सिरसा में कोरोना मरीजों में अब आ रहे जान लेवा ब्लैक फंगस के मामले
सिरसा में कोरोना मरीजों में अब आ रहे जान लेवा ब्लैक फंगस के मामलेSocial Media

सिरसा में कोरोना मरीजों में अब आ रहे जान लेवा ब्लैक फंगस के मामले

हरियाणा के सिरसा जिले में कोरोना मरीजों में अब जानलेवा ब्लैक फंगस (न्यूकोरेमाईकोसिस) पाव पसार रहा है इससे जहां आखों की रोशनी जाने और जान जाने का खतरा और बढ़ रहा है।

राज एक्सप्रेस। हरियाणा के सिरसा जिले में कोरोना मरीजों में अब जानलेवा ब्लैक फंगस (न्यूकोरेमाईकोसिस) पाव पसार रहा है इससे जहां आखों की रोशनी जाने वहीं जान जाने का खतरा और बढ़ रहा है। सिरसा के डबवाली रोड स्थित एक निजी ईएनटी अस्पताल में हर रोज ब्लैक फंगस के छह से दस मरीज आ रहे हैं। इसी तरह नेत्र चिकित्सालय में तीन मरीज आए हैं।

सिरसा शहर के अन्य अस्पतालों में भी ऐसे मरीज पहुंच रहे हैं लेकिन संसाधनों की कमी के चलते मरीजों को समुचित उपचार नहीं मिल पा रहा है जिससे उन्हें दिल्ली,जयपुर और चंडीगढ़ जैसे शहरों के अस्पतालों के लिये रैफर किया जा रहा है। शहर की नाक कान गला विशेषज्ञ डा. ममता के अनुसार उनके पास हर रोज ब्लैक ब्लैक फंगस के छह से दस मरीज आ रहे हैं। फंगस का असर कोरोना संक्रमित के गले में देखने को मिल रहा है।

फंगस के फैलने का मूल कारण स्टीरायॅड का अधिक मात्रा में लेने और शरीर में शुगर का स्तर बढ़ना माना जा रहा है। इस रोग के कारण सबसे पहले आंख ठहर जाती है जिसके बाद आंख की रोशनी चली जाती है और मरीज को बचाने के लिए आंख को निकालना होता है। वहीं अगर यह वायरस आंख से आगे बढ़कर सिर के ऊपरी हिस्से में चला जाए तो और ज्यादा घातक और जानलेवा हो जाता है। उन्होंने बताया कि इस रोग का उपचार काफी मंहगा है। पहले मरीजों को 21 दिनों तक टीके लगाए जाते हैं जिनका मानव शरीर के दूसरे हिस्सों पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।

उन्होंने बताया कि इस रोग के उपचार के लिए सिरसा में पर्याप्त संसाधन नहीं हैं। ऐसे में मरीजों को दिल्ली, जयपुर और चंडीगढ़ के अस्पतालों के लिये रैफर किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे कोरोना की जल्द जांच कराएं तथा लक्षण मिलने पर तुंरत ईलाज लें ताकि प्राथमिक स्तर पर इस रोग पर काबू पाया जा सके। उन्होंने कोरोना संक्रमण जानलेवा न बने इसके लिए कोविड वैक्सीन लगवाने का आह्वान भी किया है।

नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. प्रवीण अरोड़ा के अनुसार ब्लैक फंगस के गत तीन दिनों में तीन रोगी उनके पास आए हैं। मरीजों को चाहिए कि वे विशेषज्ञ चिकित्सक से ही उपचार लें। उन्होंने बताया कि इस रोग का मूल कारण अब तक स्टीरॉयड ही सामने आया है। उन्होंने बताया कि उनके पास आए मरीजों को रैफर कर दिया गया है। इस संदर्भ में अब जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मनीष बंसल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अभी तक उनके संज्ञान में ऐसा मामला नहीं आया है बाकि आज ही सभी सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों से इसकी जानकारी जुटाई जाएगी। सरकारी आंकड़ों के अनुसार सिरसा जिले में अब तक कोरोना संक्रमण से 255 मौत हो चुकी हैं।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co