Yes Bank seized Mumbai headquarters of Anil Ambani
Yes Bank seized Mumbai headquarters of Anil Ambani|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

Yes बैंक ने किया अनिल अंबानी के मुंबई मुख्यालय को जब्त

काफी समय से नुकसान का सामना कर रहे रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी की मुश्किलें प्राइवेट सेक्टर के Yes बैंक ने अनिल अंबानी की संपत्ति का कुछ भाग जब्त करके और अधिक बढ़ा दी है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। काफी समय से नुकसान का सामना कर रहे रिलायंस एंटरटेनमेंट ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी (Anil Amban) की मुश्किलें दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। हाल ही में उनका नाम राणा कपूर के साथ फ्रॉड करने से मामले का नाम भी सामने आया था। उन्हें बैंक को कर्ज चुकाना था जो अनिल अंबानी चुकाने में असफल रहे। इसी के चलते वहीं, अब प्राइवेट सेक्टर के Yes बैंक ने अनिल अंबानी की संपत्ति का कुछ भाग (मुख्यालय और नागिन महल) जब्त कर अनिल अंबानी की मुश्किल और अधिक बढ़ा दी है।

Yes बैंक ने दिखाई सख्ती :

दरअसल, अनिल अंबानी की कंपनी को Yes बैंक को 2,892 करोड़ रूपये की रकम का भुगतान करना था जिसमें अनिल अंबानी असफल रहे। इसीलिए, बैंक ने अनिल अंबानी के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए बुधवार को Yes बैंक द्वारा रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी की मुंबई स्थित अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप (ADAG) के मुख्यालय भवन, रिलायंस सेंटर को जब्त कर लिया है। इस मामले में बैंक ने जानकारी देते हुए बताया है कि, बैंक ने उसने सांताक्रूज़ में 21,000 वर्ग फुट से अधिक जगह में फैले स्थित मुख्यालय की बिल्डिंग, दक्षिण मुंबई में स्थित नागिन महल की दो मंजिलों को जब्त कर लिया है। खबरों के अनुसार, यह अनिल अंबानी का तत्कालीन मुख्यालय था।

SARFESI के अंतर्गत की गई जब्ती :

बताते चलें बैंक ने 22 जुलाई को अनिल अंबानी के भवन की जब्ती सिक्योरिटाइजेशन एंड रिकंस्ट्रक्शन ऑफ फाइनेंशियल एसेट्स एंड एनफोर्समेंट ऑफ सिक्योरिटी इंटरेस्ट एक्ट (SARFESI) के अंतर्गत की थी। बता दें, यस बैंक के पूर्व डायरेक्टर राणा कपूर का नाम मनी लांड्रिंग जैसे मुद्दे में सामने आया था। उनसे पूछताछ के बाद इसी मामले में रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी का नाम भी सामने आया था, जिसके कारण प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने इसी साल मार्च में उनके खिलाफ नोटिस जारी कर उनसे इस मामले की पूछताछ की थी।

अनिल अंबानी ने प्रवर्तन निदेशालय :

इस मामले में इसी साल मार्च में अनिल अंबानी ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अधिकारियों को बयान दिया था कि, यस बैंक के लिए DGA का पूरा जोखिम पूरी तरह से सुरक्षित है और कानून और वित्तीय नियमों के अनुपालन में है। उन्होंने यह भी जानकारी दी थी कि, समूह का न तो राणा कपूर से कोई प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से संपर्क है न ही उनकी पत्नी और उनकी बेटियों से। इसके अलावा समूह का उनके द्वारा नियंत्रित किसी भी संस्था से कोई संपर्क नहीं है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co