हिमाचल प्रदेश : काजा में स्थापित हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन
हिमाचल प्रदेश : काजा में स्थापित हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशनSocial Media

हिमाचल प्रदेश : काजा में स्थापित हुआ दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन

स्थायी पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति जिले के काजा में दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया गया है।

हिमाचल प्रदेश, भारत। आज अन्य देशों के साथ ही भारत में भी इलेक्ट्रिक व्हीकल की मांग जोरों से बढ़ रही है। इन इलेक्ट्रिक व्हीकल को चलाने के लिए देश में इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन्स की जरूरत पड़ेगी। हालांकि, भारत में इसकी शुरुआत हो चुकी है। देश के पहले पब्लिक 'इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन' की शुरुआत दिल्ली से हुई थी। इसके बाद देश में चार्जिंग स्टेशन लगाने का दौर जारी है। वहीं, अब हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति जिले के काजा में दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया गया है।

दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन :

दरअसल, देश में आज पेट्रोल डीजल की कीमतें आसमान छूती जा रही हैं। वहीं, देश में प्रदूषण भी लगातार बढ़ रहा है और वायु प्रदूषण रुपी इस समस्या से बचने के लिए अब वाहन कंपनियां और ग्राहकों ने इलेक्ट्रिक वाहनों का चुनाव करना शुरू कर दिया है। इसी बीच स्थायी पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति जिले के काजा में दुनिया के सबसे ऊंचे इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन को स्थापित किया गया। जिसका उद्घाटन शुक्रवार को किया गया।

सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट ने दी जानकारी :

उद्घाटन के मौके पर इस चार्जिंग स्टेशन के बारे में जानकारी देते हुए काजा सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (SDM) महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा, "यह काजा में 500 फीट पर दुनिया का सबसे ऊंचा इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन है। यह यहां पहला स्टेशन है। अगर स्टेशन को अच्छी प्रतिक्रिया मिलती है, तो अधिक स्टेशन स्थापित किए जाएंगे। इससे वाहनों के प्रदूषण को रोकने में भी मदद मिलेगी। स्वच्छ और हरित वातावरण को बढ़ावा देने के लिए दो महिलाओं ने मनाली से काजा तक इलेक्ट्रिक वाहन चलाए।"

मनाली से काजा आईं दो महिलाएं :

सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (SDM) महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि, 'आज दो महिलाएं एक स्थायी पर्यावरण को बढ़ावा देने के लिए इलेक्ट्रिक वाहन पर मनाली से काजा आईं हैं। वायु प्रदूषण में वृद्धि के कारण आजकल मौसम अचानक बदल रहा है और वाहनों से गैसों का उत्सर्जन इस प्रदूषण के मुख्य कारणों में से एक है।'

महिला का कहना :

इलेक्ट्रिक वाहन से मनाली से काज़ा तक आई महिलाओं में से एक महिला ने कहा कि, 'इस स्टेशन में चार्जर सहित सभी उत्पाद भारत में बने हैं। सभी उत्पाद यहां भारत में बने हैं और हमने टिकाऊ ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए मनाली से काज़ा की यात्रा की। साथ ही, यह एक मिथक है कि हम इलेक्ट्रिक वाहनों पर लंबी दूरी की यात्रा को कवर नहीं कर सकते हैं। इसलिए, हम दोनों इसे गलत साबित करना चाहते थे। आज मनाली से इन इलेक्ट्रिक स्कूटरों की सवारी करते हुए। हमने बहुत ही आरामदायक यात्रा की।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co