Indore : 10 साल की बच्ची से पिता करता था हरकत
10 साल की बच्ची से पिता करता था हरकतसांकेतिक चित्र

Indore : 10 साल की बच्ची से पिता करता था हरकत

इंदौर, मध्यप्रदेश : पुलिस द्वारा महिला व बच्चों के विरुद्ध होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए समय-समय पर किए जाने वाले अभियान का असर नजर आने लगा है।

हाइलाइट्स :

  • पीड़िता ने फोन कर पुलिस को दी जानकारी

  • पिता पर पास्को एक्ट के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया

इंदौर, मध्यप्रदेश। पुलिस द्वारा महिला व बच्चों के विरुद्ध होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए समय-समय पर किए जाने वाले अभियान का असर नजर आने लगा है। गांधीनगर इलाके की 10 साल की बच्ची ने महिला थाना प्रभारी ज्योति शर्मा को फोन कर आपबीती बताई, जिस पर उसके पिता के खिलाफ पास्को एक्ट के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया।

टीआई ज्योति शर्मा के अनुसार शुक्रवार दोपहर एक अज्ञात नंबर से फोन आया, फोन करने वाली बच्ची ने रुआंसा होकर बताया कि उसके पापा बहुत गंदी हरकत करते हैं। 15 मिनिट बाद दोबारा फोन कर पीड़िता ने जल्दी गांधीनगर इलाके में आने को कहा। इस पर महिला पीसीआर में प्रधान आरक्षक सुंदरलाल और आरक्षक साधना शुक्ला को रवाना किया गया। आरक्षक साधना शुक्ला ने गांधीनगर जाकर बालिका से संपर्क कर तलाश करते हुए उसके घर पहुंची। यहां पड़ोसियों ने बताया कि बच्ची का पिता उस बालिका को और उसके छोटे भाई को लेकर जा चुका है। इस पर आरक्षक ने पुन: बालिका से बात की, जिसके बताने पर टीम ने पिता के साथ पकड़ लिया। इस दौरान बच्ची की मां भी मौके पर पहुंची। परिवार को पीसीआर वैन से महिला थाने लाया गया। घटनाक्रम से अधिकारियों को अवगत कराते हुए बालिका से तसल्ली देकर उसकी मां के समक्ष विस्तृत बातचीत की गई। बालिका ने जो बताया उससे सभी के रोंगटे खड़े हो गए। बच्ची ने बताया कि उसका पालनहार पिता ही उसके ऊपर गलत नीयत रखकर उसके साथ गलत व्यवहार करता था। इस पर पिता के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में प्रकरण पंजीबद्ध कर तत्काल उसे गिरफ्तार कर लिया।

अभियान के दौरान बांटे पर्चे से मिला नंबर :

टीआई के अनुसार बालिका 10 वर्ष की एक मासूम है, लेकिन हिम्मत उसमें कूटकूट कर भरी है। उसने पिता के द्वारा की गई हरकतों का पुरजोर विरोध किया और उम्र से बढ़कर कदम उठाते हुए शिकायत करने हिम्मत भी दिखाई। जब बालिका से पूछा गया कि आपको नंबर कैसे मिला तो उसने मासूमियत से जवाब दिया कि पुलिस की टीम बहुत दिन पहले एक बार आए थे ना और आपने पर्चे बांटे थे, उसमें से मैंने आपका नंबर देखा और फोन किया। कार्रवाई में साहसी बालिका सहित महिला थाने की एसआई रूपाली भदौरिया, प्रआर चालक सुंदरलाल, आर. मनोज तथा साधना शुक्ला का योगदान रहा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co