Bhopal : पांच सौ रुपए की उधारी नहीं देने से नाराज होकर दोस्त ने की थी हम्माल की हत्या
हम्माल की हत्या का आरोपी गिरफ्तारसांकेतिक चित्र

Bhopal : पांच सौ रुपए की उधारी नहीं देने से नाराज होकर दोस्त ने की थी हम्माल की हत्या

भोपाल, मध्यप्रदेश : गुनगा इलाके में ग्राम रतुआ स्थित मुर्गे की दुकान में हुए सनसनीखेज हत्याकांड का पुलिस ने 24 घंटे में खुलासा कर दिया है। वारदात को मृतक के दोस्त ने अंजाम दिया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। गुनगा इलाके में ग्राम रतुआ स्थित मुर्गे की दुकान में हुए सनसनीखेज हत्याकांड का पुलिस ने 24 घंटे में खुलासा कर दिया है। वारदात को मृतक के दोस्त ने अंजाम दिया है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि मृतक उससे उधार लिए पांच सौ रुपए नहीं चुका रहा था। इसी बात को लेकर हुई बहसबाजी के बाद पहले दोस्त के सीने में चाकू घोंपे, बड़े पत्थर से सिर में दो वार किए। इसके बाद वह पैदल मौके से फरार हो गया था। हत्या में इस्तेमाल पत्थर को पुलिस ने घटना स्थल के पीछे से बरामद किया है। जबकि चाकू और खून से सने कपड़ों को आरोपी ने घर में छिपा रखा था। आरोपी को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

टीआई रमेश राय के अनुसार मृतक 40 वर्षीय श्यामलाल अहिरवार पिता गंगाराम अहिरवार, ग्राम सागौनी जौरा में रहता था। वह हम्माली करता था। खाने-पीने का शौकीन था। वर्तमान में ट्राले से भूसा उतारने का काम कर रहा था। ट्राले से भूसा उतारने रतुआ ग्राम तक जाता था। रात को लेट होने पर रतुआ में ही राजू अहिरवार की राजू अहिरवार की चिकन की दुकान पर सोने के लिए रूक जाता था। गत दिवस शुक्रवार की रात को श्यामलाल भूसा उतारने के लिए रतुआ गांव में गया था। रात के नौ बजे थे। गांव में लौटने का साधन नहीं होने पर वह राजू अहिरवार की दुकान पर सोने के लिए रुक गया। अगले दिन शनिवार की सुबह ट्राले का मालिक सागौनी में श्यामलाल को लेने गया। यहां पता चला कि वह रात को रतुआ गांव से लौटा ही नहीं है। ट्राले का मालिक रतुआ पहुंचा। यहां एक अन्य कर्मचारी को राजू की दुकान में श्यामलाल को देखने के लिए भेजा। कर्मचारी ने जैसे ही श्यामलाल के सिर से चादर हटाया, तो वह खून से लथपथ पड़ा हुआ था। सिर पर चोट के निशान थे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा बनाकर हमीदिया पीएम के लिए भिजवा दिया।

हम्माल की हत्या का आरोपी गिरफ्तार
हम्माल की चाकू से गोदकर हत्या, दुकान में चादर से ढका हुआ मिला शव

बहसबाजी के बाद की गई हत्या :

हत्या के बाद में पुलिस ने मुखबिरों को सक्रिय किया था। शनिवार की देर रात पुलिस को सूचना मिली की मृतक श्यामलाल का दोस्त जालम नाथ (25) निवासी सकुलिया गांव गुनगा को आखरी बार श्यामलाल के साथ देखा गया था। वारदात के बाद जालम तेजी से गांव की ओर जाते दिखा था। लिहाजा पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और पूछताछ की। तब आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसे श्यामलाल से पांच सौ रुपए की उधारी लेना थी। रकम को लौटाने में श्यामलाल आनाकानी करता था। उसे धमकाता था, इसी बात को लेकर दोनों के बीच घटना की रात को विवाद हुआ। इस दौरान वह नशे में था, श्यामलाल ने भी पी रखी थी। नशे की हालत में जालम ने पहले श्यामलाल के सीने में तीन से चार वार किए। इसके बाद में एक बड़े पत्थर से उसके सिर को कुचल दिया। पत्थर को दुकान के पीछे फैंका। चाकू और खून से सने कपड़ों अपने गांव स्थित घर में छिपाए। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल चाकू पत्थर और खून से सने कपड़ों को जब्त कर लिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co