज्ञों एवं मीडिया के Twitter अकाउंट को ब्लॉक नहीं करेगी और न ही पहले ऐसा किया गया है, क्योंकि यदि कंपनी किसी का भी अकाउंट ब्लॉक करती है तो यह उसके अभिव्यक्ति की आजादी के मूल अधिकार का उल्लंघन होगा।' वहीं, भारत सरकार के निर्देश की बात करते हुए कंपनी ने बताया कि, 'भारत सरकार ने सिर्फ भारत में ही कुछ अकाउंट को बंद करने के निर्देश दिए थे। जिनके तहत हमने कुछ ट्विटर हैंडल पर रोक लगा दी है।'

Twitter करता है अपने यूजर्स की अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन :

बताते चलें, Twitter ने साफ़ कर दिया है कि, वह अपनी माइक्रोब्लॉगिंग साइट से जुड़े अपने यूजर्स और उपयोग करने वाले सभी लोगों की अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन करता है और यह वह आगे भी हमेशा इसका समर्थन करना जारी रखेगा। हालांकि, इसके लिए पूरी सक्रियता से भारतीय कानून के तहत तमाम विकल्पों पर विचार किया जा रहा है। इन विचारों के तहत ऐसे मुद्दों को लिया गया है जो, Twitter यूजर्स के अकाउंट को प्रभावित करता है।

सरकार के आदेश :

बताते चलें, सरकार द्वारा Twitter को दिए गए निर्देशों में कहा गया था कि, 'वह ऐसे कई अकाउंट को बंद कर दें, जिनसे कथित तौर पर देश में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर भ्रामक एवं भड़काऊ बयान व सूचनाएं जारी की जा रही है। जब Twitter ने सरकार के इस आदेश को मैंने से इनकार कर दिया तो, सरकार की तरफ से Twitter को कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई थी।' इनसब के बाद कई समय तक चुप रहने के बाद Twitter ने अब चुप्पी तोड़ते हुए अपना बयान जारी किया है।

Twitter नुकसानदेह सामग्री का रखेगी ध्यान :

Twitter ने नुकसानदेह सामग्री का ध्यान रखने की बात कहते हुए साफ़ किया है कि, किसी के भी अकाउंट पर नुकसानदेह सामग्री कम नजर आए, इस बात का कंपनी पूरा ध्यान रखेगी और जरूरत पड़ने पर सभी जरूरी कदम भी उठाएगी। Twitter ने ने इनमें ऐसे हैशटैग को ट्रेंड करने से रोकना और खोजने के दौरान इन्हें नहीं देखने की अनुशंसा करना भी शामिल है। इसके अलावा Twitter की तरफ से इन सभी उपायों को लागू किए जाने की जानकारी सूचना प्रोद्यौगिकी (IT) मंत्रालय को भी दे दी है।

क्या वाकई भारत सरकार से डर गया Twitter ?

दरअसल, Twitter की तरफ से बयान सामने आने पर Twitter सहित कई सोशल मीडिया प्लेटफ्रॉम पर इस मामले की ही चर्चा चल रही है और लोगों का कहना है कि, Twitter भारत की चेतावनी से डर गया है। इसी के चलते यूजर्स Twitter सहित अन्य पर प्लेटफ्रॉम पर #BanTWITTER हैशटैग के साथ पोस्ट और मीम्स शेयर करते नजर आ रहे है। हालांकि, इस मामले में ट्विटर ने फिर से चुप्पी साध ली है कि, उसने जो बयान दिया है वो भारत सरकार से दर कर दिया है या किसी और कारण से।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co