दिल्ली में सबसे तेज गति से बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या

दिल्ली में कोरोना वायरस की तीसरी लहर सबसे भयानक है, यहां एक बार फिर से सबसे तेज गति से संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है। दिल्ली में 24 घंटे में आए रिकॉर्ड तोड़ नए केस से मचा हड़कंप...
दिल्ली में सबसे तेज गति से बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या
दिल्ली में सबसे तेज गति से बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्याSyed Dabeer-RE

दिल्ली, भारत। भारत में महामारी का संक्रमण जारी है, कोरोना वायरस हर दिन नए लोगों को अपना शिकार बना रहा है और देश के राज्‍यों में महाराष्ट्र सबसे ज्‍यादा प्रभावित राज्‍य था, लेकिन अब राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली के लोग डबल मार झेल रहे हैं, एक तरफ प्रदूषण, तो दूसरी ओर कोरोना के केस से हड़कंप मचा हुआ है। 24 घंटे में कोविड-19 के नए केस महाराष्ट्र व केरल से भी अधिक दिल्ली से समने सामने आए हैं।

तेज गति से बढ़ रही संक्रमितों की संख्या :

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की तीसरी लहर सबसे भयानक साबित हो रही है और ये बात रविवार को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी कही थी, उनकी ये बात सही साबित हो रही है, क्‍योंकि दिल्ली में अब फिर से सबसे तेज गति से संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है एवं कोरोना के कारण हालत बुरे हो रहे हैं। वहीं, दिल्ली में रविवार को रिकॉर्ड तोड़ नए केस की संख्‍या 7 हजार 745 दर्ज हुई, जो एक दिन में मिले नए मरीजों की सर्वाधिक संख्या है।

दिल्‍ली में 24 घंटे में सामने आए नए केस :

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में दिल्‍ली में कोविड-19 संक्रमण के 7745 नए मामले सामने आए हैं, तो इस दौरान 77 और मरीजों ने दम तोड़ा है। इसके साथ ही अब दिल्‍ली में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 4,38,529 पहुंच गई है एवं कोरोना महामारी की वजह से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 6,989 हो गई है। तो वहीं, दिल्‍ली सरकार के बुलेटिन के मुताबिक, अब तक 3,89,683 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं और वर्तमान में 41857 एक्टिव केस हैं।

बता दें, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन द्वारा रविवार को ही ये कहा था, ''राजधानी में कोविड-19 का तीसरे दौर चरम पर है और मामलों की संख्या देखकर लगता है कि यह अब तक का सबसे बुरा चरण है। सरकार ने दिल्ली के अस्पतालों में कोविड-19 रोगियों के लिये बिस्तरों की संख्या बढ़ा दी है, लेकिन होटलों और बारातघरों की सेवाएं लेने की अभी कोई योजना नहीं है। कुछ लोगों को लगता है कि अगर वे मास्क नहीं पहनेंगे तो भी उन्हें कुछ नहीं होगा, वे गलत सोच रहे हैं, जब तक कोविड-19 रोधी टीका तैयार नहीं हो जाता, तब तक मास्क ही एकमात्र दवा है।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co