US India 'Romeo' helicopter deal
US India 'Romeo' helicopter deal|Social Media
व्यापार

ट्रंप के भारत दौरे से पहले मिली 'रोमियो' हेलिकॉप्टर डील को मंजूरी

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले ही भारत और अमेरिका के बीच मल्टीरोल हेलिकॉप्टर 'रोमियो' की डील फ़ाइनल हो गई। भारत नौसेना के लिए मल्टीरोल हेलिकॉप्टर खरीदेगा।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • ट्रंप के दौरे से पहले भारत को मिली बड़ी खुशखबरी

  • अमेरिका ने दी 2 अरब डॉलर की इस डील को मंजूरी

  • नौसेना के लिए मल्टीरोल हेलिकॉप्टर खरीदेगा भारत

  • भारत जल्द खरीदेगा मल्टीरोल हेलिकॉप्टर 'रोमियो'

राज एक्सप्रेस। जल्द ही अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप अपनी पत्नी के साथ भारत दौरे पर आने वाले हैं, भारत में उनके स्वागत की तैयारियां जोरो पर हैं, इसी बीच भारत को एक बड़ी खुशखबरी मिली क्योंकि, ट्रंप के इस दौरे से पहले ही भारत की अमेरिका से नौसेना के लिए मल्टीरोल हेलिकॉप्टर खरीदने की डील पूरी हो गई। जी हां, अमेरिका ने इस डील के लिए बुधवार को मंजूरी दे दी है। भारत ने नौसेना को और अधिक मजबूत और ताकतवर बनाने और आतंकवाद पर लगाम लगाने के मकसद से यह डील की है।

2 अरब डॉलर की डील :

बताते चलें बुधवार को फ़ाइनल हुई यह डील 2 अरब डॉलर की है। इस डील के तहत भारत अपनी नौसेना के लिए मल्टीरोल हेलिकॉप्टर 'रोमियो' खरीदेगा। अमेरिका से हुई इस डील के बाद भारत की नौसेना के पास 24 एडवांस्ड MH 60 'रोमियो' मल्टीरोल हेलिकॉप्टर होगा। यह डील नौसेना के लिए काफी खास है। इस हेलिकॉप्टर के द्वारा नौसेना के जल्द ही समुद्र में उतरने वाले कुछ जहाज को एक सक्षम हेलिकॉप्टर भी मिल जाएगा। जो अभी तक भारत की नौसेना के पास मौजूद नहीं है।

रोमियो का इस्तेमाल :

MH-60 रोमियो एक मल्टीरोल हेलिकॉप्टर है। जिसे अमेरिका की लॉकहीड मार्टिन कंपनी द्वारा निर्मित किया गया है। इसका इस्तेमाल एंटी-सबरमीन और एंटी-सर्फेस (शिप) वॉरफेयर के लिए किया जाता है। इस हेलीकॉप्टर को पनडुब्बियों पर हमले के लिए हथियारों से लैस बनाया गया है। भारत इसे नौसेना के जंगी बेड़े में शामिल करने के लिए खरीदेगा। ये हेलीकॉप्टर नौसेना में सी किंग हेलीकॉप्टर की जगह लेगा।

डील का भुगतान :

खबरों के अनुसार, भारत द्वारा इस 24 MH-60R हेलीकॉप्टर की डील का भुगतान 15% की किस्त में करेगा। डील फ़ाइनल होने के बाद भारत द्वारा मंगवाए गए हेलीकॉप्टर की पहली खेप 2 साल में भारत आएगी। अर्थात 2 से 5 साल के अंदर भारत को सभी हेलीकॉप्टर मिल जाएंगे। खबरों के अनुसार, दोनों देशों में इंटीग्रेटेड एयर डिफेंस वेपन सिस्टम खरीदने को लेकर डील भी हो सकती है। भारत यह डील दिल्ली को सुरक्षित रखने के मकसद से करेगी। बताते चलें यह डील लगभग 9,000 करोड़ रुपये की होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co