इंदौर में एक बार फिर कोरोना ने मचाया आतंक, 24 घंटे में मिले 110 नए संक्रमित
इंदौर में मिले 110 नए संक्रमितSocial Media

इंदौर में एक बार फिर कोरोना ने मचाया आतंक, 24 घंटे में मिले 110 नए संक्रमित

इंदौर, मध्यप्रदेश। नए साल 2022 में मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में कोरोना का तांडव जारी है, यहां कोरोना के 110 नए मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है।

इंदौर, मध्यप्रदेश। नए साल 2022 में मध्य प्रदेश में कोरोना का तांडव जारी है, एमपी के इंदौर शहर में कोरोना बे-लगाम होता जा रहा है। बता दें, मध्य प्रदेश का हॉटस्पाट बन चुके इंदौर में एक बार फिर कोरोना वायरस ने आतंक मचाना शुरू कर दिया है। 24 घंटे में यहां कोरोना के 110 नए मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है।

इंदौर में मिले 110 नए संक्रमित :

इंदौर शहर कोरोना का हॉटस्पॉट बन चुका है, 24 घंटे में यहां 110 नए संक्रमित मिले हैं। शहर में पांच दिन में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर पांच गुना हो गई है। रविवार तक यह संख्या 438 तक पहुंच गई है। वही बढ़ते मामलों को देखते हुए जिले की आपदा प्रबंधन समिति एहतियातन सभी अग्रिम तैयारी करने के निर्देश जारी किये है। उल्लेखनीय है जिले में कुल अस्पताल बिस्तरों की संख्या ग्यारह हजार से कम है। जिले में रात्रिकालीन कर्फ्यू जारी है। अस्पतालों को दस फीसदी बिस्तर संभावित कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित रखने के निर्देश है।

इंदौर के बाद भोपाल में भी बढ़ रहे कोरोना के मामले-

इंदौर के बाद भोपाल में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजधानी में 24 घंटे में 54 संक्रमित मिले हैं जबकि शनिवार को यह संख्या 42 रही थी। रविवार के आंकड़े मिलाकर कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 137 हो गई है।

इन जिलों से भी मिले नए मरीज- रविवार को भोपाल में कोरोना के 54 नए केस मिले हैं, इसके अलावा ग्वालियर में 9 सागर और जबलपुर में 4-4, रतलाम में 2, रीवा में 6, उज्जैन में 8, सागर में 4 नए संक्रमित मिले हैं। दरअसल, प्रदेश में सबसे ज्यादा केस वाले इंदौर, भोपाल और जबलपुर में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। वहीं, कोरोना के मामले में भोपाल और इंदौर हॉट स्पॉट है। यहां हर दिन बड़ी संख्या में पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। प्रदेश में सख्ती और नाइट कर्फ्यू के बावजूद कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है।

बता दें कि कल ही मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि प्रदेश में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इसलिए तीसरी लहर से बचने की पूरी तैयारी रखने की जरूरत है। वहीं मुख्यमंत्री चौहान ने जिला, विकास खंड, वार्ड और पंचायत स्तरीय क्रॉइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स को संबोधित करते हुए कहा था कि वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज में 90 प्रतिशत से कम टीकाकरण वाले जिले मेहनत कर प्रतिशत को बढ़ायें। 15-18 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण 03 जनवरी से प्रारंभ हो रहा है। टीकाकरण युद्ध स्तर पर हो।

इंदौर में मिले 110 नए संक्रमित
प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना केस, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स को CM ने किया सचेत

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co