भोपाल : प्रदेश में 100 जांच में 11 कोरोना संक्रमित निकल रहे
प्रदेश में 100 जांच में 11 कोरोना संक्रमित निकल रहेSyed Dabeer-RE

भोपाल : प्रदेश में 100 जांच में 11 कोरोना संक्रमित निकल रहे

भोपाल, मध्यप्रदेश : प्रदेश में सभी जिलों में मिलाकर 3722 मरीज मिले हैं। 18 मरीजों की मौत भी हुई है। 33493 सैंपल की जांच में इतने मरीज मिले हैं। इस तरह संक्रमण दर 11 फीसद रही।

हाइलाइट्स :

  • बेकाबू कोरोना पर नहीं लग पा रही लगाम

  • भोपाल में 600 तो, मध्य प्रदेश में मिले 3722 नए कोरोना मरीज

  • मध्य प्रदेश कोरोना संक्रमण के मामले में देश में सातवें स्थान पर

भोपाल, मध्यप्रदेश। राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। अब तो 500 के पार कोरोना मरीज मिलने लगे है। जबकि कोरोना संक्रमण रोकने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अभियान शुरू कर दिया है सड़क से लेकर बैठको तक में मास्क लगाने की अपील की जा रही है। फिर भी मध्य प्रदेश में कोरोना का संक्रमण बेकाबू हो चुका है। प्रदेश में सभी जिलों में मिलाकर 3722 मरीज मिले हैं। 18 मरीजों की मौत भी हुई है। 33493 सैंपल की जांच में इतने मरीज मिले हैं। इस तरह संक्रमण दर 11 फीसद रही। करीब 1 महीने में रोजाना की संक्रमण दर 3 फीसद से लगातार बढ़कर 11 फीसद पर पहुंच गई है। इसका मतलब यह है कि 100 सैंपल की जांच की जा रही है तो उनमें 11 पॉजिटिव मिल रहे हैं। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के हालात बेहद गंभीर हैं। कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने से यह स्थिति बनी है। कोरोना से बचाव के लिए लगने वाले टीकों की संख्या में कमी नहीं है, लेकिन लोगों का अपेक्षित सहयोग अभी भी नहीं मिल रहा है। लोगों को जागरूक करने के लिए राज्य सरकार ने कोरोना की स्थिति को लेकर आंकड़े जारी किए हैं। इनके मुताबिक, प्रदेश कोरोना संक्रमण के मामले में देश में सातवें स्थान पर है।

52 में से 41 जिलों में 20 से अधिक संक्रमित मिलने लगे :

मध्य प्रदेश में कोरोना खतरनाक होता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 3,722 नए केस मिले हैं और 18 लोगों की जान चली गई। पॉजिटिविटी रेट 11.11 फीसदी तक पहुंंच गया है। प्रदेश के 52 में से 41 जिलों में 20 से अधिक संक्रमित मिलने लगे हैं। एक्टिव केस का आंकड़ा 24 हजार के पार हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों का कहना है कि संक्रमण दर पांच प्रतिशत से ज्यादा नहीं होना चाहिए, लेकिन प्रदेश में यह पिछले 7 दिनों में 10 प्रतिशत पार कर गई है। जनवरी में पॉजिटिविटी रेट गिरकर एक प्रतिशत तक आ गया था। फरवरी के महीने में यह तीन से चार प्रतिशत के बीच रहा, लेकिन मार्च में इसकी रफ्तार बढ़ी और अप्रैल माह में यह 10 प्रतिशत से ज्यादा हो गया और केस पांच गुना तक बढ़ गए।

होली के बाद संक्रमण तेजी से फैला है, जबकि उससे एक दिन पहले यानी 28 मार्च को रविवार का लॉकडाउन रहा था। इसके बाद से कोरोना की रफ्तार बेलगाम होती जा रही है। पिछले सात दिन में प्रदेश में 20,792 संक्रमित मिले हैं, जबकि इस दौरान एक्टिव केस 7,059 बढ़ गए। हालांकि वर्तमान में 60 प्रतिशत से ज्यादा मरीज होम आईसोलेशन में हैं।

पिछले सात दिन के भीतर प्रदेश में कोविड से 96 मरीजों की मौत हुई हैं। इनमें सोमवार को हुईं 18 मौतें भी शामिल हैं। इस तरह मृतकों की संख्‍या कुल संख्या 4,073 पहुंच गई है। प्रदेश में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्‍या 3.13 लाख हो गई है।

भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में हालात बेकाबू :

सबसे ज्यादा हालात भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर के खराब होते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में इंदौर में 805, भोपाल में 600 , जबलपुर में 257 और ग्वालियर में 160 संक्रमित मिले हैं। चारों महानगरों के अलावा प्रदेश 41 जिले ऐसे हैं, जहां अब रोजाना 20 से अधिक केस मिलने शुरू हो गए हैं। नरसिंहपुर में 90, रतलाम में 95, खरगोन में 79, उज्जैन में 74 और उमरिया में 63 केस मिले हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co