इंदौर में रेमडेसीविर की कालाबाजरी, 20 हजार में बेच रहे 3 आरोपी गिरफ्तार
जप्त किये गए रेमडेसीविर इंजेक्शनRaj Express

इंदौर में रेमडेसीविर की कालाबाजरी, 20 हजार में बेच रहे 3 आरोपी गिरफ्तार

इंदौर, मध्यप्रदेश : मेडिकल संचालक, एमआर सहित तीन आरोपी एसटीएफ की गिरफ्त में। 12 इंजेक्शन जब्त, बाइक-मोबाइल भी बरामद।

इंदौर, मध्यप्रदेश। एसटीएफ ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले तीन युवकों को पकड़ा है। इनमें एक मेडिकल संचालक तो दूसरा एमआर है। आरोपियों से इनसे 12 इंजेक्शन भी जब्त किए गए हैं, जो आरोपी 20 हजार रुपए तक में बेचने वाले थे।

पुलिस अधीक्षक (एसटीएफ) मनीष खत्री ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि राजेश पिता जगदीश पाटीदार निवासी न्यू स्टार सिटी राऊ बायपास और ज्ञानेश्वर पिता धनराज बारसकर नि. रामनगर भमौरी नामक व्यक्ति बाइक क्र. एमपी 09 एमक्यू 0177 से चिडियाघर के पास कोरोना से पीडि़त मरिजों को लगाए जाने वाले अतिआवश्यक रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर 20 हजार रुपए प्रति इंजेक्शन की दर से 6 रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने की फिराक में आने की सूचना मिली थी। सूचना पर डीएसपी सोनू कुर्मी के नेतृत्व में निरीक्षक श्रीकांत जोशी, आरक्षक विवेक द्विवेदी को पंटर बनाकर संदेहियों से इंजेक्शन क्रय करने के लिए बातचीत करने हेतु चिडिय़ाघर के सामने भेजा गया। जहां पर आरक्षक विवेक द्विवेदी द्वारा दोनों संदेहियों से बातचीत कर उन्हे इंजेक्शन खरीदने के लिए एडवांस में धनराशि दी गई। जैसे ही आरोपियों ने इंजेक्शन दिखाया, वैसे ही टीम ने इन्हें दबोच लिया। आरोपियों से मौके पर 6 रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ ही एडवांस में दी गई राशि और बाइक भी बरामद की गई।

राज मेडिकल से खरीदना बताया :

पूछताछ में आरोपी ने विजयनगर स्थित राज मेडिकल से उक्त इंजेक्शन खरीदना बताया। जिस पर से टीम ने विजय नगर स्थित राज मेडिकल पर छापा मारा। यहां से टीम ने राज मेडिकल स्टोर के संचालक व प्रोपायटर अनुरागसिंह पिता घनश्यामसिंह सिसोदिया निवासी स्कीम नंबर 114 पार्ट 01 देवासनाका के पास से 6 नग रेमडेसिविर इंजेक्शन मिले। अनुराग से उक्त इंजेक्शन के स्टाक संधारण व बिल के बारे में पूछताछ करने पर उसके द्वारा कोई स्टाक संधारण न करने व बिल न होने के संबंध में बताया गया। इस पर मेडिकल स्टोर संचालक अनुरागसिंह सिसोदिया को गिरफ्तार कर उससे भी 6 नग रेमडेसिविर इंजेक्शन के जत किए गए।

एक आरोपी सिपला कंपनी में था एमआर :

पुलिस अधीक्षक खत्री ने बताया कि आरोपी राजेश पाटीदार पूर्व में सिपला कंपनी में एमआर का काम करता था। विगत 5 साल से अलबट्रो कंपनी में बतौर एमआर का काम कर रहा था। वह विजयनगर स्थित राज मेडिकल के संचालक के संपर्क में आया था। जिससे रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदकर उसके द्वारा धार जिले में भी अन्य व्यक्तियों को उपलब्ध कराए गए है। वहीं आरोपी अनुरागसिंह ने इंजेक्शन अन्य मेडिकल स्टोर्स पर बेचने की जानकारी दी है। इस पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने आरोपियों से तीन मोबाइल भी जब्त किए हैं। उक्त कारज़्वाई में डीएसपी सोनू कुर्मी, निरीक्षक श्रीकांत जोशी, उपनिरीक्षक मलय महंत, आरक्षक विवेक द्विवेदी, आरक्षक विष्णु यादव, आरक्षक रवीन्द्र कुंतल, आरक्षक सुभाष कोठे, आरक्षक शुभम कटारे आरक्षक सुरेश मिश्रा की भूमिका रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co