दिल्ली: फिल्म 'स्पेशल 26' के अंदाज में ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

दिल्ली: दिल्ली की अपराध शाखा पुलिस ने गुरुवार को एक ऐसे अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है जो, अक्षय कुमार की बॉलीवुड फिल्म 'स्पेशल 26' के अंदाज में बड़े-बड़े घरों में लूटपाट करते थे।
दिल्ली: फिल्म 'स्पेशल 26' के अंदाज में ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश
Exposure of gang cheating in the style of film Special 26 in DelhiSocial Media

दिल्ली: दिल्ली की अपराध शाखा पुलिस ने गुरुवार को एक ऐसे अंतरराज्यीय गिरोह का खुलासा किया है जो, अक्षय कुमार की बॉलीवुड फिल्म 'स्पेशल 26' के अंदाज में बड़े-बड़े घरों में लूटपाट करते थे। हालांकि, इसे लूटपाट का नाम नहीं दिया जा सकता। इस गिरोह के लोग प्रवर्तन निदेशाल (ED) और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) अधिकारी बनकर लोगों के घर रेड डालने के बहाने जाकर घर में उपलब्ध सभी संपत्ति जब्त कर लेते थे।

क्या है मामला :

दरअसल, दिल्ली की अपराध शाखा पुलिस ने एक ऐसे गिरोह के पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जो बिलकुल अक्षय कुमार की बॉलीवुड फिल्म 'स्पेशल 26' के अंदाज में प्रवर्तन निदेशाल (ED) और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) के अधिकारी बनकर लोगों के घर जाते थे और लूटपाट की वारदात को अंजाम देते थे। इस मामले की सुनवाई के लिए पुलिस ने इन आरोपियों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, कोर्ट ने फ़िलहाल इन्हे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजने के आदेश दिए हैं।

नौकरी न होने के कारण करते थे यह काम :

अपराधा शाखा के उपायुक्त (DCP) राजेश देव ने बताया कि, गिरफ्तार किए गए पांचों आरोपियों के नाम राहुल सिंह, शादाब, जुनैद, सुमित और नवीन कुमार है। यह सभी दिल्ली-NCR के एक इलाके में रहते हैं। इन सभी के पास से सिम, ATM और लैपटॉप बरामद किए गए हैं। इन अपराधियों से पूछताछ के दौरान उन्होंने बताया है कि, उनके गिरोह का मास्टर माइंड राहुल सिंह है। 'स्पेशल 26' के अंदाज में चोरी करने का प्लान राहुल सिंह ही तैयार करता था। यह सभी दो साल पहले नोएडा की एक बीमा कंपनी में काम करते थे। परंतु साल 2018 में IRDA द्वारा वह फर्म बंद कर दी गई। इसके बाद से ही यह लोग इस लूटपाट की वारदात को अंजाम देने लगे।

फोन नंबर और बैंक अकाउंट के आधार पर पकड़े गए आरोपी :

पूछताछ में उन्होंने बताया कि, इन आरोपियों ने फर्जी ED के अधिकारी बनकर महाराष्ट्र के रहने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ नोटिस जारी किया था। इसके बाद उस व्यक्ति से ED में दर्ज हुए मामले को रफादफा करने के लिए पैसो की की मांग की। इस पर व्यक्ति ने शंका के आधार पर ED कार्यालय से संपर्क किया। संपर्क करने पर यह नोटिस फर्जी पाया गया साथ ही यह सभी फर्जी ED अधिकारी पाए गए। व्यक्ति ने मामले की शिकायत पुलिस से की और पुलिस ने आरोपियों के फोन नंबर और पीड़ित को दिए बैंक अकाउंट के द्वारा आरोपियों की तलाश शुरू की।

कुल 10.06 लाख रुपये तक की ठगी :

बताते चलें, पुलिस ने इस गिरोह की तलाश करते हुए कई ATM के CCTV फुटेज की जांच की। जांच में पुलिस ने गाजियाबाद के कौशांबी से राहुल सिंह को अपनी गिरफ्त में ले लिया। पुलिस ने बताया कि, इन आरोपियों ने इस तरह की धोखाधड़ी करने के लिए कई फर्जी सिम खरीद रखी थी। यह लोग ज्यादातर बीमा पॉलीसी धारकों के साथ इस तरह की वारदात को अंजाम देते थे। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि, उनके दिमाग में यह तरीका फिल्म 'स्पेशल 26' देखने के बाद आया था। इस प्रकार से इन आरोपियों ने पॉलीसी धारकों से कुल 10.06 लाख रुपये तक की ठगी की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co