दुष्कर्म की घटना पर मचा बवाल, कोर्ट के बाहर पीड़ित ने पुलिस पर लगाया ये आरोप
दुष्कर्म की घटना पर मचा बवालSocial Media

दुष्कर्म की घटना पर मचा बवाल, कोर्ट के बाहर पीड़ित ने पुलिस पर लगाया ये आरोप

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : प्रदेश के ग्वालियर जिले के मुरार से सोमवार को दुष्कर्म की घटना सामने आई थी, अब इस मामले पर पुलिस ने मुरार थाना से लेकर कोर्ट तक काफी बवाल मचा।

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। एक ओर जहां कोरोना संकट का असर कम होते ही कभी अच्छी तो कभी बुरी खबरें सामने आ जा रही हैं, वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में दुष्कर्म की वारदातों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच सोमवार को प्रदेश के ग्वालियर जिले के मुरार से दुष्कर्म की घटना सामने आई थी, बता दें कि अब इस दुष्कर्म के मामले पर मुरार थाना से लेकर कोर्ट तक काफी बवाल मचा हुआ है।

बता दें कि जिस घर में पीड़ित झाडू-पोंछा का काम करती थी, उसके मालिक के नाती- नाती के दोस्त पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था, उसी रात पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में अब पीड़ित ने मुरार थाना से लेकर कोर्ट तक बवाल मचा दिया, पीड़ित कोर्ट के बाहर बोली- पुलिस ने बयान बदलने के लिए थाने में बंद कर झाडू-डंडे से पीटा।

इस मामले में पुलिस का कहना था कि लड़की ने दूसरे पक्ष को फंसाने के लिए झूठा मामला दर्ज कराया है, इस मामले में पुलिस का कहना था कि लड़की ने दूसरे पक्ष को फंसाने के लिए झूठा मामला दर्ज कराया है। वही आरोपी पक्ष ने अपना बचाव किया है, प्रॉपर्टी कारोबारी ने बताया कि मेरे नाती पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली लड़की झूठ बोल रही है।

पीड़ित ने लगाया ये आरोप :

बता दें कि कोर्ट के बाहर हंगामा करते हुए पीड़ित लड़की ने टीआई मुरार अजय पवार और पूरे स्टाफ पर थाना में बंद कर कोर्ट में बयान बदलने के लिए पीटने का आरोप लगाया है, इस मामले में कोर्ट ने पीड़ित को मुरार पुलिस को नहीं सौंपने के निर्देश दिए हैं, मिली जानकारी के मुताबिक पीड़ित जब कोर्ट आई तो उसके चेहरे पर थप्पड़ केे निशान थे, इस पूरे मामले की जांच की जा रही है

पुलिस किसी लड़की की पिटाई नहीं कर सकती है, अगर ऐसा हुआ है तो मामले की जांच होगी और जो गलत है उस पर कार्रवाई की जाएगी।

ग्वालियर के एसपी का कहना

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co