इंदौर कोरोना बुलेटिन : इंदौर में नए 265 पाजिटिव केस, 5 मौत भी
इंदौर, मध्य प्रदेश : सुकलिया क्षेत्र बना कोविड का नया हाट स्पॉट, 17 नए क्षेत्रों में पहुंचा कोरोना संक्रमण।
इंदौर कोरोना बुलेटिन : इंदौर में नए 265 पाजिटिव केस, 5 मौत भी
इंदौर कोरोना बुलेटिनRaj Express

इंदौर, मध्य प्रदेश। शनिवार रात को हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक 2577 टेस्ट में 265 पाजिटिव रिपोर्ट आई है। कुल संख्या 12720 हो गई है। वहीं 5 मौत के साथ आंकड़ा बढ़कर 389 हो गया है। 159 मरीज डिस्चार्ज हुए, कुल 8847 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं।

शनिवार सुबह जारी क्षेत्रवार सूची के मुताबिक कोरोना संक्रमण 17 नए क्षेत्रों में पहुंच गया है। यह क्षेत्र हैं मेदांता हॉस्पिटल, बेस्थी कालोनी, भंडारी कोठी, गंगाधाम, बृजनारायण कालोनी, माता गली हरसौला, मांग मोहल्ला कोदरिया, विनायक विला एचआईजी, प्रीमियम पार्क सांवेर रोड, पाराग नगर, रानी सती गेट, ग्राम जलोदियाज्ञान, साद कालोनी में एक-एक संक्रमित मिले हैं। कृषिपुरा में 4 और श्रीमार्ग बापना मार्ग में 5 पॉजिटिव केस सामने आए हैं।

पुराने क्षेत्रों में सुकलिया क्षेत्र लगातार हॉट स्पाट बना हुआ है। सुकलिया के लवकुश, गौरी नगर, वीना नगर में 10 पाजिटिव केस सामने आए हैं। सुकलिया से प्रतिदिन पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं। राज नेस्ट अपार्टमेंट से 9, परदेसीपुरा, हरिजन कालोनी, राजमोहल्ला और रानी बाग से 8-8 केस पाजिटिव मिले हैं। सुदमा नगर, महालक्ष्मी नगर से 7-7, मालगंज, एमजी रोड, साकेत नगर से 5-5 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसी प्रकार श्रृंगरिला तलावली चांदा, आराधना नगर 4-4, बैराठी कालोनी, गुमाश्ता नगर, उषा नगर, लुनियापुरा, बीसीएम पैराडइस निपानिया, सुखदेव नगर, ग्रैटर बृजेश्वरी, स्किम नंबर 54, चित्रा नगर से 3-3 पाजिटिव मरीज मिले हैं। वहीं अन्य क्षेत्रों में इक्का-दुक्का पाजिटिव मरीज मिले हैं। इस प्रकार कुल 127 क्षेत्रों में 252 नए पॉजिटिव मरीज मिले हैं।

सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में बरती जाएगी सावधानी :

एमटीएच अस्पताल में जिस प्रकार से ताबड़तोड़ कोविड केयर सेंटर शुरू कर इलाज शुरू किया गया, तो अनिमितताएं सामने आने लगी। लगातार शिकायतें सामने आ रही हैं, इसके बाद भी यहां व्यवस्थाएं सुधरने का नाम नहीं ले रही हैं। इस प्रकार की अव्यवस्थाएं शुक्रवार से लोकार्पित हुए सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में न फैलें, इसको लेकर प्रबंधन सतर्क हो गया है। यहां जो स्टाफ तैनात किया गया है, वह ज्यादा अनुभवी नहीं है, इस कारण दिक्कतें आ सकती हैं। यहां पर आयुष चिकित्सकों की भी नियुक्तियां एनआरएचएम के माध्यम से की गई हैं। एमजीएम मेडिकल कॉलेज के अनुभवी चिकित्सकों के मार्गदर्शन में यहां की व्यवस्थाएं रहेंगी। जब सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल को कोविड केयर सेंटर बनाया जाना तय हुआ था, तब इसकी जिम्मेदारी एमवायएच अधीक्षक डॉ. पीएस ठाकुर को सौंपी थी। उनकी देखरेख में स्टाफ को ट्रेंड किया गया था, लेकिन अस्पताल शुरू होने के ठीक पहले इसकी जिम्मेदारी एमटीएच नोडल अधिकारी डॉ. सुमित शुक्ला को देते हुए अधीक्षक बना दिया गया है। इसलिए शुरुआत में तालमेल बैठाने में यहां दिक्कतों का सामना हो सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co