आत्महत्या का बढ़ता ग्राफ: राजधानी भोपाल में आरक्षक ने फांसी लगाकर दी जान
राजधानी भोपाल में आरक्षक ने फांसी लगाकर दी जानSyed Dabeer Hussain - RE

आत्महत्या का बढ़ता ग्राफ: राजधानी भोपाल में आरक्षक ने फांसी लगाकर दी जान

भोपाल, मध्यप्रदेश। आत्महत्या का मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आया है, राजधानी भोपाल में आरक्षक भानुप्रताप सिंह ने फांसी लगाकर की खुदकुशी।

हाइलाइट्स :

  • मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल का

  • राजधानी में आरक्षक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

  • रविवार देर रात घर में फांसी लगाकर की खुदकुशी।

  • खुदकुशी के कारण अज्ञात, जांच में जुटी पुलिस

भोपाल, मध्यप्रदेश। प्रदेश में आत्‍महत्‍या करने वालों का ग्राफ तेजी से बढ़ा है, संकट के बीच भी हर रोज किसी न किसी क्षेत्र में मौत को गले लगाने की खबरें सामने आ रही हैं, अब आत्महत्या का मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सामने आया है। मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी भोपाल में आरक्षक ने फांसी लगाकर की खुदकुशी।

जानिए पूरी खबर :

मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल का है, मिली जानकारी के मुताबिक कमला नगर थाना क्षेत्र के नेहरू नगर में रहने वाले आरक्षक ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली, घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस तुरंत वहा पहुंची, पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है। बता दें कि मृतक भानुप्रताप सिंह के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

पुलिस के अनुसार

28 वर्षीय भानुप्रताप सिंह पुलिस लाइन के सामने नेहरूनगर में रहता था, वह वर्ष 2014 बैच का आरक्षक था। रविवार देर रात घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली, परिजनों ने जब भानुप्रताप सिंह को फांसी पर लटका देखा तो तुंरत पुलिस को सूचना दी, सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को नीचे उतार और पीएम के लिए भिजवाया।

बता दें कि शुरूआती जांच में यह तथ्‍य सामने आया है कि आरक्षक ने फांसी लगाने से पहले अपने घरवालों से मोबाइल पर बात की थी, कुछ पारिवारिक कारण सामने आ रहे हैं। पुलिस ने आरक्षक का मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है, पुलिस उसके मोबाइल की सीडीआर भी खंगाल रही है। पुलिस के मुताबिक अभी मृतक के परिजनों के बयान नहीं लिए गए हैं, उनसे पूछताछ के बाद ही खुदकुशी की वजह स्‍पष्‍ट हो सकती है पुलिस मामले की पूरी जांच पड़ताल कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co