VRS scheme of BSNL
VRS scheme of BSNL|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

BSNL की VRS योजना में आज से हिस्सा ले सकेंगे कर्मचारी

BSNL कंपनी द्वारा पेश की गई VRS योजना आज अर्थात सोमवार से हुई शुरू हो गई है, इच्छुक कर्मचारी इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं। एक नजर डालें हिस्सा लेने वाले कर्मचारियों को मिलने वाले लाभ पर।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • आज से शुरू की जा रही BSNL की VRS योजना

  • 30 दिन तक चलेगी यह योजना

  • इम्प्लीमेंट में लगेगा 3 महीने का समय

  • नहीं पड़ेगा कंपनी की सर्विस पर कोई असर

  • कंपनी ने लिए अन्य एक फैसला

राज एक्सप्रेस। बहुत समय से वित्तीय संकट में चल रही सरकारी क्षेत्र की टेलिकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) को सरकार ने कुछ समय पहले ही राहत देने का फैसला किया है, इस फैसले के तहत सरकार ने कर्मचारियों के लिए वीआरएस (VRS) की योजना (VRS scheme of BSNL) भी पेश की है, सरकार को उम्मीद है कि, कंपनी में कायर्रत 50 साल की उम्र से अधिक के लोग इस योजना का लाभ जरूर लेंगे।

क्यों पेश की VRS योजना :

दरसअल, कंपनी को लगता है कि, कंपनी में उपस्थित 50 साल से अधिक के लोग यदि इस योजना का चुनाव करते हैं तो, यह संख्या 80000 कर्मचारियों की पहुंचेगी, कंपनी को हर महीने फिर इन्हे वेतन नहीं देना पड़ेगा और जिससे कंपनी के 7500 करोड़ रुपये की बचत होगी।

योजना सोमवार से शुरू :

BSNL कंपनी द्वारा इस VRS (Voluntary retirement scheme) योजना की शुरुआत आज से अर्थात सोमवार से शुरू की जा रही है, यह योजना 30 दिनों तक चलेगी। जो भी कर्मचारी इस VRS योजना का हिस्सा बनना चाहता है वो, इन 30 दिनों के दौरान अपनी इच्छा से एप्लीकेशन दे सकता है। एप्लीकेशन देने के बाद कर्मचारी इस योजना का लाभ ले सकेगा। इस योजना के इम्प्लीमेंट में लघभग 3 महीने का समय लगेगा। कंपनी के मैनेजमेंट और यूनियन द्वारा अपने कर्मचारियों से इस एप्लीकेशन को लेकर अपील भी की गई है।

ये लाभ मिलगा योजना से :

खबरों के अनुसार, BSNL कंपनी अपने कर्मचारियों को इस VRS योजना के तहत उनकी नौकरी के बचे हुए साल में से साढ़े 3 साल (3 साल 6 महीने) की सैलरी दे देगी, इसके अलावा सेवानिवृत्त होने के बाद से ही पेंशन मिलना प्रारंम्भ हो जाएंगी, साथ ही BSNL कंपनी द्वारा कर्मचारी को मिलने वाली अन्य सुविधाएं बैसे ही मिलेंगी।

नहीं पड़ेगा कंपनी की सर्विस पर असर :

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, यदि इस VRS योजना में कंपनी के कर्मचारी हिस्सा लेते हैं तो, कंपनी की सर्विस पर कोई असर नहीं पड़ेगा, BSNL कंपनी में वर्तमान में 1.59 लाख कर्मचारी कार्यरत हैं, इनमें से यदि 50 साल की उम्र से अधिक आयु के करीब 1.06 लाख कर्मचारी भी इस योजना का हिस्सा बनते है तो, कंपनी की कार्य शैली में ज्यादा अंतर नहीं आएगा। वहीं प्राप्त जानकारी के मुताबिक, BSNL कंपनी में साल 2018-19 के दौरान में कर्मचारी संबंधी लागत 1792 करोड़ रुपये दर्ज की गई थी।

कंपनी का फैसला :

कंपनी ने अपने कर्मचारियों से जुड़ा एक अन्य फैसला भी लिया है कि, यदि कंपनी की यह VRS योजना सफल रही तो, कंपनी रिटायरमेंट देने की उम्र को 60 से घटाकर 58 साल नहीं करेगी। फ़िलहाल कंपनी के रिवाइवल प्लान के अंतर्गत रिटायरमेंट की उम्र घटाने का प्रस्ताव है। वहीं रिवाइवल प्लान के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सभी सरकारी विभागों और राज्य सरकारों को BSNL कंपनी के लैंडलाइन और ब्रॉडबैंड कनेक्शन इस्तेमाल करने के निर्देश देगी। इसके अलावा BSNL कंपनी ने अपने अधिकारियों को भी BSNL कनेक्शन लेने को अनिवार्य कर दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co