पॉश कॉलोनी पंचवटी से जुड़े मामले की अहम खबर, मामला पहुंचा जबलपुर हाइकोर्ट
पॉश कॉलोनी पंचवटी का मामला पहुंचा जबलपुर हाइकोर्ट Syed Dabeer Hussain - RE

पॉश कॉलोनी पंचवटी से जुड़े मामले की अहम खबर, मामला पहुंचा जबलपुर हाइकोर्ट

भोपाल, मध्यप्रदेश: 20 करोड़ का फर्जीवाड़े वाले मामले में हाईकोर्ट से रमाकांत विजयवर्गीय की पत्नी अर्चना विजयवर्गीय को जमानत मिली है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। नए साल की शुरूआत में जहां कई क्षेत्रों में सुरक्षा के नियमों के साथ कामकाज शुरू हो गए है वहीं दूसरी तरफ कई मामलों पर कार्यवाहियों का दौर जारी है। जहां भोपाल की पॉश कॉलोनी पंचवटी से जुड़े मामले की अहम खबर सामने आई है। जहां 200 लोगों से 20 करोड़ का फर्जीवाड़े वाला मामला जबलपुर हाइकोर्ट पहुंच गया है। जिस मामले में हाईकोर्ट से रमाकांत विजयवर्गीय की पत्नी अर्चना विजयवर्गीय को जमानत मिली है।

जबलपुर हाइकोर्ट ने दी अग्रिम जमानत

इस संबंध में मामले को लेकर बताते चलें कि, हाईकोर्ट ने अर्चना विजयवर्गीय को 50 हजार के मुचलके पर अग्रिम जमानत दी है। जहां अर्चना विजयवर्गीय की ओर से अधिवक्ता अंकित सक्सेना ने पैरवी की है। बताते चलें कि, अर्चना के पति रमाकांत विजयवर्गीय जेल में बंद हैं।

कैसे हुई पंचवटी फेस 3 में धोखाधड़ी

इस संबंध में बताते चलें कि, मामले के तहत पंचवटी फेस 1 व 2 में रमाकांत विजयवर्गीय को अच्छा रिस्पांस मिला। इसके चलते उसने पंचवटी फेस 3 के लिए लगी हुई जमीन के मालिक किसान महाराज सिंह से 2006 में 2.5 एकड़ जमीन पांच करोड़ रुपए में खरीदने का एग्रीमेंट कर लिया। रमाकांत ने महाराज सिंह को एक करोड़ 25 लाख रुपए एडवांस दे दिया। इसके बाद रमाकांत ने पंचवटी प्रस्तावित फेस 3 के लिए प्लाट के बदले लोगों से एडवांस लेना भी शुरू कर दिया। इसी बीच किसान महाराज सिंह ने उस जमीन का सौदा दो अन्य लोग सुशांत चटर्जी और अशफाक खान से भी कर लिया। बस यही से विवाद शुरू हुआ और मामला अदालत पहुंचा गया। इसके साथ ही पंचवटी फेस 3 का काम भी शुरू नहीं हो सका।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co