डकैतों ने मां के सिर पर बंदूक तानकर डाली डकैती : सीए
घर जहां वारदात को अंजाम दिया डकैतों नेRaj Express

डकैतों ने मां के सिर पर बंदूक तानकर डाली डकैती : सीए

इंदौर, मध्य प्रदेश : हाईलिंक सिटी में हुई निखिल चौपड़ा एवं राजेंद्र जैन के घर हुई डकैती के मामले में पुलिस को अहम सुराग मिल गए हैं।

हाइलाइट्स :

  • टांडा धार के गैंग ने डाली है डकैती

  • डकैतों के बारे में मिले अहम सुराग

  • स्पेशल टीम के साथ क्राइम ब्रांच की टीम भी जुटी

इंदौर, मध्य प्रदेश। हाईलिंक सिटी में हुई निखिल चौपड़ा एवं राजेंद्र जैन के घर हुई डकैती के मामले में पुलिस को अहम सुराग मिल गए हैं। डकैतों के फुटेज भी एक्सपर्टस टीम को सौंप दिए गए हैं, टीम इनके असली चेहरे जल्द ही निकाल लेगी। डकैती में टांडा धार के गैंग का हाथ होने का अंदेशा है। स्पेशल टीम के साथ ही क्राइम ब्रांच की टीम भी इनवेस्टीगेशन में जुट गई है। पुलिस का दावा है कि आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वारदात के बाद एरोड्रम इलाके में सनसनी फैल गई है। इनफारमर्स की टीम को भी सक्रिय किया गया है। सीए निखिल चौपड़ा ने कहा है कि डकैतों ने मेरी मां के सिर पर बंदूक अड़ाकर माल लूटा है।

सीए चोपड़ा ने बताया कि "बदमाशों के पास हथियार भी थे। उन्होंने मेरी मां को बंदूक अड़ाकर मारपीट भी की, आसपास के लोगों को घर से नहीं निकलने दिया। बार-बार धमकी दे रहे थे कि यदि कोई आया तो गोली मार देंगे। 7-8 लोगों ने घर पर वारदात को अंजाम दिया है। मैं ऊपर की मंजिल पर पत्नी और बेटी के साथ सो रहा था।"

उन्होंने कमरे का दरवाजा बंद कर दिया था। उन लोगों ने मेरे माता-पिता पर डंडे से वार किए। पिताजी ने हाथापाई भी की थी लेकिन मां के सिर पर बंदूक तनी होने के कारण वे ज्यादा कुछ नहीं कर पाए। सूत्र बताते हैं कि यहां से करीब 40-45 तौला सोना और जेवर डकैत ले गए हैं। निखिल के पिता सराफा के कारोबारी भी रहे हैं। उनकी पत्नी के शरीर पर भी काफी सोने के जेवर हैं। इसके अलावा डकैतों ने बंदूक अड़ाकर माल एकत्र किया। निखिल के माता-पिता के साथ मारपीट भी की गई है। उन पर डंडो से वार किए गए थे।

इसके साथ ही दवा व्यापारी राजेंद्र जैन के घर भी इसी गैंग ने धावा बोला है। जैन फिलहाल देहरादून में हैं। उनके रिश्तेदार सुशील जैन के मुताबिक बदमाश यहां से 26-27 तौला सोना एवं करीब डेढ़ किलो चांदी के जेवर चुराकर ले गए हैं। कुछ नकदी भी लेकर गए हैं। डकैतों में केवल दो ने ही मास्क लगाए थे बाकी सब बिना मास्क के आए थे। जैन के मुताबिक डकैतों की संख्या 8-9 थी। बदमाशों ने अलमारी के ताले तोड़े और जेवर लेकर फरार होने में कामयाब हो गए।

जल्द ही खुलासा कर देगें : आईजी

आईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने बताया कि डकैतों के बारे में पुलिस टीम ने काफी अहम सुराग जुटा लिए हैं। टांडा-धार की गैंग का हाथ होने का अंदेशा है। फुटेज से भी आरोपियों की पहचान में काफी मदद मिल रही है। एएसपी के नेतृत्व में विशेष टीम बनाई गई है। कुछ टीमें शहर के बाहर भी भेज दी गई हैं।

क्राइम ब्रांच की टीम भी जुटी :

डकैती को लेकर क्राइम ब्रांच की टीम भी जुट गई है। क्राइम ब्रांच के तेज तर्रार अफसरों को डकैतों की गिरफ्तारी की जिम्मेदारी सौंप दी गई है। क्राइम ब्रांच के इनफारमर्स भी सक्रिय हो गए हैं। क्राइम ब्रांच के सूत्र बताते हैं कि आरोपियों की पहचान लगभग हो गई है जल्दी ही इन्हें दबौच लिया जाएगा।

रैकी कर तो नहीं हुई वारदात :

हाईलिंक सिटी में जिस तरह वारदात हुई है उससे ये भी शक है कि रैकी कर ये वारदात तो नहीं की गई है। इसमें किसी परिचित नौकर या नौकरानी का हाथ होने का भी अंदेशा जताया जा रहा है। इसके साथ ही कालोनी के आसपास रहने वाले मजदूरों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है कि इनमें से कितने गायब हैं। पूर्व में भी इस तरह की वारदातों के खुलासे के दौरान ये बात सामने आई थी कि टांडा-धार के गैंग के सदस्य मजदूर बनकर रैकी करते हैं। इसके साथ ही उनके गांव में रहने वाले मजदूर को भी वह पैसे का लालच देकर उनसे पूरी जानकारी ले लेते हैं।

कैसे हुई गैंग फरार :

वारदात के बाद ये गैंग कैसे फरार हुई इस बिन्दु पर भी पुलिस छानबीन कर रही है। स्पाट से आसपास के रास्तों पर लगे सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। शहर के बाहर जाने वाले रास्तों पर भी छानबीन की जा रही है। डकैती रात को तीन साढे तीन बजे हुई है। उस समय को ध्यान में रखते हुए भी पुलिस फुटेज खंगालने में जुट गई है।

गार्ड को देखकर छिप गए थे बदमाश :

जैन के निवास पर वारदात के दौरान वहां से कालोनी का चौकीदार भी निकला था। बदमाश उसे देखकर छिप गए थे। उसके जाने के बाद उन्होंने वारदात को अंजाम दिया और फरार हो गए। पता चला है कि हुलिए के मुताबिक कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उनसे ये भी जानकारी ली जा रही है कि वारदात के समय पर वे कहां थे और क्या कर रहे थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co