करोड़ों की ठगी करने वाली फर्जी कंपनी का पर्दाफाश
करोड़ों की ठगी करने वाली फर्जी कंपनी का पर्दाफाश|Raj Express
क्राइम एक्सप्रेस

इंदौर : करोड़ों की ठगी करने वाली फर्जी कंपनी का पर्दाफाश

इंदौर, मध्य प्रदेश : नाम बदलकर आरोपी कर रहे थे आन लाइन ठगी, आरोपियों में युवती भी शामिल हैं। कई राज खुलने की संभावना।

Pradeep Chauhan

इंदौर, मध्य प्रदेश। पुलिस ने करोड़ों रुपए की ठगी करने वाली फर्जी कंपनी का पर्दाफाश किया है। आरोपी विजयनगर क्षेत्र का पता देकर तुकोगंज मैं ये कंपनी चला रहे थे। लाकडॉउन के दौरान खजराना के एक फ्लैट से ये इस तरह की ठगी करते रहे। नाम बदलकर टेम्पटेड कॉल करते थे। फर्जी ईमेल आईडी से फरियादियों को मेल भेजकर जाल फैलाते थे। ठगी की कमाई से इन लोगों ने महंगी गाड़ियां, मकान और प्लाट खरीदे हैं। दिल्ली के एक फरियादी से आरोपियों की 36 करोड़ रुपए इनवेस्ट की बात चल रही थी। इसी दौरान दिल्लीवासी को कुछ शक हुआ। उसने पुलिस को एक मेल भेजा और कंपनी की पोल खुल गई। इस मामले में पुलिस ने कंपनी के मालिक सहित तीन लोगों को बंदी बनाया है। इस गैंग में एक युवती भी शामिल हैं। आरोपियों से अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ की जा रही है। गैग ने दिल्लीवासी को पैसा दुगना करने का झांसा देकर जाल में फंसाया था।

दिल्ली से आए मेल ने खोली पोल :

उल्लेखनीय है कि चिटफंड, मल्टी लेवल मार्केटिंग तथा अनाधिकृत रूप से चलने वाली इन्वेस्टमेंट एडवाइजरी कम्पनियों के साथ ही विभिन्न प्रकार के प्रलोभन देकर लोगों से पूँजी जमा कराकर धोखाधड़ी करने वाली एडवाइजरी कम्पनियों के विरूद्ध चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत आईजी विवेक शर्मा, डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र द्वारा इंदौर पुलिस को सख्त कार्रवाई के लिए निर्देशित किया है। इसी के तहत एसपी विजय खत्री के मार्गदर्शन मे एएसपी राजेश रघुवंशी, सी एस पी राकेश गुप्ता द्वारा प्लानिंग कर इस प्रकार धोखाधड़ी करने वाली कम्पनियों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही की जा रही है। पुलिस को एक फरियादी का दिल्ली से मेल आया जिसकी जाँच विजयनगर पुलिस टीम को सौंपी गई । फरियादी ने बताया कि उसके पास राशि नाम की युवती का कॉल आया जिसने उसको बोला कि हमारी रजिस्टर्ड कम्पनी है और आप यदि इन्वेस्ट करेंगे तो आपको डबल राशि करवा देंगे जिसकी बातों में आकर फरियादी द्वारा अलग अलग समय पर कंपनी के अकाउण्ट मे 55,00,000/- रूपये डलवा दिये बाद मैं उन्होंने फोन उठाना बंद कर दिया। कंपनी का पता करने आया तो पता चला विजयनगर मे दिये पते पर इस नाम की कोई कंपनी कभी भी नहीं थी। कोई राशि नाम की युवती या राहुल सिंह लाम्बा तथा ए के रस्तोगी नामक व्यक्ति जो उससे कॉल कर पैसे डलवाते थे नहीं पाये गये।

पुलिस ने पता लगाया कौन था असली ठग :

फरियादी के रिपोर्ट करने पर पुलिस द्वारा हाईटेक तरीकों से पता कर लिया गया कि राहुल सिंह लाम्बा के नाम से बात करने वाला व्यक्ति शोएब खान पिता अशफाक खाँ निवासी अशरफी नगर, खजराना तथा ए के रस्तोगी के नाम से कॉल करने वाला व्यक्ति अरसलान खान पिता इरशान खान, ममता कालोनी है। पुलिस द्वारा घेराबंदी कर इनकी तलाश करने पर इन्हे काफी मशक्कत के बाद गिरफ्तार किया गया। पूछताछ पर इन्होंने बताया कि वे नाम बदल कर फरियादियों को कॉल करते थे और उनके द्वारा फरियादियो से सम्पर्क के लिये फर्जी नाम से ईमेल आईडी भी बनायी थी।

इन दोनों से पूछताछ पर उक्त फर्जी कम्पनी एलगो सॉल्युशन कम्पनी के मालिक पीयूष की तलाश की गई, जिसे गिरफ्तार किया गया है। उसने बताया कि उसने विजयनगर का एड्रेस देकर एलगो सॉल्युशन के नाम से फर्जी कंपनी बनाई और तुकोगंज क्षेत्र मे ट्रेड सेन्टर मे प्रारंभ की थी और सोहेब, अरसलान, पूजा के साथ मिलकर लोगो को ठग रहे थे। आरोपीगण से जिनसे फरियादियों को कॉल लगाये जाते थे वो मोबाईल, चैकबुक, अकाउण्ट बुक, पासबुक जप्त किये गये हैं। खातों के स्टैटमेन्ट और मोबाईल रिकार्ड के आधार पर अन्य फरियादियों के सम्बध में पूछताछ की जा रही है। बताते हैं कि ये कंपनी अभी तक करोड़ों रुपए की ठगी कर चुकी है। इस ठगी के पैसे से सभी आरोपी ऐशों आराम का जीवन जी रहे हैं। कार मकान एवं प्लाट भी खरीदे गए हैं। पुलिस इस मामले में जांच कर पता लगा रही है कि किस आरोपी ने कितने पैसे से कार, फ्लैट, प्लाट आदि खरीदे हैं। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co