Indore : शेयर में लाभ के नाम पर नौ साल में कर डाली करोड़ों की ठगी, आरोपी पुलिस गिरफ्त में
शेयर में लाभ के नाम पर नौ साल में कर डाली करोड़ों की ठगीसांकेतिक चित्र

Indore : शेयर में लाभ के नाम पर नौ साल में कर डाली करोड़ों की ठगी, आरोपी पुलिस गिरफ्त में

इंदौर, मध्यप्रदेश : शेयर व्यापार मे अधिक मुनाफा देने के नाम से झूठ बोलकर 40 लाख की ठगी में कंपनी डायरेक्टर सहित तीन गिरफ्तार।

इंदौर, मध्यप्रदेश। क्राइम ब्रांच को मिली तीन शिकायतों में फरियादी से आरोपियों के द्वारा शेयर व्यापार मे अधिक मुनाफा देने के नाम से झूठ बोलकर झांसे में लेते हुए 40,25,400 रुपए लेकर ठगी की वारदात को अंजाम दिया गया। आरोपियों द्वारा 2013 से अभी तक कई लोगो से शेयर्स एडवाइजरी फीस एवं इन्वेस्टमेंट के नाम पर करोड़ो रुपए लेकर ठगी करना स्वीकारा है। इनसे पूछताछ में ठगी के कई मामले सामने आने की संभावना है। आरोपी देश के विभिन्न राज्यों के लोगो से संपर्क कर उन्हे झूठ बोलते हुए की देश में सबसे अच्छी शेयर ट्रेडिंग कॉल्स देने का वादा कर ठगी करते थे। पैसा खाते में आने के बाद संपंर्क तोड़ देते थे।

पुलिस कमिश्नर हरिनारायणचारी मिश्र के निर्देश के बाद एडिशनल कमिश्नर राजेश हिंगनकर, क्राइम ने अपनी टीम को ऐसे मामलों में जांच-पड़ताल कर आरोपियों की धरपकड़ के निर्देश दिए थे। क्राइम ब्रांच की टीम ने विशेष मुखबिरों को भी सक्रिय किया था।

क्राइम ब्रांच के दफ्तर में फरियादी द्वारा मुंबई की महिला आवेदिका सहित कुल तीन शिकायत प्राप्त हुई थी जिसकी जांच फ्राड इनवेस्टीगेशन सेल टीम द्वारा कराई गई थी। शिकायत में भंवरकुआ क्षेत्र के 3, विष्णुपुरी के पर्ल बिजनेस पार्क 303, 304, 305 स्थित मार्केट मेग्नीफाइ इनवेस्टमेंट एडवाइजरी प्रालि कंपनी के ऑनर अभिनव उपाध्याय एवं डायरेक्टर हिताक्षी माहेश्वरी और नीलाभ सिंह द्वारा आवेदिका गीता से 15 लाख 72 हजार, आवेदक विजय से 18 लाख 91 हजार 400 एवं आवेदक प्रवीण से 5 लाख 62 हजार रुपए प्राप्त कर तीनों आवेदकों से 40 लाख 25 हजार 400 रुपए ऑनलाइन बैंक खाते में प्राप्त कर उन्हें शेयर बाजार के व्यापार मे पैसे निवेश करने व अधिक मुनाफा देने का झूठा वादा कर ठगी की गई। ठगी करने के बाद भी फरियादी को और अधिक निवेश करने एवं एडवाइजरी फीस देने के लिए धमकी दी जा रही थी। क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपियों की जानकारी निकालकर अभिनव उपाध्याय पिता महेश उपाध्याय निवासी शिवसागर कॉलोनी बीजलपुर,हिताक्षी (माहेश्वरी) पाहूजा पति प्रेम पाहूजा निवासी पलसीकर कॉलोनी और नीलाभ सिंह जादौन पिता सुरेंद्र सिंह निवासी विदिशा, हाल मुकाम - बालाजी पैराडाइज देव गुराड़िया को पकड़ा।

बचने के लिए जबलपुर चले गए थे :

आरोपियों से पूछताछ करने पर बताया कि वर्ष 2013 से भंवरकुआ क्षेत्र के 3-विष्णुपुरी के पर्ल बिजनेस पार्क स्थित ये कंपनी इंदौर में संचालित की जा रही थी, जिसके शहर में और भी कई ऑफिस थे जिसके माध्यम से आरोपियों ने कई लोगो को शेयर बाजार के व्यापार मे पैसे निवेश करने व अधिक मुनाफा देने का झूठा वादा करते ऑनलाइन कंपनी के खाते में करोड़ो रुपए ऑनलाइन डलवाकर धोखाधड़ी करते थे। संबंधित पीड़ितों द्वारा शिकायत करने पर आरोपियों ने कंपनी के ऑफिस को जबलपुर भी शिफ्ट कर लिया था। जिससे पीड़ित उनसे संपर्क न कर सकें और ठगी गई राशि वापस न करना पड़े। तीनों आरोपियों ने धोखाधड़ी की वारदात स्वीकारी है। क्राइम ब्रांच इंदौर द्वारा तीनों शातिर आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरुद्ध थाना अपराध शाखा में धारा 420, 409, 504, 34 के तहत केस दर्ज कार्रवाई की जा रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co