Bhopal : मृत इंजीनियर रवि ठाकरे पर हत्या और हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज
मृत इंजीनियर रवि ठाकरे पर हत्या और हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्जSocial Media

Bhopal : मृत इंजीनियर रवि ठाकरे पर हत्या और हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज

होशंगाबाद रोड स्थित सहारा स्टेट में बीती 27 अगस्त की रात नाबालिग बेटा और बेटी का गला रेतने वाले इंजीनियर रवि ठाकरे के खिलाफ मिसरोद पुलिस ने हत्या व हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। होशंगाबाद रोड स्थित सहारा स्टेट में बीती 27 अगस्त की रात नाबालिग बेटा और बेटी का गला रेतने वाले इंजीनियर रवि ठाकरे के खिलाफ मिसरोद पुलिस ने हत्या व हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया है। रवि ने स्वयं भी जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। सोमवार को पत्नी के बयानों के बाद कार्रवाई की गई है। जानकारों की मानें तो इस कार्रवाई को केस का खात्मा काटने के लिए किया गया है।

रंजना ने पुलिस को यह बताया :

रंजना ने बताया कि 27 अगस्त की रात करीब 9 बजे के आसपास परिवार के सभी सदस्य ने खाना खाया था। इसके बाद बच्चों को नींद की गोली खिला दी थीं। रात करीब दो बजे के आसपास पति ने जहरीला पदार्थ पिया और उसे भी पिला दिया था। जहर पीने से उसकी हालत बिगडऩे लगी और उसे बेहोशी आने लगी। इस बीच पति ने टाइल्स कटर से बेटे का गला काट दिया था। जब रंजना की नींद खुली तो बेटी तड़प रही थी। रंजना ने यह भी बताया था कि रवि आर्थिक तंगी से परेशान हो गए थे। रंजना और रवि आर्थिक तंगी से इस तरह परेशान थे कि दोनों को इलाज की जरूरत पड़ने लगी थी। रंजना का मेंटल अस्पताल में इलाज भी चला, जबकि रवि ठाकरे भी डिप्रेशन का शिकार होने के कारण दवाइयां लेते थे।

यह है मामला :

यह है मामला शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात सहारा स्टैट स्थित गंदर्भ फेस-1 में रहने वाले सिविल इंजीनियर रवि ठाकरे ने अपनी पत्नी रंजना बघेल के साथ जहरीला पदार्थ खा लिया था। पत्नी के बेसुध होने पर पर पति ने टाइल्स कटर से पहले अपने 16 साल के बेटे चिराग की गला रेतकर हत्या की फिर 14 साल की बेटी गुंजन के गले पर कटर चलाया था। गुंजन के गले पर कटर चलाते ही बिजली गुल हो गई और गुंजन की जान बच गई। इस खूनी खेल का खुलासा अगले ही दिन सुबह करीब सात बजे हुआ। दरअसल, पत्नी सुबह सात बजे सामने रहने वाले अजय अरोरा के घर पहुंची और उसने रवि को बच्चों को बताया था कि उसने और पति ने जहर खा लिया है। उसने घर की तरफ इशारा किया था। रवि ने घटना की जानकारी पुलिस और एंबुलेंस को दी। पुलिस और एंबुलेंस मौके पर पहुंची और रंजना और बेटी गुंजन को हमीदिया अस्पताल इलाज के लिए भर्ती कराया। पुलिस ने बेडरूम में रवि और चिराग की खून से सनी लाश बरामद कर पीएम के लिए भेज दी थी। पुलिस ने घटनास्थल से एक चार पन्ने का सुसाइड नोट भी बरामद किया था। सुसाइड नोट में आर्थिक तंगी से यह आत्मघाती कदम उठाने की बात लिखी थी।

गुंजन की आंखों की गई रोशनी :

हमीदिया अस्पताल रंजना और गुंजन ठाकरे का इलाज चल रहा था। इस बीच गुंजन की आंखों में धुंधला दिखाई देने के कारण उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया। डॉक्टर का मानना है कि गले पर कटर लगने के कारण कुछ वैन डैमेज होने से गुंजन की आंखों में दिखाई नहीं दे रहा था। सोमवार को उसका एमआरआई कराया गया था। एमआरआई की रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा कि गुंजन की आंखों की रोशनी आएगी या नहीं। पुलिस ठीक होने के बाद गुंजन के भी बयान दर्ज करेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co