Bhopal : कास्मेटिक शॉप की महिला कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
कास्मेटिक शॉप की महिला कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्यासांकेतिक चित्र

Bhopal : कास्मेटिक शॉप की महिला कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

भोपाल, मध्यप्रदेश : अशोका गार्डन थाना क्षेत्र स्थित शंकर नगर में रविवार-सोमवार की दरमियानी रात 26 वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

भोपाल, मध्यप्रदेश। अशोका गार्डन थाना क्षेत्र स्थित शंकर नगर में रविवार-सोमवार की दरमियानी रात 26 वर्षीय युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस को घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है इसलिए फिलहाल कारणों का खुलासा भी नहीं हो सका है। युवती के बड़े भाई ने सोमवार सुबह पुलिस को सूचना दी थी कि उसकी बहन कमरे में है और दरवाजा नहीं खोल रही है। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर देखा तो वह फांसी के फंदे पर झूलती नजर आई। मर्ग कायम कर तफ्तीश शुरू कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि छतरपुर से माता-पिता के आने के बाद बयान दर्ज किए जाएंगे। उसके बाद कारणों का खुलासा होने की उम्मीद है। एएसआई फूल सिंह मस्कोले ने जानकारी देते हुए बताया कि मूलरूप से जिला छतरपुर निवासी रेखा अहिरवार पुत्री पहलवान अहिरवार (26) यहां शंकर नगर में रहने वाले अपने भाई दिनेश अहिरवार और भाभी के साथ रह रही थी। दिनेश जहांगीराबाद क्षेत्र स्थित होंडा कंपनी के शोरूम में काम करता है। रेखा ने बीएड तक पढ़ाई कर ली थी और वह अच्छी नौकरी की तलाश में थी। फिलहाल वह घर में सिलाई का काम करने के अलावा अशोका गार्डन में ही एक कास्मेटिक शॉप पर भी नौकरी कर रही थी। सोमवार सुबह करीब 8 बजे दिनेश ने पुलिस को कॉल कर बताया कि उसकी बहन रेखा अपने कमरे का दरवाजा नहीं खोल रही है। आवाज देने और मोबाइल पर कॉल करने पर भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। किसी तरह दरवाजा खोला गया तो भीतर रेखा अहिरवार का शव फंदे पर झूलता मिला। एएसआई मस्कोले ने बताया कि शव को देख कर लग रहा है कि रेखा ने देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

मोबाइल से पता चलेगा कि किस से बात की थी :

एएसआई मस्कोले ने बताया कि युवती का मोबाइल बरामद कर लिया गया है। मोबाइल का पैटर्न लॉक खुलने पर पता चलेगा कि युवती ने अंतिम बार किससे बात की थी। घर में किसी से विवाद अथवा अन्य संभावित बिंदुओं पर भी पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। मृतका के पर्स से करीब दस हजार रुपए नगद भी मिले हैं, इससे प्रतीत हो रहा है कि किसी प्रकार की आर्थिक समस्या नहीं थी। पुलिस को फिलहाल माता-पिता के आने का इंतजार है। माता-पिता के बयान से पता चल सकेगा कि रेखा ने उनसे किसी पेरशानी को लेकर किसी प्रकार का जिक्र किया था अथवा नहीं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.