इंदौर कोरोना बुलेटिन
इंदौर कोरोना बुलेटिन|Raj Express
कोरोना वायरस

इंदौर कोरोना बुलेटिन : इंदौर में 287 पॉजिविट, 5 लोगों की कोरोना से मौत

इंदौर, मध्य प्रदेश : तमाम कोशिशों के बाद भी इंदौर में संक्रमण कम नहीं हो रहा है। राजनीतिक आयोजन के कारण लोग बेखौफ हो चले हैं।

Mumtaz Khan

इंदौर, मध्य प्रदेश। मंगलवार रात को जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक 2550 टेस्ट में 287 पॉजिटिव केस सामने आए। कुल पॉजिटिव का आंकड़ा बढ़कर 15452 हो गया है। 5 मौतों की पुष्टि हुई है, अब तक 432 मरीजों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को 220 मरीज डिस्चार्ज हुए, अब तक 10719 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। संक्रमित होने वालों में एक जज और एक वकील भी शामिल है।

तमाम कोशिशों के बाद भी इंदौर में संक्रमण कम नहीं हो रहा है। राजनीतिक आयोजन के कारण लोग बेखौफ हो चले हैं। इस कारण न मास्क का इस्तेमाल कर रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेनेंट कर रहे हैं। यही कारण है कि तेजी से नए क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण फैल रहा है। मंगलवार सुबह जारी क्षेत्रवार सूची के मुताबिक 14 नए क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण ने दस्तक दी है। यह क्षेत्र हैं सतीश नगर, सिकंदराबाद कालोनी, ब्रह्मपुरी कालोनी, ग्राम सांदी, रेखा नगर, ग्राम चिमनखेड़ी, एमराल्ड सिटी, आईटीआई, सोनबाग कालोनी, आनंद नगर महू, शालीमार सोयम, आकाश नगर, तिरुपति पैलेस निपानिया और ग्राम खाती पिपलिया।

202 क्षेत्र में 314 नए पॉजिटिव केस मिले :

इसी प्रकार शहर में 202 क्षेत्र में 314 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। बिचौली मर्दना, कडाबीन मोहल्ला, वैशाली नगर, मल्हारगंज में 6-6 पॉजिटिव केस मिले हैं। सुदामा नगर, स्कीम नं. 103 केसरबाग रोड, गोपाल बाग माणिक बाग रोड, शेषाद्री कालोनी में 4-4 पॉजिटिव केस मिले हैं। इसी प्रकार कलंदी मिड टाउन, हरिओम नगर, श्रद्ध्रानंद मार्ग, हुकुमचंद मार्ग, मालवा मिल, उषा नगर एक्सटेंशन, गुमाश्ता नगर में 3-3 पॉजिटिव केस सामने आए हैं।

अभी भी है, वक्त संभल जाए :

तेजी से बढ़ते पॉजिटिव मरीजों के साथ ही अस्पतालों में उपलब्ध बिस्तर कम पड़ने लगे हैं। वर्तमान में जो पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं, उनमें से 60- 70 प्रतिशत के करीब ऐसे हैं, जिन्हें आक्सीजन, आईसीयू की जरूरत नहीं पड़ रही है, इन्हें घरों में रखकर इलाज किया जा सकता है। आने वाले दिनों में इसी तरह मरीज बढ़ते रहे, तो अस्पतालों में मरीजों के लिए बिस्तर ही उपलब्ध होना मुश्किल होगा। वर्तमान में कुल 3 हजार 536 बिस्तरों में से 2 हजार 314 बिस्तर भरे हुए हैं। इसमें दोनों सरकारी अस्पताल के आईसीयू बेड फुल चल रहे हैं। निजी अस्पताल में भी जो सितारा अस्पताल कहलाते हैं, उनमें भी आईसीयू में जगह मुश्किल से मिल रही है। अन्य निजी अस्पतालों के बिस्तर खाली हैं, क्योंकि यहां काफी महंगा इलाज है। कुल आईसीयू के 520 बेड में से 350 भरे हुए हैं। आक्सीजन के 1900 बिस्तरों में से करीब 1300 से भरे हुए हैं। वहीं जनरल आइसोलेशन के 170 बिस्तरों में से 125 के करीब भरे हुए हैं। वहीं 1500 से अधिक पॉजिटिव को होम क्वारेंटाइन किया हुआ है। जो मरीज आईसीयू में भर्ती हैं, उनकी हालत गंभीर है, इस कारण मौतों का आंकड़ा पिछले कुछ दिनों में तेजी से बढ़ा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co