Raj Express
www.rajexpress.co
zee Entertainment Chairman Subhash Chandra Resigns
zee Entertainment Chairman Subhash Chandra Resigns|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

जी एंटरटेनमेंट के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने दिया इस्तीफा

सुभाष चंद्रा ने 1992 में देश का पहला हिंदी सैटेलाइट चैनल जी टीवी शुरू किया था, लेकिन अब सुभाष चंद्रा ने जी एंटरटेनमेंट के चेयरमैन पद से अपना इस्तीफा दे दिया है। जिसे बोर्ड की मंजूरी भी मिल गई है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • जी एंटरटेनमेंट के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने दिया इस्तीफा

  • चंद्रा अब गैर-कार्यकारी निदेशक के पद पर कार्य करेंगे

  • जी एंटरटेनमेंट के नए MD और CEO चंद्रा के बेटे पुनीत गोयनका

  • वर्तमान में कंपनी का मार्केट कैप 31,000 करोड़ रुपए

  • बीते वित्त वर्ष में जी एंटरटेनमेंट का रेवेन्यू 6,857.86 करोड़ रुपए

राज एक्सप्रेस। देश का पहले हिंदी सैटेलाइट चैनल की शुरुआत करने वाले जी एंटरटेनमेंट के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इतना ही नहीं इस खबर के बाद जी एंटरटेनमेंट कंपनी के शेयर में 6% की गिरावट दर्ज की गई। बोर्ड द्वारा उनके इस्तीफे को मंजूरी मिल गई है, इस मंजूरी के बाद चंद्रा अब कंपनी में गैर-कार्यकारी निदेशक के पद पर कार्य करेंगे।

जी एंटरटेनमेंट की शुरुआत :

जानकारी के लिए बताते चलें कि, जी एंटरटेनमेंट की शुरुआत 27 साल पहले 1992 में सुभाष चंद्रा ने ही की थी। यह देश का पहला हिंदी सैटेलाइट चैनल है, लेकिन अब चंद्रा द्वारा इस्तीफा देने का फैसला लेने के बाद कंपनी ने बोर्ड की बैठक के दौरान तीन नए स्वतंत्र निदेशक की नियुक्ति की है, इन तीनों में आर गोपालन, सुरेन्द्र सिंह और अपराजिता जैन हैं। इन निदेशकों की नियुक्तियां निहारिका वोरा, सुनील शर्मा और एस्सेल ग्रुप के एक नामित निदेशक सुबोध कुमार के बदले की गईं हैं।

चंद्रा के बेटे बने MD और CEO :

पुनर्गठित बोर्ड में की बैठक में 6 स्वतंत्र निदेशक और एस्सेल ग्रुप के दो सदस्य शामिल हुए थे। बता दें कि, एस्सेल ग्रुप जी एंटरटेनमेंट का एक प्रमोटर है। कंपनी ने बताया कि, चंद्रा ने अपना इस्तीफा सेबी के लिस्टिंग नियमों को ध्यान में रखते हुए दिया है। लिस्टिंग नियमों में कभी भी कंपनी के चेयरपर्सन और कंपनी के MD और CEO से कोई संबंध नहीं होना चाहिए। अब जी एंटरटेनमेंट कंपनी के नए MD और CEO चंद्रा के बेटे पुनीत गोयनका बनेंगे।

जी एंटरटेनमेंट का मार्केट कैप :

जी एंटरटेनमेंट ने जानकारी देते हुए बताया कि, बोर्ड द्वारा उठाये गए इस पुनर्गठन के फैसले का मकसद कंपनी में दुनियाभर से अनुभवी लोगों को लाना है, जिससे इनके कार्यो द्वारा कंपनी में मजबूती आये। वर्तमान में कंपनी का मार्केट कैप 31,000 करोड़ रुपए है। वर्तमान के और नए निवेशकों द्वारा लगाए गए 4,770 करोड़ रुपयों द्वारा इन निवेशकों ने कंपनी के आंतरिक मूल्यों के प्रति भरोसा जताया है। दूसरी तरफ एस्सेल ग्रुप ने सितंबर में जी एंटरटेनमेंट की 11% हिस्सेदारी इन्वेस्को ओपेनहाइमर फंड को 4,224 करोड़ में बेचीं थी। जी एंटरटेनमेंट के 7.74% शेयर पहले से ही इन्वेस्को के पास है।

एस्सेल ग्रुप ने बताया :

एस्सेल ग्रुप ने 20 नवंबर को बताया कि, कंपनी का कर्ज उतरने के लिए अभी जी एंटरटेनमेंट की 16.5% हिस्सेदारी और बेची जाएगी। हिस्सेदारी बेचने के बाद जी एंटरटेनमेंट में प्रमोटरों की हिस्सेदारी में गिरावट आएगी यह घटकर मात्र 5% ही रह जाएगी। बीते वित्त वर्ष 2018-19 में जी एंटरटेनमेंट का रेवेन्यू 6,857.86 करोड़ रुपए दर्ज किया गया था। हालांकि एस्सेल ग्रुप ने साल 2019 की शुरुआत में आर्थिक संकट का काफी सामना किया है। जिसके लिए कंपनी ने कर्ज भी लिया था। इस कर्ज को चुकाने के लिए प्रमोटर शेयरों के अलावा कई संपत्तियां भी बेचनी पड़ी। ग्रुप ने पिछले दिनों कहा था कि, और भी मीडिया और नॉन मीडिया एसेट्स बेचने के लिए कोशिशें जारी हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।