ग्वालियर : पत्थरबाजी की घटनाओं को रोकने रात में एसपी उतरे सड़कों पर
पुलिस जवानों को दिशा निर्देश देते एसपी ग्वालियर अमित सांघी।Manish Sharma

ग्वालियर : पत्थरबाजी की घटनाओं को रोकने रात में एसपी उतरे सड़कों पर

ग्वालियर, मध्यप्रदेश। पुलिस कप्तान अमित सांघी बीती रात अपने स्टॉफ के साथ निकल आए और जिले के सभी महत्वपूर्ण चौराहों पर चेकिंग प्वाइंट लगाने के निर्देश दिए।

हाइलाइट्स

  • एक घंटे में चैकिंग के दौरान काटे एक सैकड़ा चालान

  • वाहन चालकों को पूरी पड़ताल के बाद ही जाने दिया

ग्वालियर,मध्यप्रदेश। शहर में अचानक शुरू हुई पत्थरबाजी की घटनाओं को रोकने के लिए व पुलिस की सड़कों पर उपस्थिति बढ़ाने के लिए पुलिस कप्तान अमित सांघी बीती रात अपने स्टॉफ के साथ निकल आए और जिले के सभी महत्वपूर्ण चौराहों पर चेकिंग प्वाइंट लगाने के निर्देश दिए। निर्देश के मात्र कुछ ही मिनट में सभी थाना प्रभारी अपने-अपने बल के साथ मुख्य चौराहों पर आ गए और चेकिंग शुरू कर दी। मात्र एक घंटे में ही पुलिस ने एक सैकड़ा चालान करने के बाद संदेही वाहन चालकों को थाने पहुंचा दिया और पूरी पड़ताल के बाद ही उन्हें छोड़ा। कप्तान के तेवर देखकर पुलिस अफसरों ने एक भी वाहन बगैर संतुष्टि के नहीं छोड़ा।

बीती रात करीब सवा दस बजे पुलिस कप्तान अमित सांघी ने कंट्रोल रूम को जिले के सभी थाना क्षेत्रों के महत्वपूर्ण चौराहों पर चेकिंग लगाने के निर्देश दिए। पुलिस जवान व अफसर अपने निर्धारित स्थान पर पहुंचते, उससे पहले ही कप्तान अपनी टीम के साथ शहर की सड़कों पर आ गए और जहां पर भी जवान व अफसर नहीं दिखे, उनकी वायरलेस सेट पर ही क्लास लगा दी। पुलिस कप्तान के तेवर देखते हुए मात्र कुछ ही मिनट में सभी थाना प्रभारी अपने- अपने प्वाइंट पर बल के साथ आ गए और जो भी वाहन इनके सामने से गुजरा उसकी पूरी पड़ताल की। वहीं जिन वाहन चालकों के पास पर्याप्त दस्तावेज नहीं मिले उनके वाहन बगैर देर किए थाने पहुंचाए और मात्र कुछ ही देर में एक सैकड़ा के करीब वाहनों के चालान बनाकर वाहन चालकों को थमा दिए।

चतुराई दिखाने वालों को भिजवाया थाने

पुलिस चेकिंग देखकर कुछ वाहन चालक अपने वाहनों को वापस मोड़कर भागे, जिनका पीछा कर उन्हें थाने भिजवाया, इन वाहन चालकों ने सिफारिशी फोन लगवाए, लेकिन पुलिस अफसरों ने एक भी सिफारिशी फोन अटैण्ड नहीं किया और साफ शब्दों में कह दिया कि यह कार्रवाई कप्तान के निर्देश पर है, अगर सिफारिश करनी है तो कप्तान से करें। उनके पास पॉवर नहीं है किसी भी वाहन को छोडऩे के लिए।

औचक चेकिंग लगाई थी :

गुरूवार-शुक्रवार की रात औचक चेकिंग लगाई गई थी, जिसमें जिले के सभी थाना प्रभारियों ने कार्रवाई की थी, जिससे पुलिस की सड़कों पर उपस्थिति बढ़े और शहरवासी सुरक्षित रहें तथा बदमाशों में पुलिस का खौफ रहे।

अमित सांघी, एसपी

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co