Gwalior : 230 की जांच में 6 निकले कोरोना पॉजीटिव, 13 हुई संक्रमितों की संख्या
ग्वालियर कोरोना बुलेटिनSyed Dabeer Hussain - RE

Gwalior : 230 की जांच में 6 निकले कोरोना पॉजीटिव, 13 हुई संक्रमितों की संख्या

शहर में लगातार बढ़ रहा कोरोना, सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का पालन नहीं। अधिकारी भोपाल से आने वाले आदेश का कर रहे इंतजार। बुधवार को मात्र 230 मरीजों की जांच में 6 की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। कोरोना की चौथी लहर धीरे-धीरे अपने पांव पसार रही है। पिछले एक सप्ताह में पॉजीटिव आने वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बुधवार को मात्र 230 मरीजों की जांच में 6 की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। इन्हें मिलाकर वर्तमान में कोरोना पॉजीटिव मरीजों की संख्या 13 पहुंच गई है। जिला प्रशासन ने कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और मास्क पर सख्ती शुरू नहीं की है। अधिकारी भोपाल से आने वाले आदेशों का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि अभी गंभीर मरीज सामने नहीं आए हैं इसलिए और ढील बरती जा रही है।

शहर में एक बार फिर कोविड-19 (कोरोना) का संक्रमण बढ़ने लगा है। स्वास्थ्य विभाग संसाधनों की कमी के चलते मरीजों के सैंपल भी नहीं ले पा रहा है जिससे पॉजीटिव मरीजों की सही स्थिति सामने नहीं आ पा रही है। स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन 200 से 300 मरीजों के सैंपलों की ही जांच कर रहा है। बुधवार को 230 मरीजों की जांच की गई जिसमें 6 मरीज पॉजीटिव आए हैं। इन्हें मिलाकर कुल पॉजीटिव मरीजों की संख्या 13 हो गई है। डॉक्टरों के अनुसार मरीजों की हालत स्थिर है। जिस तरह कम सैंपलों की जांच में अधिक मरीज सामने आ रहे हैं यह चिंता का विषय है। अगर स्वास्थ्य विभाग 2000 सैंपलों की जांच करता है तो कितने पॉजीटिव मरीज सामने आयंगे यह स्वयं समझा जा सकता है। यही वजह है कि जिला प्रशासन को संक्रमण बढ़ने से पहले बाजारों में उमड़ने वाली भीड़ पर सख्ती करना शुरू कर देना चाहिए।

बुधवार को भेजे मात्र 195 सैंपल :

स्वास्थ्य विभाग के पास न तो अतिरिक्त स्टाफ है और न हीं सैंपल लेने के अतिरिक्त संसाधन हैं। यही वजह है कि सैंपलों की संख्या बहुत कम रह रही है। मंगलवार को 230 मरीजों के सैंपलों की जांच हुई वहीं बुधवार को मात्र 195 संदिग्ध मरीजों की सैंपल जांच के लिए भेजे गए। सैंपलों की संख्या बढ़ाने के लिए अतिरिक्त संसाधन मुहैया कराने की आवश्यकता है। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी शासन को पत्र लिख चुके हैं लेकिन अब तक संसाधन नहीं बढ़े हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.