अब YouTube अपने नए फीचर के साथ खुद करेगा क्रिएटर्स के कंटेंट की निगरानी
अब YouTube अपने नए फीचर के साथ खुद करेगा क्रिएटर्स के कंटेंट की निगरानीSyed Dabeer Hussain - RE

अब YouTube अपने नए फीचर के साथ खुद करेगा क्रिएटर्स के कंटेंट की निगरानी

YouTube पर कई बार कुछ वीडियोस पोस्ट होने के बाद भी कॉपीराइट इशू के चलते हटा दिए जाते है, लेकिन अब से ऐसा नहीं होगा क्योंकि YouTube ने अपने प्लेटफ्रॉम पर एक नए फीचर या अपडेट की पेशकश की है।

राज एक्सप्रेस। अगर आप यूटूबर है या YouTube का ज्यादातर इस्तेमाल करते है तो, YouTube से जुड़ा नया अपडेट आपके लिए जान लेना जरूरी होगा। कई बार बहुत से ऐसे वीडियो होते है जिन्हे YouTube बिना यूजर की अनुमति के अपने प्लेटफ्रॉम से डिलीट कर देता है। ऐसे में YouTube ऐसा इसलिए करता है क्योंकि यूजर अनजाने में कुछ नियमों का उलंघन कर रहा होगा है। ऐसे में YouTube के कंटेंट क्रिएटर्स को उनके वीडियो पर कॉपीराइट क्लेम का सामना करना पड़ता है, लेकिन अब से ऐसा नहीं होगा।

YouTube का नया फीचर :

दरअसल, Google के वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म पर YouTube पर कई बार कुछ वीडियोस पोस्ट होने के बाद भी कॉपीराइट इशू के चलते हटा दिए जाते है, लेकिन अब से ऐसा नहीं होगा क्योंकि YouTube ने अपने प्लेटफ्रॉम पर एक नए फीचर या अपडेट की पेशकश की है। बता दें, YouTube के इस नए फीचर को 'चेक्स' नाम से पेश किया है। जिससे कंटेंट क्रिएटर्स को अपने आप ही पता चल जाएगा कि, उनके वीडियो का कौनसा हिस्सा कॉपीराइट के नियमों का उल्लंघन कर रहा है। इस फीचर की खास बात यह है कि, यूजर्स को इस बात का पता वीडियो अपलोड करते समय ही पता चल जाएगा।

क्या करेगा YouTube का नया फीचर :

YouTube का यह नया फीचर किसी भी वीडियो को अपलोड करते समय ही चेक करके बता देगा कि, क्रिएटर के वीडियो में किसी तरह का कॉपीराइट क्लेम आने या नियमों के उल्लंघन का डर तो नहीं है। इस नए फीचर की मदद से कंटेंट क्रिएटर्स को वीडियो अपलोड करने और ऐड रेवेन्यू पाने की प्रक्रिया में आसानी होगी। इसके अलावा यह फीचर अपलोड किए गए वीडियो में से कॉपीराइटेड कंटेंट को स्क्रीन करेगा, जिसके चलते क्रिएटर्स को पता चल जाएगा कि उनके वीडियो के किस हिस्से पर कॉपीराइट क्लेम आ सकता है। कॉपीराइट वाला हिस्सा स्कैन होने और क्लेम आने के बाद वीडियो को टेकडाउन किया जा सकता है और उनसे क्रिएटर्स को रेवन्यू नहीं मिलता।

वीडियो होने अपने आप मॉनिटर :

बताते चलें, इस नए फीचर से क्रिएटर्स के वीडियो आसानी से मॉनिटर किये जाएंगे। जिससे क्रियेटर को यह पता चलेगा कि, उनका वीडियो मॉनिटाइजेशन के लिए जरूरी नियमों का पालन करता है या नहीं। अगर किसी वीडियो पर कॉपीराइट से जुड़ा दावा आता है, तो उसके सामने 'यलो डॉलर आइकन' दिखने लगता है। बैसे तो YouTube की कोशिश होगी कि कम से कम वीडियोज के सामने क्रिएटर्स को यलो आइकन दिखे और मॉनिटाइजेन की प्रक्रिया आसान बनाई जा सके, लेकिन इसके बाद भी कोई कॉपीराइट क्लेम आता है तो क्रिएटर्स उसके लिए डिस्प्यूट कर सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co