पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में BJP कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्‍या
पूर्व मेदिनीपुर जिले में BJP कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्‍याSocial Media

पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में BJP कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्‍या

पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले में एक बीजेपी कार्यकर्ता को पीट-पीटकर हत्‍या के मामले से सनसनी फैली और TMC पर लग रहे हत्या के आरोप...

पश्चिम बंगाल, भारत। ममता बनर्जी के गढ़ पश्चिम बंगाल में अधिकतर हिंसा जैसी घटनाएं सामने आती रहती हैं और अब यहां एक बीजेपी कार्यकर्ता की पिटाई का मामला सामने आया है। दरअसल, जिस बीजेपी कार्यकर्ता को सड़क पर बेरहमी से पीट-पीटकर कर मार डाला।

TMC पर लग रहे हत्या के आरोप :

पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ता को पीट-पीटकर हत्‍या के इस मामले से यहां सनसनी फैल गई है। बीजेपी कार्यकर्ता को पीटे जाने की यह घटना पूर्व मेदिनीपुर जिले में हुई है। बताया जा रहा है कि, इस बीजेपी कार्यकर्ता का नाम शंभु माइति था और वे बीजेपी के युवा नेता थे। उनका शव आज सुबह डेरिया दिघी क्षेत्र के नंटू प्रधान कॉलेज के पास केलेघई नदी के किनारे से बरामद किया गया। तो वहीं, मृतक के परिवार के सदस्यों का आरोप है कि, टीएमसी समर्थकों ने उनकी हत्या की है, हालांकि सत्ता पक्ष ने आरोपों से इंकार किया है।

जानकारी के मुताबिक, बीजेपी कार्यकर्ता शंभू को जब लोगों ने डेरिया दिघी क्षेत्र के नंटू प्रधान कॉलेज के पास केलेघई नदी के किनारे घायल अवस्था में देखा तो तत्काल इस बारे में पुलिस को सूचित किया गया है, सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और जब उन्‍हें अस्पताल लाया गया, तो डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव बरामद कर लिया है।

पुलिस की ओर से यह बताया गया है कि, ''मृतक शंभू के बदन में जगह-जगह घाव के निशान थे। इस मामले में फिलहाल किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है, लेकिन पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेगी।''

इधर, बीजेपी का आरोप है कि, ''टीएमसी बदमाशों ने शंभू माइति को पहले सड़क पर पीटा गया, उसके बाद उसे चाकू से मार कर हत्या कर दी गयी। इसके अलावा बीजेपी के एक कार्यकर्ता ने कहा, ‘'उन्हें बीती रात करीब 10 बजे सड़क से उठाया गया था, इसके बाद नदी के किनारे उसकी पिटाई की गई। उन्हें पीटा गया और नंटू कॉलेज के पास छोड़ दिया गया। हमारे स्थानीय कर्मचारी डर के मारे इलाके में नहीं जा सके, तभी फोन मेरे पास आया मुझे शंभु माइति की खबर मिली. फिर मैंने भगवानपुर थाने के ओसी को फोन किया। पुलिस ने बल भेजा है. बाद में जब उसे अस्पताल लाया गया तो उसे बचाया नहीं जा सका।”

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co