इंदौर : एक दर्जन पुलिस टीम भू माफियाओं के ठिकाने पर पहुंची
एक दर्जन पुलिस टीम भू माफियाओं के ठिकाने पर पहुंचीRaj Express

इंदौर : एक दर्जन पुलिस टीम भू माफियाओं के ठिकाने पर पहुंची

इंदौर, मध्य प्रदेश : प्रदेश सरकार के निर्देश पर माफियाओं के खिलाफ अभियान चल रहा है। शहर में बड़े भू माफिया शासन के निशाने पर थे।

हाइलाइट्स :

  • रात एक बजे डीआईजी ने दिए निर्देश

  • दस दिन से चल रही थी तैयारी, बड़े भूमाफिया फरार

इंदौर, मध्य प्रदेश। प्रदेश सरकार के निर्देश पर माफियाओं के खिलाफ अभियान चल रहा है। शहर में बड़े भू माफिया शासन के निशाने पर थे। करीब दस दिन से इनके खिलाफ दस्तावेज एकत्र कर कार्रवाई की तैयारी चल रही थी। बुधवार गुरुवार रात डीआईजी के निर्देश पर 200 से ज्यादा जवानों-अधिकारियों की करीब दर्जनभर टीम ने दबिश दी। कार्रवाई के दौरान शहर के अलग-अलग थाना क्षेत्रों से ऐसे भूमाफियाओं को दबोचा गया है जो कि संस्था के नाम पर गरीबों को भूखंड देते थे, फिर उनका रुपया डकार जाते थे।

प्रशासन को लंबे समय से शिकायत मिल रही थी कि देवी अहिल्या श्रमिक कामगार गृह निर्माण सहकारी संस्था के कई सदस्य रजिस्ट्री के बाद भी अपनी जमीन का मालिकाना हक अब तक नहीं मिला है। जिसमें लगातार शिकायत के बाद लगभग देर रात 2 बजे अलग-अलग जगह छापामार कार्रवाई की और कई माफिया को हिरासत में लिया गया। डीआईजी मनीष कपूरिया के अनुसार खजराना थाना क्षेत्र में पुलिस के दल ने मनीषपुरी, विजयनगर, बिचौली, पलसीकर कॉलोनी में छापामार कार्रवाई की। इस दौरान सीेसपी, थाना प्रभारी सहित अन्य बल भी मौजूद था। एमआईजी टीआई विनोद दीक्षित की टीम ने मुकेश खत्री को विनयनगर से हिरासत में लिया है। एक अन्य टीम हैप्पी धवन के साकेत नगर के समीप स्थित निवास पर पहुंची थी।

संस्था की जमीन दूसरे को बेच दी :

देवी अहिल्या श्रमिक कामगार गृह निर्माण सहकारी संस्था के पदाधिकारियों द्वारा प्रेस काम्पलेक्स के पीछे अयोध्यापुरी कॉलोनी काटी गई थी, जिसमें 306 सदस्य हैं। इसमें अधिकांश को प्लाट मिल चुके हैं। 2006 में संस्था के रणवीर सिंह सूदन ने इस संस्था की जमीन में से 5 एकड़ अन्य कंपनी को बेच दी थी। इस कंपनी के डायरेक्टर दीपक जैन माद्दा एक अन्य मामले में हीना पैलेस कालोनी की जमीन को चार करोड़ में दूसरे ग्रुप में बेच दिया गया था, लेकिन जांच में पैसा संस्था में कोई हिसाब नहीं मिला। इसे लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था।

इन पर हुए प्रकरण दर्ज :

प्रशासन के निर्देश पर दो थानों में 6 एफआईआर दर्ज की गई है, जिनमें 2 एमआईजी और 4 खजराना थाने में है। पुष्प विहार और अहिल्यापुरी कालोनी के धांधली के मामले में सुरेन्द्र संघवी, प्रतीक संघवी, दिलीप जैन, दीपक सिसोदिया उर्फ दीपक मद्दा, पुष्पेंद्र नीमा जैसे जमीन माफियाओ के खि़लाफ एमआईजी थाने में प्रकरण दर्ज हुआ। पुष्प विहार मामले में दिलीप सिसोदिया उर्फ दीपक जैन , दिपेश वोरा, कमलेश जैन, नसीम हैदर, केशव नचानी,ओमप्रकाश धनवानी के खिलाफ प्रकरण दर्ज हुआ। वहीं अयोध्यापुरी में सुरेंद्र संघवी, प्रतीक संघवी सहित दिलीप सिसोदिया, विमल लोहाड़िया पुष्पेंद्र नेमा, रणवीर सूदन, दिलीप जैन मुकेश खत्री के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज हुए हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co