संयुक्त राष्ट्र ने भारत की अर्थव्यवस्था में वृद्धि का भरोसा जताया
संयुक्त राष्ट्र ने भारत की अर्थव्यवस्था में वृद्धि का भरोसा जतायाSyed Dabeer Hussain - RE

संयुक्त राष्ट्र ने भारत की अर्थव्यवस्था में वृद्धि का भरोसा जताया

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) द्वारा दिलाए गए भरोसे से भारत में एक खुशी की लहर है। इस मामले में UN ने सोमवार को ‘वर्ल्ड इकनॉमिक सिचुएशन ऐंड प्रॉस्पेक्ट्स रिपोर्ट-2021’ जारी की है।

राज एक्सप्रेस। पिछले कुछ समय से कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन के कारण देश में भारी आर्थिक मंदी आई थी। हालांकि, अब माहौल में पहले से काफी सुधार आया है, लेकिन अब संयुक्त राष्ट्र (United Nations) द्वारा दिलाए गए भरोसे से भारत में एक खुशी की लहर है। इस मामले में UN ने सोमवार को ‘वर्ल्ड इकनॉमिक सिचुएशन ऐंड प्रॉस्पेक्ट्स रिपोर्ट-2021’ जारी की है।

UN द्वारा जारी की गई रिपोर्ट :

दरअसल, लॉकडाउन के कारण देश काफी आर्थिक मंदी में आ गया था, लेकिन अब संयुक्त राष्ट्र ने अनुमान जाहिर करते हुए बताया है कि, भारतीय अर्थव्यवस्था में इस वर्ष उत्साह वर्धक सुधार देखा जाएगा। बता दें, पिछले साल अर्थव्यवस्था में 9.6% की गिरावट दर्ज की गई थी, जबकि वर्तमान कैंलेडर वर्ष में यूएन ने इसमें 7.3% की वृद्धि दर्ज करने का अनुमान जताया है। UN दवा जारी की गई ‘वर्ल्ड इकनॉमिक सिचुएशन ऐंड प्रॉस्पेक्ट्स रिपोर्ट-2021' के मुताबिक, वर्ष 2022 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 5.9% की गिरावट आ सकती है। कोरोना महामारी के कारण विश्व की अर्थव्यवस्था में पिछले साल 4.3% की गिरावट देखी गई। इसमें इस साल 4.7% और अगले वर्ष 5.9% वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया गया है।'

पैकेजों की घोषणा के बावजूद गिरावट :

गौरतलब है कि, भारतीय अर्थव्यवस्था को इस संकट से उबारने के प्रयासों के तहत कई वित्तीय एवं मौद्रिक पैकेजों की घोषणा के बावजूद देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में गिरावट दर्ज की गई है। क्योंकि, देश में अनेक बार कोरोना के कारण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। उत्पादों की घरेलू खपत कम होने में यही प्रमुख वजह रही है।

चीनी अर्थव्यवस्था का अनुमान :

बताते चलें, पिछले साल सिर्फ चीन की ही एकमात्र ऐसी अर्थव्यवस्था थी, जिसमें वृद्धि दर्ज की गई थी। वहीं अब अनुमान व्यक्त किया गया है कि, चीनी अर्थव्यवस्था जिसने पिछले वर्ष 2.4% की वृद्धि दर्ज की थी, वह इस वर्ष बढ़कर 7.2% की वृद्धि हो सकती है। जबकि अगले साल इसमें 5.8% की वृद्धि दर्ज करने का अनुमान जताया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co