Indore : दोस्त को लगाया 54 हजार का चूना, दो साल बाद सायबर सेल ने पकड़ा
दोस्त को लगाया 54 हजार का चूना, दो साल बाद सायबर सेल ने पकड़ासांकेतिक चित्र

Indore : दोस्त को लगाया 54 हजार का चूना, दो साल बाद सायबर सेल ने पकड़ा

इंदौर, मध्यप्रदेश : दोस्त के क्रेडिट कार्ड पर 54 हजार की खरीदी कर फरार हुआ बीई पास आरोपी दो साल बाद सायबर सेल को बुरहानपुर में नौकरी करता मिला।

हाइलाइट्स :

  • बीई पास आरोपी, बुरहानपुर में कर रहा था नौकरी

  • परिवार ने गुमशुदगी दर्ज कराई थी, गिरफ्तारी पर इनाम था

इंदौर, मध्यप्रदेश। दोस्त के क्रेडिट कार्ड पर 54 हजार की खरीदी कर फरार हुआ बीई पास आरोपी दो साल बाद सायबर सेल को बुरहानपुर में नौकरी करता मिला। उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार रुपए का इनाम घोषित था, वहीं परिवार ने भी उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

सायबर सेल एसपी जितेन्द्र सिंह के अनुसार 22 अगस्त 19 को मदनलाल पिता नागूलाल वर्शी नि. महिदपुर हामु दुबे का बगीचा इंदौर ने आवेदन कर बताया कि उसने एचडीएफसी बैंक का क्रेडिट कार्ड बनवाया था। उसने 9 जुलाई को क्रेडिट कार्ड से 500 रु. का पेट्रोल डलवाया था। उसके बाद स्टेटमेंट चेक करने पर कार्ड से 54 हजार का ट्रांजेक्शन होना पाया गया, जिसका उसके पास मैसेज भी नहीं आया। शिकायत की गंभीरता को देखते एसपी द्वारा स.उ.नि. रामपाल को जांच सौपी। जांच के दौरान संदिग्ध पेटीएम वालेट नंबर और बैंक खातों की जानकारी प्राप्त कर राज्य सायबर सेल जोन इन्दौर द्वारा धारा 420, 201 भादवि एवं 66डी आईटी एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना निरीक्षक सोनल सिसोदिया को सौपी गई।

विवेचना के दौरान बैंक खाता व पेटीएम नंबरों का तकनीकी विश्लेषण करने पर पता चला कि महादेव पिता जगदीश यादव निवासी सरस्वती नगर उज्जैन की अपराध मे संलिप्ता है। आरोपी की तलाश में जब पुलिस टीम उसके घर पहुंची तो परिजनों ने बताया कि महादेव घर से फरार है, जिसकी गुमशुदी संयोगितागंज थाना पर दर्ज करवाई है। गिरफ्तारी के भरकस प्रयास के बावजूद महादेव नहीं मिला तो रा'य सायबर सेल द्वारा उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। सायबर सेल की टीम को गत दिनों पता चला कि आरोपी महादेव बुरहानपुर में हो सकता है। इस पर स.उ.नि. रामपाल, स.उ.नि. मनोज, आर. दिनेश की टीम को बुरहानपुर पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में महादेव ने बताया कि उसने बी.ई. कर रखी है और फिलहाल वाटर प्यूरीफाई व्हाइट मेटल कम्पनी बुरहानपुर में सुपरवाइजर का काम कर रहा हूं। मेरे पास पैसे की तंगी एवं उधारी चुकाने के लिए अपने ही दोस्त के क्रेडिट कार्ड से 54 हजार रूपए का अवैध ट्रांजेक्शन अपने पेटीएम वालेट में किया तथा वालेट से बैंक अकाउंट मे ट्रांसफर कर दिए। उसके बाद मोबाइल बंद करके वह कर्नाटक, राजस्थान चला गया। सायबर सेल टीम ने अपराध मे प्रयुक्त मोबाइल एवं एटीएम कार्ड जप्त करते हुए आरोपी के बैंक खाते में जमा 21 हजार रुपए फ्रीज करवाए गए। उससे और पूछताछ की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co