फॉलोअप : ड्रग्स गैंग के 6 सर्पोटर और गिरफ्तार
फॉलोअप : ड्रग्स गैंग के 6 सर्पोटर और गिरफ्तारRaj Express

फॉलोअप : ड्रग्स गैंग के 6 सर्पोटर और गिरफ्तार

इन्दौर, मध्य प्रदेश : ड्रग्स मामले में पुलिस ने ड्रग्स गैंग को सहयोग करने वाले आधा दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दूसरी ओर इस मामले में अब आंटी के बेटे का नाम भी सामने आ गया है।

इन्दौर, मध्य प्रदेश। ड्रग्स मामले में पुलिस ने ड्रग्स गैंग को सहयोग करने वाले आधा दर्जन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दूसरी ओर इस मामले में अब आंटी के बेटे का नाम भी सामने आ गया है। गिरफ्तार आरोपियों ने कबूला है कि वे आंटी के बेटे यश से ड्रग्स खरीदते थे। आरोपियों से पूछताछ जारी है।

सुनियोजित तरीके से ड्रग्स युवाओं को देने वाली गैंग के 9 आरोपियों के थाना विजयनगर अंतर्गत गिरफ्तार किया गया था। एसआईटी टीम द्वारा गिरफ्तार 9 आरोपियों को ड्रग्स परिवहन, क्रय, विक्रय मे सहायता करने वाले 6 अन्य साथी आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम द्वारा सद्दाम पिता निजाम को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई थी इससे जानकारी मिली थी कि उसके द्वारा सागर जैन, धीरज, जोजो उर्फ सोहन से ड्रग्स लेकर अन्य कई युवक-युवतियों को बेचा जाता है। सूचना के आधार पर तुषार पिता जय आहूजा, साधू नगर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जाने पर उससे तथा प्रीति उर्फ आंटी तथा उसके बेटे यश से ड्रग्स लेने वाले जेत खिलजी पिता सलीम खिलजी, ब्रुक बांड कालोनी तथा निखिल अरोरा पिता हरीश अरोरा, विष्णुपुरी भंवरकुआ को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो पता चला कि उनके द्वारा लगातार इनसे ड्रग्स लेकर बाहर रहने वाले युवक युवतियों के साथ पार्टियां की जाती थी तथा ड्रग्स का उपयोग किया जाता था। तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

इसी प्रकार गिरफ्तारशुदा आरोपी जोजो उर्फ सोहन से पूछताछ पर ड्रग्स सप्लाई में उसकी सहायता करने वाले उसके साथी राहुल पिता राजेश पथरोड, सेंधवा तथा जितेन्द्र पिता कैलाश कोली, सेंधवा को भी गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपी कपिल पाटनी पिता पवन पाटनी की देह व्यापार और ड्रग्स सप्लाई में सहायता करने वाले राज को भी गिरफ्तार किया गया है ।

कैसे षड्यंत्र रचकर करती थी ड्रग्स कारोबार :

आंटी षड्यंत्र रचकर ड्रग्स का कारोबार चलाती थी। नए ग्राहक बनाने के लिए वह खुद युवाओं को इस लत का शिकार बनाती थी। उसके बाद उधार माल भी दे देती थी। पैसा नहीं मिलता था तो युवक को ब्लैकमेल भी किया जाता था। रिमांड के दौरान पूछताछ में ड्रग वाली आंटी ने बताया कि वह दिल्ली से ड्रग्स (एमडीएम और कोकिन) लेकर आती थी। वह होटल में रुकती थी और नाइजीरियन तस्करों से ड्रग्स लेती थी। नाइजीरियन दिल्ली के उत्तम नगर में रहते हैं। यहां मादक पदार्थों की खरीद फरोख्त से साथ फर्जी बैंक अफसर, एयरपोर्ट अफसर, आरबीआई अफसर बनकर ठगी भी करते हैं। कोकिन और एमडीएमए की डिलीवरी के लिए एक साथ कईं लोग आते हैं। डिलीवरी देते वक्त नाइजीरियन खरीददार को चारों तरफ से घेर लेते थे। पुलिस को आंटी के बेटे यश के बारे में भी महत्वपूर्ण सबूत मिले हैं। कुछ गिरफ्तार आरोपियों ने भी उसका नाम कबूला है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। उससे पूछताछ में कई ड्रग्स के सौदागरों के नाम सामने आ सकते हैं। आंटी पहले तो युवकों को ड्रग्स की लत लगाती थी। जब उन्हें लत लग जाती थी तो वे रोजाना ड्रग्स खरीदने लगते थे। इसमें से कई ऐसे थे जो उधार में भी ड्रग्स खरीदते थे। यदि वह रुपये नहीं दे पाते तो उन्हें ब्लैकमेल किया जाता था, धमकी दी जाती थी कि रुपये नहीं दिए तो उनके घर पर बता दिया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co