मध्यप्रदेश में मिले 2546 कोरोना संक्रमित मरीज, भोपाल में आंकड़ा 500 के पार
मध्यप्रदेश में मिले 2546 कोरोना संक्रमित मरीज, भोपाल में आंकड़ा 500 के पारसांकेतिक चित्र

मध्यप्रदेश में मिले 2546 कोरोना संक्रमित मरीज, भोपाल में आंकड़ा 500 के पार

अब फिर डराने लगा है कोरोना, मौतें भी लगातार बढ़ रहीं, संक्रमण रोकने के प्रशासन के सभी उपाय फेल। एक अप्रैल को मध्यप्रदेश में 2546 कोरोना संक्रमित मारीज मिले है। भोपाल में 502 मरीज मिले हैं।

भोपाल, मध्यप्रदेश। मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब डराने लगी है। यहां कोरोना का वायरस तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है और लोग कोरोना से संक्रमित होते जा रहे हैं। मध्यप्रदेश में कोरोना के संक्रमण ने मार्च 2021 के महीने में अपना सबसे विकराल रूप दिखाया है। सिर्फ इस 1 महीने में यहां कोरोना के 33 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले हैं। जबकि 122 लोग कोरोना वायरस से दम तोड़ चुके हैं। एक अप्रैल को मध्यप्रदेश में 2546 कोरोना संक्रमित मारीज मिले हैं। जबकि राजधानी भोपाल की बात करें तो यहां लगभग रोज 500 संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। गुरूवार को 502 मरीज मिले हैं।

नवंबर 2020 में आए थे 30 हजार के करीब मरीज :

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की एंट्री मार्च 2020 में हुई थी। जिसे अब एक साल पूरा हो चुका है। इस एक साल में मार्च 2021 में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित प्रदेश में निकले हैं। इससे पहले साल 2020 में नवंबर के महीने में 30 हजार के करीब मरीज आए थे। मार्च 2021 की बात करें तो यहां प्रतिदिन औसतन 1088 नए संक्रमित मिले है और 4 लोगों की मौत हुई है।

मध्य प्रदेश में हुए 298057 संक्रमित :

गुरूवार को प्रदेश में कोरोना के 2546 नए संक्रमित मिले हैं। इसके साथ ही यहां कोरोना के मामले बढ़ कर 298057 हो गए हैं। प्रदेश में कोरोना से मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। यहां 12 लोगों ने कोरोना से दम तोड़ा है। मौत का यहां कुल आंकड़ा 3998 हो गया है। अब तक 276002 लोग कोरोना से ठीक हो चुके है। प्रदेश में कोरोना के अब भी 18057 एक्टिव केस मौजूद हैं।

अस्पतालों में बिस्तर की कमी :

प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के केस के चलते अस्पतालों में बिस्तरों की कमी होने लग गई है। सभी सरकारी अस्पतालों में बिस्तर लगभग फूल हो चुके है। हालांकि प्रदेश के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में सरकार ने 15482 बस्तर बढ़ाने का दावा जरूर किया है। जिसके बाद राजधानी भोपाल में 2015 और इंदौर जिले में 5114 अतिरिक्त बस्तर बढ़ाए गए है। वहीं बढ़ते संक्रमण और बेड की कमी के चलते सरकार ने होम आइसोलेशन के लिए नई गाइडलाइंस भी जारी की है।

बता दें प्रदेश में सबसे ज्यादा कोरोना का संक्रमण भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में फैल रहा है। लेकिन अब प्रदेश के छोटे शहरों में भी कोरोना नक संक्रमण ने अपनी रफ्तार पकड़ ली है। चार महानगरों के अलावा मध्य प्रदेश के 26 शहर ऐसे है जहां रोजाना 20 से अधिक केस आ रहे है। इन आंकड़ों ने अब सरकार की चिंता बढ़ा दी है। अगर इन जगहों पर संक्रमण की रफ्तार ऐसी ही रही तो प्रदेश के बाकी शहरों में जिस तरह की सख्ती सरकार और प्रशासन ने की वहीं सख्ती यहां पर भी शुरू की जा सकती है। इन जिलों में नाईट कर्फ्यू और रविवार का लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co