अनूपपुर : आरईएस के अधिकारी और कर्मचारी को 8 साल का कारावास
आरईएस के अधिकारी और कर्मचारी को 8 साल का कारावासShrisitaram Patel

अनूपपुर : आरईएस के अधिकारी और कर्मचारी को 8 साल का कारावास

अनूपपुर, मध्य प्रदेश : अलग अलग धाराओं 4-4 वर्ष का कारावास और 10-10 हजार जुर्माना। रिश्वत लेने के मामले में हुई थी कार्यवाही, मामला वर्ष 2015 का।

अनूपपुर, मध्य प्रदेश। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग में हुए रिश्वतकांड मामले में विशेष न्यायाधीश (भ्रष्टाचार अधियनियम) के न्यायालय के द्वारा विशेष प्रकरण की सुनवाई पूरी करते हुए 30 जनवरी को निर्णय सुनाते हुए प्रकरण के पहले आरोपी पूर्व में पदस्थ अनूपपुर कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिक सेवा लक्ष्मी प्रसाद मिश्रा पिता स्व राममिलन मिश्रा उम्र 45 वर्ष निवासी सुभाष नगर पुलिस लाइन शहडोल के साथ दूसरा आरोपी सहायक वर्ग 2 ग्रामीण यांत्रिक सेवा विभाग अनूपपुर बुद्धसेन कुम्हार पिता भूरेलाल कुम्हार उम्र 58 वर्ष निवासी रेलवे फाटक के पास अमलाई को रिश्वत लेने के आरोप में भ्रष्टाचार अधिनियम की धारा 7 और 13 का दोषी पाते हुए प्रत्येक धाराओं में क्रमश: चार-चार वर्ष की कारावास और 10-10 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित करने का आदेश पारित किया है, जिसमें दोनोँ आरोपी जेल की समायें क्रमश: एक के समाप्त होने पर दूसरा प्रारंभ होगा।

दस्तावेज पूर्ण करने मांगी थी रिश्वत :

मामला लोकायुक्त थाना भोपाल, रीवा के अपराध क्रमांक 216/15 का है, आरोपीगणों पर भ्रष्टाचार एक्ट की धारा 7, 13, के तहत यह आरोप था कि उन्होंने 17 मई 2015 से 25 मई 2015 की अवधि के बीच कार्यालय ग्रामीण यांत्रिक सेवा विभाग अनुपपुर में आरोपी गण क्रमश: कार्यपालन यंत्री और सहायक वर्ग 2 के पद पर लोकसेवक के पद पर पदस्थ रहते हुए देवकांत करवरिया से शासकीय मत्स्य बीज प्रेक्षेत्र ग्राम कोहका में पांच पोखरों के किये गए निर्माण कार्य के संबंध में कार्य आदेश एवं बिल भुगतान करने व उक्त संबंध में दस्तावेज तैयार कर सक्षम अधिकारी के पास प्रस्तुत करने के एवज में दोनों आरोपीगणों ने मिलकर आरोपी एलपी मिश्रा ने शिकायत कर्ता से पचास हजार रूपये रिश्वत की मांग की और आरोपी अकाउंटेंट बुद्धसेन कहार ने अपने भाग का कार्य करने के लिए फरियादी से चार हजार पांच सौ रुपये रिश्वत की मांग की थी।

लोकायुक्त ने की थी कार्यवाही :

फरियादी देवकांत करवरिया जो उस समय संकल्प कंस्ट्रक्शन सतना की कंपनी के पेटी कांट्रेक्टर के रूप में ग्राम कोहका में कार्य कर रहे थे, फरियादी के द्वारा 17 मई 2015 को इस घटना की लोकायुक्त रीवा में शिकायत की गयी थी, लोकायुक्त टीम रीवा ने 25 मई 2015 को ट्रेप कार्यवाही कर आरोपीगणों को ग्रामीण यांत्रिक सेवा विभाग से रंगे हाथ पकड़ा था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co