इंदौर : सेलून कर्मचारी से लेकर फर्नीचर का काम करने वाले निकले तस्कर
सेलून कर्मचारी से लेकर फर्नीचर का काम करने वाले निकले तस्करसांकेतिक चित्र

इंदौर : सेलून कर्मचारी से लेकर फर्नीचर का काम करने वाले निकले तस्कर

इंदौर, मध्य प्रदेश : पुलिस और क्राइम ब्रांच मिलकर नशे के खिलाफ अभियान चला रहे हैं जिसमें अन्य राज्यों के तस्करों तथा ड्रग्स सप्लायरों के विरूद्ध जानकारी एकत्र कर उनकी धरपकड़ की जा रही है।

हाइलाइट्स :

  • अब तक 70 किलो एमडी गैंग के 25 सदस्य हो चुके हैं गिरफ्तार

  • क्राइम ब्रांच ने दबौचे फिर तीन नशे के सौदागर

इंदौर, मध्य प्रदेश। पुलिस और क्राइम ब्रांच मिलकर नशे के खिलाफ अभियान चला रहे हैं जिसमें अन्य राज्यों के तस्करों तथा ड्रग्स सप्लायरों के विरूद्ध जानकारी एकत्र कर उनकी धरपकड़ की जा रही है। डीआईजी मनीष कपूरिया द्वारा एसपी मुख्यालय अरविन्द तिवारी एवं एएसपी क्राइम गुरु प्रसाद पाराशर को पूर्व में 70 किलो एमडी ड्रग्स के साथ पकड़े गए आरोपियों के संदर्भ में दर्ज प्रकरण की विवेचना के लिए प्लानिंग कर नशे के सौदागरों को दबौचने के निर्देश दिए हैं। क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार तस्करों से मिली जानकारी के आधार पर फिर से नशे के तीन सौदागरों को पकड़ा है। इनमें से एक सेलून की दुकान पर काम करने वाला है, दूसरा लिफ्ट वेल्डिंग का काम करता है और तीसरा फर्नीचर का काम करता है। इनसे अन्य तस्करों के बारे में सुराग मिलने की संभावना है।

उल्लेखनीय है कि 5 जनवरी को क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा हैदराबाद तेलंगाना व इंदौर के ड्रग्स तस्करों को पकड़ा गया था । जिनसे 70 करोड़ रूपये कीमत की 70 किलो एमडी ड्रग्स बरामद हुई थी । इस मामले में तब से अब तक 25 आरोपी पकड़े जा चुके हैं। पुलिस रिमाण्ड की गई आरोपियों से पूछताछ में जिन संलिप्त लोगों के नाम प्रकाश में आये है, विवेचना दल की टीम द्वारा उनकी लगातार खोजबीन की जा रही है । इसी कड़ी में गुरुवार को 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

नशेड़ी भी बन गए और नशे के सौदागर भी :

गिरफ्तार आरोपियों के नाम जुनेद पिता इमदाद कुरेशी, ग्रीन पार्क कॉलोनी, ईशान उर्फ इसरार पठान पिता इरफान पठान, सदर बाजार एवं फैज पिता अमजद शेख, भिस्ती मोहल्ला, सदर बाजार बताए गए हैं। पूर्व में क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा ड्रग तस्करी के मामले में जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था उनमें आरोपी नाजिम एवं रहीस ने पूछताछ में इन तस्करों के नामों का खुलासा किया गया था। इनकी तलाश करते हुए इन्हें दबौचा गया। आरोपी जुनैद के कब्जे से एक मोबाइल जप्त किया गया है। आरोपी जुनैद ने आरंभिक पूछताछ में पुलिस टीम को बताया कि वह कक्षा आठवीं तक पढ़ा है तथा पूर्व में सलून पर काम करता था। विगत 5 वर्षों से गांजा चरस एवं अन्य मादक पदार्थों का सेवन कर रहा था। उसने नाजिम से संपर्क कर कई बार ड्रग्स खरीदी है। इसके अलावा नाजिम को आवश्यकता होने पर अन्य तस्करों से संबंध स्थापित कर जुनैद ने उसको एमडी ड्रग्स मुहैया कराई थी। आरोपी ने बताया कि पन्नी के पाउच में वह 10 से लेकर 50 ग्राम तक ड्रग्स एक बार में खरीदी बेची कर लेता था।

आरोपी ईशान ने बताया कि वह कक्षा आठवीं तक पढ़ा है तथा लिफ्ट वेल्डिंग का काम करता है। उसके साथियों के साथ वह एमडी ड्रग्स का नशा करने का आदी हो गया था एवं कई बार उसने आरोपी नाजिम एवं अन्य लोगों के संपर्क में आकर ड्रग्स की खरीदी बिक्री की है जिसमें वह सीधे सप्लाई के साथ ही कमीशन के तौर पर भी ग्राहकों की खोज करता था।

मोहम्मद फैज सदर बाजार का रहने वाला है जो कि पूर्व में फर्नीचर का काम करता था आरोपी ने बताया कि वह अपने साथियों के साथ मिलकर एमडी ड्रग्स का नशा करने का आदी हो गया था तथा ड्रग्स खरीदने के लिए पैसों की आवश्यकता होने पर ड्रग्स की खरीदी बिक्री में भी सम्मिलित हो गया था जिसने पूछताछ में कई अन्य संलिप्त लोगों के नाम का कबूले हैं। पुलिस को आरोपियों से अन्य तस्करों के बारे में महत्वपूर्ण सुराग एवं अन्य जानकारी मिलने की संभावना है। इन्हें रिमांड पर लेकर ये सच्चाई पता लगाई जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co