ग्वालियर : परिजन करा रहे थे गुमशुदगी दर्ज, ट्रैक पर मिला युवती का शव
परिजन करा रहे थे गुमशुदगी दर्ज, ट्रैक पर मिला युवती का शवसांकेतिक चित्र

ग्वालियर : परिजन करा रहे थे गुमशुदगी दर्ज, ट्रैक पर मिला युवती का शव

बीते सात दिनों में रेल से कटकर तीन लोग अपनी जान दे चुके हैं। जिसमें से दो घटनाओं में रेल से कटकर जान देने वालों की शिनाख्त भी नहीं हो सकी है। ट्रेन से कटकर जान देने की घटनाएं दिनोंदिन बढ़ती जा रही हैं

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। बीती रात घर से अचानक गायब हुई बाइस वर्षीय युवती की गुमशुदगी परिजन ग्वालियर थाने में दर्ज कराने पहुंचे ही थे कि इस बीच सूचना मिली कि घर से गायब हुई युवती का शव हजीरा थाना क्षेत्र के जद में आने वाले यादव धर्मकांटा के पास स्थित गेट नंबर 426 के अप ट्रैक पर पड़ा हुआ है। शव मिलने की सूचना मिलते ही आरपीएफ व हजीरा थाने के जवान मौके पर पहुंचे और शव को अपने कब्जे में लेकर पीएम के लिए डैड हाउस भेजकर इस मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी है। मामला गुरुवार की रात का होना हजीरा पुलिस ने बताया है।

हजीरा थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ग्वालियर थाना क्षेत्र के सुमेर सिंह का बाड़ा निवासी जयप्रकाश शर्मा अपने परिवार के साथ रहते हैं। बीती रात उनकी बाइस वर्षीय पुत्री वर्षा शर्मा परिजनों को बिना बताए घर से गायब हो गई। पहले तो परिजनों ने बेटी की तलाश घर के आसपास व रिश्तेदारों में की। लेकिन जब युवती का कोई पता नही लगा तो परिजन गुरुवार की रात में ही मामले की जानकारी देने ग्वालियर थाने पहुंच गए। गुमशुदगी दर्ज होने के बाद सूचना मिली कि जिस युवती वर्षा की गुमशुदगी परिजनों ने दर्ज कराई है उसका शव हजीरा थाना क्षेत्र के यादव धर्मकांटा के पास से गुजर रहे रेलवे के अप ट्रैक पर पड़ा हुआ है। शव पड़ा होने की सूचना कंट्रोल से मिलते ही आरपीएफ के जवान भी मौके पर जा पहुंचे। वर्षा का शव मिलने की सूचना हजीरा थाना से मिलने के बाद मृतका के परिजन मौके पर पहुंचे और शव की शिनाख्त बेटी वर्षा के रुप में की।

हजीरा पुलिस का मानना है कि मृतका वर्षा रेल हादसे का शिकार नहीं हुई है बल्कि उसने रेल ट्रैक पर पहुंचकर आत्महत्या की है। फिलहाल थाना हजीरा पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पीएम के लिए डैड हाउस भेजकर इस मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरु कर आत्महत्या करने के कारण को तलाशना शुरु कर दिया है।

बीते सात दिनों में रेल से कटकर तीन लोग अपनी जान दे चुके है। जिसमें से दो घटनाओं में रेल से कटकर जान देने वालों की शिनाख्त भी नहीं हो सकी है। ट्रेन से कटकर जान देने की घटनाएं दिनोंदिन बढ़ती जा रही हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co