जूनियर डॉक्टर ने इंजेक्शन से बेहोशी का ओवरडोज लगाकर की आत्महत्या
जूनियर डॉक्टर ने इंजेक्शन से बेहोशी का ओवरडोज लगाकर की आत्महत्यासांकेतिक चित्र

Bhopal : जूनियर डॉक्टर ने इंजेक्शन से बेहोशी का ओवरडोज लगाकर की आत्महत्या

भोपाल, मध्यप्रदेश : पुलिस को मेडिकल छात्रा के कमरे से एक पेज का सुसाइड नोट मिला है। सुसाइड नोट में कहीं भी आत्महत्या के कारणों का जिक्र नहीं किया गया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। गांधी मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) के गर्ल्स हॉस्टल में बुधवार सुबह एक महिला जूनियर डॉक्टर ने इंजेक्शन से बेहोशी, नींद व पेन किलर का ओवरडोज लगाकर आत्महत्या कर ली। कोहेफिजा पुलिस को घटनास्थल से एक सुसाइड नोट भी मिला है लेकिन उसमें आत्महत्या के कारणों का जिक्र नहीं किया गया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर तफ्तीश शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि ग्वालियर से परिजनों के आने के बाद ही शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा।

पुलिस के मुताबिक मूलरूप से ग्वालियर निवासी आकांक्षा माहेश्वरी (24) यहां जीएमसी में पीडियाड्रिक (पीजी प्रथम वर्ष) की छात्रा थी और एच-ब्लाक हॉस्टल में रह रही थी। बुधवार चार जनवरी की सुबह सात बजे से उनकी ड्यूटी थी, लेकिन आकांक्षा ने दोस्तों को बताया कि तबियत ठीक नहीं है इसलिए आज ड्यूटी पर नहीं जाऊंगी। उसके बाद दिनभर आकांक्षा से कोई संपर्क नहीं हुआ। शाम को साथी उसके कमरे पर हालचाल जानने पहुंचे तो दरवाजा भीतर से बंद मिला। काफी आवाज देने व खटखटाने से भी दरवाजा नहीं खुला तो सिक्योरिटी गार्ड की मदद से दरवाजा तोड़ा गया। भीतर आकांक्षा बेसुध हालत में मिली। फौरन उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने परीक्षण के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही एफएसएल टीम के साथ पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई थी। मौके का निरीक्षण करने पर वहां एक इंजेक्शन पड़ा मिला। परीक्षण करने पर पता चला कि इंजेक्शन के माध्यम से बेहोशी, नींद व पेन किलर का ओवरडोज लिया गया है। पुलिस को मेडिकल छात्रा के कमरे से एक पेज का सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने अपने माता-पिता समेत अन्य लोगों से माफी मांगी है। सुसाइड नोट में कहीं भी आत्महत्या के कारणों का जिक्र नहीं किया गया है। पुलिस ने यह सुसाइड नोट जब्त कर जांच के लिए हैंड राइटिंग एक्सपर्ट के पास भेज दिया है। परिजनों को घटना की सूचना दे दी गई थी। परिजनों की मौजूदगी में ही शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। पुलिस का कहना है कि शार्ट पीएम रिपोर्ट आने व विस्तृत बयान दर्ज होने के बाद ही कारणों का खुलासा हो सकेगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co