भोपाल सुसाइड केस : एडिशनल CP बोले- शुरुआती जांच में बच्चे ने गेम के चलते आत्महत्या की
Bhopal Suicide CaseSocial Media

भोपाल सुसाइड केस : एडिशनल CP बोले- शुरुआती जांच में बच्चे ने गेम के चलते आत्महत्या की

भोपाल, मध्यप्रदेश। "फ्री फायर गेम सुसाइड मामला" एडिशनल CP सचिन अतुलकर ने कहा पुलिस की शुरुआती जांच में गेम के चलते बच्चे ने सुसाइड की है।

भोपाल, मध्यप्रदेश। ऑनलाइन गेम की लत लोगों के लिए खतरनाक होती जा रही है, मोबाइल गेम खेलने के दौरान कई बच्चे अपनी जान गवां चुके हैं। ऐसा ही एक ओर ताजा मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आया है, जहाँ ऑनलाइन गेम ने एक बच्चे की जिंदगी छीन ली।

बजरिया क्षेत्र में कक्षा पांचवी के छात्र ने लगाई फांसी :

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 11 साल के सूर्यांश ने कल दोपहर घर में फांसी लगा ली, बताया जा रहा है कि भोपाल के स्टेशन बजरिया इलाके के रहने वाले इस बच्चे को फ्री फायर गेम खेलने की आदत पड़ गई थी। बच्चे ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी।

एडिशनल CP सचिन अतुलकर ने कहा-

इस मामले में एडिशनल CP सचिन अतुलकर ने कहा- पुलिस की शुरुआती जांच में गेम के चलते बच्चे ने सुसाइड की है, बच्चे ने पंचिंग बेग की रस्सी से फंदा बनाकर सुसाइड की है। जांच में सामने आया है की बच्चा गेम खेलने का आदि था। माता-पिता की बिना जानकारी के बच्चे ने गेम में एडऑन खरीदने के लिए 6 हज़ार रुपये खर्च किये थे, पेरेंटस ने कई बार गेम नहीं खेलने को समझाया था और गेम डिलीट किया था लेकिन बच्चे को पढ़ाई में ज्यादा इंटरेस्ट नही था अधिकतर गेम खेलता है। डिशनल CP ने कहा- ऐसे मामलों की पुलिस कॉउंसिल कराएगी अगर अभिभावक पुलिस के पास आयेंगे तो।

बताते चलें कि ऑनलाइन गेम बच्चों के लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं। इसके चलते मध्यप्रदेश सरकार सख्त कदम उठाने जा रही है। प्रदेश में जल्द ही ऑनलाइन गेमिंग एक्ट लागू किया जाएगा। यह बात मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया से चर्चा के दौरान कही। मंत्री ने कहा कि फ्री फायर गेम के कारण बच्चे की आत्महत्या का मामला बहुत गंभीर है। नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर- ऑनलाइन गेम को लेकर नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.