दतिया में आठ साल की मासूम बच्ची से हैवानियत, रेप के बाद की हत्या
मासूम बच्ची से हैवानियत, रेप के बाद की हत्यासांकेतिक चित्र

दतिया में आठ साल की मासूम बच्ची से हैवानियत, रेप के बाद की हत्या

दतिया, मध्यप्रदेश। एमपी के दतिया जिले में दरिंदगी की हदें पार करने वाला मामला सामने आया है। यहां मासूम बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी गई।

दतिया, मध्यप्रदेश। एमपी के दतिया जिले में दरिंदगी की हदें पार करने वाला मामला सामने आया है। यहां आठ साल की मासूम बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी, दरिंदे ने रेप और हत्या के बाद मासूम बच्ची का शव झाड़ियों में फेंक दिया।

मासूम का रेप और फिर हत्या :

मध्यप्रदेश में आए दिन मासूमों के साथ होने वाले दुष्कर्म के मामले सामने आते रहते हैं, हाल ही में ऐसा ही एक और मामला सामने आया है। ये दिल दहलाने वाली वारदात दतिया से सामने आई है। दतिया जिले के गोराघाट थाना क्षेत्र में 8 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी गई, बच्ची का शव झाड़ियों में निर्वस्त्र हालत में मिला है।

शादी में शामिल होने आई थी बच्ची :

बताया जा रहा हैं कि, आठ साल की मासूम बच्ची रिश्तेदार के यहां ग्राम तिलैथा में शादी में शामिल होने आई थी। जब बच्ची शादी में नजर नहीं आई, तो परिजनों ने उसकी तलाश की। इस दौरान विवाह स्थल से तीन किलोमीटर दूर मासूम बच्ची का शव झाड़ियों में पड़ा मिला।

एमपी के कई जिलों से दुष्कर्म की खबरें आ रही है, बीते दिनों ही मध्यप्रदेश के सागर जिले से एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया था। जिले के रामपुर के जंगल में चार बदमाशों द्वारा मोटर साइकिल रोककर जीजा के साथ मारपीट की और युवती को जंगल में ले गए, वहां सामूहिक दुष्कर्म किया। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

बता दें, एक ओर जहां हमारा देश विकासशील भारत की बात करता है वहीं दुष्कर्म की वारदातें नींव को कमजोर करती हैं, दुष्कर्म की घटनाएं समाज में अभिशाप हैं और मध्यप्रदेश में रोज कहीं न कहीं किसी दुष्कर्म की खबर आ रही है, न जानें लोगों का मानसिक स्तर इतना नीचे कैसे गिरता जा रहा है कि समाज के ये दरिंदे महिला, वृद्धा यहाँ तक की मासूम बालिकाओं तक को नहीं छोड़ रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.