Anuppur : सौदा की गई 14 वर्षीय नाबालिग को कोतवाली पुलिस ने कराया मुक्त

अनूपपुर, मध्यप्रदेश : पुलिस ने मानव दुर्व्यापार के अर्न्तराज्यीय गिरोह का किया पर्दाफाश। शादी का प्रलोभन देकर सौदा की गई 14 वर्षीय नाबालिग बालिका को कराया मुक्त।
Anuppur : सौदा की गई 14 वर्षीय नाबालिग को कोतवाली पुलिस ने कराया मुक्त
सौदा की गई 14 वर्षीय नाबालिग को कोतवाली पुलिस ने कराया मुक्तसांकेतिक चित्र

अनूपपुर, मध्यप्रदेश। पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल को सूचना प्राप्त हुई कि कुछ लोग नाबालिग लडकी को लेकर संदिग्ध हालत में थाना कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत ग्राम पसला में पाये जा रहे है। सूचना पर एसपी के द्वारा सम्पूर्ण घटनाक्रम की जानकारी लेते हुए कोतवाली पुलिस को कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। कार्यवाही हेतु गठित टीम के द्वारा 10 अक्टूबर की रात्रि 10 बजे ननका ढाबा ग्राम पसला पहुॅच कर प्राप्त जानकारी के अनुसार व्यक्तियों को चिन्हित किया गया तो वहां अंकित जयसवाल ढाबा संचालक उम्र 38 वर्ष से पूछने पर यह ज्ञात हुआ कि बालिका रिंकू उम्र 14 वर्ष (परिवर्तित नाम) को कुछ व्यक्तियों के द्वारा शादी का प्रलोभन देकर दुर्व्यापार हेतु ले जाया जा रहा है।

पुलिस द्वारा की गई घेराबंदी :
कोतवाली पुलिस द्वारा घेराबंदी कर आरोपियों की सघन तलाश शुरु करने पर कैलाश चन्द्र सैनी, नौरुनलाल, राजेन्द्र सैनी निवासी ग्राम बबई झुंझुंनू राजस्थान एवं विष्णु करण निवासी ग्राम इन्दगढ जिला दतिया को पुलिस टीम के द्वारा हिरासत में लेते हुए पूछताछ प्रारम्भ की गयी। पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल के द्वारा घटना के संबंध में समीक्षा करते हुए बिन्दुवार कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। टीम के द्वारा पूछताछ के दौरान यह ज्ञात हुआ कि इनके द्वारा मूलचन्द्र जो जिला दतिया का निवासी है, के माध्यम से पीडिता रिंकू (परिवर्तित नाम) के पिता सतीष सारथी निवासी समोली जिला सूरजपुर छ.ग. के द्वारा शादी के नाम पर 2.5 लाख रुपये में सौदा किया गया था।

जा रहे थे लेकर झुंझुनू राजस्थान :
उक्त सौदे में पीडिता रिंकू (परिवर्तित नाम) के पिता सतीष सारथी निवासी समोली जिला सूरजपुर छ.ग. की भी आपराधिक भूमिका थी, जिसके द्वारा पैसों की एवज में अपनी बेटी का सौदा किया गया। घटना में ग्राम समौली जिला सूरजपुर का एक एजेन्ट भी सम्मिलित है। जिसके माध्यम से पैसों का लेन देन किया गया था। जिसकी तलाश पुलिस टीम के द्वारा की जा रही है। पूछताछ में यह भी बताया गया कि वो ग्राम सिंदली से आर्टिका वाहन से 09 व्यक्ति ग्राम समौली जिला सूरजपुर आये थे। जिसमें मूलचन्द्र, राजू, नरेष, चन्द्रभान और भवरलाल सौदे के उपरांत चले गये। सम्पूर्ण घटनाक्रम के आधार पर थाना कोतावली में अपराध क्र0 483/21 धारा 363, 366ए, 370 भदवि. का प्ररकण पंजीबद्ध किया गया है। प्रकरण में आरोपी कैलाश सैनी, नौरुल सेनी, राजेन्द्र सेनी निवासी सिंघली, वाहन का ड्राईवर विष्णु करण तथा पीडिता के पिता सतीष सारथी को पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन्हे माननीय न्यायालय में प्रस्तुत कर पुलिस रिमाण्ड प्राप्त करते हुए पूछताछ की जाएगी। आरोपियों से सौदेबाजी के 98,000/-रुपये भी जप्त किये गए है।

प्रकरण में 10 आरोपी बनाये गए :
इस पूरे घटनाक्रम में 05 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, शेष 05 आरोपियों के लिए टीम गठित कर गिरफ्तारी के प्रयास किया जा रहा है। यह एक अनैतिक दुर्व्यापार का अन्तर्राज्यीय गिरोह है जो शादी/अन्य कृत्यों का प्रलोभन देकर लड़कियों का सौदा करता था। जिनके तार छ.ग., राजस्थान एवं म.प्र. के जिला ग्वालियर, दतिया से जुड़े हैं। पुलिस अधीक्षक द्वारा फरार आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु एक टीम गठित की गई है एवं फरार आरोपियों पर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। टीम अनुसंधान की वैज्ञानिक पद्धति का सहारा लेते हुए फरार आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करेगी। पुलिस की इस कार्यवाही एवं आगामी अनुसंधान के द्वारा अनैतिक दुर्व्यापार के चंगुल में फँसी अनेक बालिकाओं को मुक्त कराया जा सकेगा। सम्पूर्ण कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल के निर्देशन, अति.पुलिस. अधीक्षक अभिषेक राजन के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी कोतवाली अमर वर्मा, उनि. सोनम सोनी, उनि.प्रवीण साहू, सउनि.सुरेश अहिरवार की प्रमुख भूमिका रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.