Indore : अकाउंटेंट ने मालिक बनकर खाता खुलवाया और कर डाली 1.63 करोड़ की धोखाधड़ी
1.63 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाला अकाउंटेंट गिरफ्तारसांकेतिक चित्र

Indore : अकाउंटेंट ने मालिक बनकर खाता खुलवाया और कर डाली 1.63 करोड़ की धोखाधड़ी

इंदौर, मध्यप्रदेश : नामी कंपनी के पूर्व अकाउंटेंट ने कंपनी का मालिक बनकर करीब 1.63 करोड़ की धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया। तुकोगंज पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

इंदौर, मध्यप्रदेश। नामी कंपनी के पूर्व अकाउंटेंट ने कंपनी का मालिक बनकर करीब 1.63 करोड़ की धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया। तुकोगंज पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। आरोपी पूर्व में भी धोखाधड़ी के मामले में लिप्त रहा था। आरोपी ने मेगा बिल्डर्स प्रोजेक्ट प्रोग्रेसिव के साथ ये धोखाधड़ी की है। उसने बैंक में कंपनी का मालिक बनकर खाता खुलवाया और कंपनी के नाम से फर्जी रसीदें छपवाकर 30 लोगों को प्लाट बेच दिए।

पुलिस के मुताबिक स्कीम 54 विजय नगर में रहने वाले आशीष शर्मा की शिकायत पर आरोपी कार्तिक पिता प्रहलाद पटेल, निवासी सागर को 1.63 करोड़ डेढ़ करोड़ रुपये की धोखाधड़ी में गिरफ्तार किया है। आशीष के मुताबिक आशीष पचौरी के साथ पार्टनरशिप में मेगा बिल्डर्स फर्म है। कंपनी के सांवेर रोड पर प्रोग्रेसिव पार्क और प्रोग्रेसिव पाम के नाम से दो प्रोजेक्ट चल रहे हैं। कार्तिक 2019 से कंपनी में अकाउंटेंट के रूप में काम कर रहा था। कुछ अरसे पहले कार्तिक के बारे में पता चला कि उसने लेनदेन में गड़बड़ी कर कंपनी में एक लाख 51 हजार रुपये का गबन किया है। कंपनी ने अंदरुनी मामले को जैसे-तैसे सुलझा लिया था। 15 फरवरी को आनंद वर्मा उनके द्वारा खरीदे प्लाट की शेष राशि जमा करने आए तो पता चला कि कार्तिक ने कंपनी की फर्जी रसीदों से कई प्लाट बेच दिए और लाखों रुपये ले लिए। पुलिस ने जांच की तो ये बात सामने आई कि कार्तिक ने अजय वर्मा, संजय सोनी, महेश मेवाड़ा सहित दो दर्जन से 'यादा लोगों को फर्जी तरीके से प्लाट बेचकर 1.63 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी कर डाली है। आरोपी कार्तिक ने एचडीएफसी न्यू पलासिया बैंक में खुद को प्रोपायटर बनाकर खाते खुलवाया था और उसी खाते में ये धोखाधड़ी का पैसा जमा हुआ था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.