इंदौर : आईआईटी निमार्ण करने वाली ठेकादार कंपनी ने 2 करोड़ मजदूरी हड़पी
आईआईटी निमार्ण करने वाली ठेकादार कंपनी ने 2 करोड़ मजदूरी हड़पीRaj Express

इंदौर : आईआईटी निमार्ण करने वाली ठेकादार कंपनी ने 2 करोड़ मजदूरी हड़पी

इंदौर, मध्य प्रदेश : देश की प्रतिष्टित आईआईटी इंदौर का निर्माण कार्य करने वाली ठेकेदार कंपनी ने सैकड़ों मजदूरों की बकाया राशि हड़प ली।

इंदौर, मध्य प्रदेश। देश की प्रतिष्ठित आईआईटी इंदौर का निर्माण कार्य करने वाली ठेकेदार कंपनी ने सैकड़ों मजदूरों की बकाया राशि हड़प ली। कंपनी से पेटी ठेके पर काम करने वाले ठेकेदार और मजदूरों ने बकाया राशि की मांग की तो उन्हें बकाया राशि देने से इंकार कर दिया। वही कंपनी के डायरेक्टर भी फोन नहीं उठा रहे हैं। इस मामलें में परेशान मजदूरों की ओर से सामूहिक शिकायत पुलिस थाना सिमरोल में दी गई।

इंदौर आईआईटी सिमरोल के निमार्ण में लगी सिम्पलेक्स इंफ्रास्ट्रकचर कंपनी के खिलाफ मजदूरों और पेटी ठेकेदारों ने अपने बकाया भुगतान के लिए पुलिस को शिकायत की है। काम करने वालों का कहना है कि कंपनी से पेटी में ठेका लेकर काम किया था। इसका लगभग 2 करोड़ का भुगतान कंपनी ने नहीं किया है। सिम्पलेक्स इंफ्रास्ट्रकचर कंपनी के अधिकारी व डायरेक्टर से सम्पर्क किया तो उनका कहना था कि आपकी जो मर्जी हो करो हम कोई पेमेंट नही कर रहे हैं। इस बारे में जब वहां के डायरेक्टर रोहित डागा को फोन किया तो उनके द्वारा फोन कॉल नही उठाया गया। इससे परेशान ठेकेदार और मजदूरों ने सैकड़ों की संख्या में पहुँचकर सिमरोल थाने पर आवेदन दे कर पुलिस प्रशासन से उनकी मजदूरी का पैसा दिलाने की गुहार लगाई। ठेकेदार अशोक त्रिपाठी का कहना है कि यदि आईआईटी सिमरोल प्रबन्धन सिम्पलेक्स इंफ्रास्ट्रकचर कंपनी का भुगतान रोक ले व उन्हें यहां काम करने वाले मजदूरों की मजदूरी देने के लिए कहे तो उनका व सैकड़ो मजदूरों की मजदूरी उन्हें मिल सकती है।

इस बारे में आईआईटी सिमरोल के प्रोजेक्ट इंचार्ज अतुल पांडे भी अपने घर में पिता के बीमारी का बहाना बना कर फोन नही उठा रहे हैं।

क्षेत्रीय मजदूरों का हक दिलाएंगे :

सिमरोल क्षेत्र के सैकड़ों मजदूर अपनी मजदूरी के लिए परेशान हो कर जब क्षेत्र के भाजपा नेता राकेश यादव के पास पहुँचे तो इन्होंने मामले को समझ कर पुलिस प्रशासन से चर्चा करने का आश्वासन दिया। और सिमरोल थाना प्राभारी से चर्चा की। बताया गया कि इस पर प्रभारी थाना सिमरोल ने आईआईटी सिमरोल के प्रबंधन को पत्र लिख कर उक्त मामले से अवगत कराते हुए वहाँ पड़े कंस्ट्रक्शन के सामान को कंपनी द्वारा हटाने पर रोक लगाने को कहा है, ताकि कंपनी मजदूरों का पैसा उन्हें दे दे। भाजपा नेता राकेश यादव ने कहा कि हमारे शहर की प्रतिष्ठित आईआईटी सिमरोल की छबि को देखते हुए इसमें उत्सुकता से काम करने गए मजदूरों के सामने सिम्पलेक्स इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी ने मजदूरों का करोड़ों रूपये हड़प कर मजदूरों के साथ छल व धोखाधड़ी की है। अब मजदूरों ने भी आगामी समय के लिए चेतावनी दी है कि अब कोई भी मजदूर वहाँ किसी भी प्रकार का कोई काम करने नहीं जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co