ग्वालियर : दो-दो हजार के नकली नोट खपाने आए एजेंट को एसटीएफ ने पकड़ा
पकड़े गए एजेंट के संबंध में जानकारी देते डीएसपी रोशनी सिंह, टीआई चेतन सिंह बैस।Manish Sharma

ग्वालियर : दो-दो हजार के नकली नोट खपाने आए एजेंट को एसटीएफ ने पकड़ा

ग्वालियर, मध्यप्रदेश : दो-दो हजार के नकली नोटों को शहर में खपाने आए युवक को एसटीएफ की टीम ने पकड़ा है। पकड़े गए युवक से दो हजार के 175 नोट मिले हैं।

हाइलाइट्स :

  • आरोपी से दो-दो हजार रूपए के मिले 175 नोट

  • महात्मा गांधी के फोटो ने खोली पोल

ग्वालियर, मध्यप्रदेश । दो-दो हजार के नकली नोटों को शहर में खपाने आए युवक को एसटीएफ की टीम ने पकड़ा है। पकड़े गए युवक से दो हजार के 175 नोट मिले हैं। युवक से जिन नोटों को बरामद किया है, उन्हें देख एसटीएफ की टीम पहले तो उन्हें असली समझ बैठी। लेकिन जैसे ही नोटों को लाइट की रोशनी से देखा तो महात्मा गांधी की फोटो ने असली और नकली के भ्रम को दूर कर दिया। अब एसटीएफ की टीम नकली नोट छापने वालों की तलाश कर रही है।

एसटीएफ की टीम को सूचना मिली थी कि युवक नकली नोटों को खपाने के लिए आने वाला है। जानकारी मिलते ही टीम अलर्ट हो गई और चैकिंग शुरू कर दी। कम्पू के नेहरू पार्क डीएसपी एसटीएफ रोशनी सिंह, टीआई चेतन सिंह बैस वहां से आने-जाने वालों पर नजर रखें हुई थीं। इसी दौरान उन्हें एक युवक पर संदेह हुआ। जब उन्होंने उसे रोकने का प्रयास किया तो वह भागने लगा। यह देख एसटीएफ की टीम ने उसका पीछा किया और पकड़ लिया। पकड़े गए युवक की जब तलाशी ली गई तो उसके पास से दो-दो हजार के 175 नोट मिले। जब इन नोटों को एसटीएफ की टीम ने चैक किया तो वह सही लगे, उन्होंने सोचा कि हमने किसी गलत आदमी को पकड़ लिया। जब नोटों को लाइट की रोशनी में ले जाकर देखा तो महात्मा गांधीजी के चेहरा दूसरी दिशा में था। यह पकड़ में आते ही पुलिस ने आरोपी से पूछताछ शुरू कर दी है।

आरोपी ने यह किया खुलासा :

एसटीएफ की टीम द्वारा पकड़े गए आरोपी ने बताया कि वह इन रूपयों को भिंड से लेकर आया था। वहीं इन नोटों को छापने का काम चल रहा है। नोट छापने का काम करने वालों में पांच सदस्य बताए हैं। इनमें से एक सदस्य ग्वालियर का भी बताया गया है। जिसकी तलाश करने में पुलिस अफसर जुट गए हैं।

यह उठ रहे सवाल :

अब सवाल यह उठ रहा है कि गिरोह नकली नोट छापने के लिए कागज, नोट व तार कहां से लाते हैं। इसका खुलासा गैंग के अन्य सदस्यों के पकड़े जाने के बाद हो सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co