अनोखे तरीके से प्रतिमाह करोड़ों का पेट्रोल-डीजल चोरी करने वाली गैंग का पर्दाफाश
पेट्रोल-डीजल चोरी करने वाली गैंग का पर्दाफाशRavi Verma

अनोखे तरीके से प्रतिमाह करोड़ों का पेट्रोल-डीजल चोरी करने वाली गैंग का पर्दाफाश

इंदौर, मध्यप्रदेश : पेट्रोल-डीजल चोरी कर प्रतिमाह करोड़ों रुपए का चूना लगाने वाली गैंग का पर्दाफाश कर पुलिस ने 1.40 करोड़ रुपए के 7 टैंकर जब्त किए हैं। अनोखे तरीके से पेट्रोल-डीजल चोरी करता था गैंग।

इंदौर, मध्यप्रदेश। पेट्रोल-डीजल चोरी कर प्रतिमाह करोड़ों रुपए का चूना लगाने वाली गैंग का पर्दाफाश कर पुलिस ने 1.40 करोड़ रुपए के 7 टैंकर जब्त किए हैं। गैंग बड़े ही अनोखे तरीके से पेट्रोल-डीजल चोरी करता था। टैंकरों में एक विशेष कंपार्टमेंट बनाकर ये गोरखधंधा किया जा रहा था। पुलिस ने टैंकर मालिक, ड्राइवर, कंडक्टर एवं टैंकर में चोरी के लिए विशेष कंपार्टमेंट बनाने वाले सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनसे पूछताछ में और कई खुलासे होने की संभावना है।

आपरेशन क्राइम कंट्रोल के तहत पुलिस ने विशेष इनफारमर्स की टीम को सक्रिय किया है। कुछ दिनों से पेट्रोल पंप मालिकों ने आशंका जाहिर की थी कि उनके यहां आने वाले टैंकरों में कुछ गड़बड़ी है। अक्सर पेट्रोल-डीजल में कमी आती है। इसे लेकर विशेष इनफारमर्स को सच्चाई का पता लगाने के लिए सक्रिय किया गया। इसी तरह के एक विशेेष इनफारमर्स से खुडैल पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ पेट्रोल डीजल के टैंकर उनमें एक विशेष चोरी का कंपार्टमेंट बनाकर एक संगठित गिरोह का संचालन कर पेट्रोल पंप मालिकों को चूना लगा रहे हैं। उक्त संगठित गिरोह की जानकारी प्राप्त होने पर आईजी हरिनारायणाचारी मिश्र व डीआईजी मनीष कपूरिया के मार्गदर्शन में एसपी महेश चन्द्र जैन द्वारा दिए गए दिशा निर्देशानुसार एएसपी महू पुनीत गेहलोत व डीएसपी अजय वाजपेयी के नेतृत्व खुडैल पुलिस की एक टीम को इस प्रकार के टैंकर की गिरोह जांच के लिए सक्रिय किया गया।

टैंकर में कैसे बनाया था चोरी का कम्पार्टमेंट :

टीम ने मुखबिर की सूचना पर कम्पेल रोड पर प्रतीक पेट्रोल पम्प के पास मैन रोड से टैंकर को रोककर चैक किया तो पाया गया कि टैंकर के तीन पार्टीशन मे से बीच के पार्टीशन मे एक छोटा कम्पार्टमेंट करीब 250 लीटर क्षमता का बना हुआ है। जो एक वाल के जरिये खोला व बन्द किया जाता है। वाल को चलाने के लिए लोहे की एक चाबी है। डिपो मे टैंकर को भरते समय वाल खुला रहता है और डीजल उसके क्षमता अनुसार उसके चोर कम्पार्टमेंट मे भर जाता है तथा फिर चाबी से वाल बंद कर दिया जाता है । पेट्रोल पम्प पर टैंकर को खाली करते समय उक्त चोर कम्पार्टमेंट को बंद कर देते थे, जिससे डीजल टैंकर में रह जाता था जो बाद मै टेंकर से कैन में खाली कर टैंकर चालक व मालिक डीजल की चोरी कर तथा स्वयं लाभ प्राप्त कर पेट्रोल पम्प मालिक को हानि पहुंचाकर उसके साथ धोखाधड़ी कर रहे थे।

ऐसे खुली पोल :

इस पर तत्काल प्रतीक पेट्रोल पम्प पर चैक करते मैनेजर द्वारा चैक कर 208 लीटर डीजल कम प्राप्त होना की बात लिखित रुप से दी। पुलिस द्वारा उक्त टैंकर तथा उसके चालक दिलीप पिता बहादुर केलकर, निवासी मानकपुर, आगर मालवा, कंडक्टर अजय पिता बहादुर केलकर, आगर मालवा, संचालक पिन्टू पिता जुगलसिंह राठौर, निवासी ग्राम सतवाडा, भीकनगांव हाल पता महादेव सहारा मांगलिया को हिरासत मे लेकर पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि टैंकर मे चोर कम्पार्टमेंट देवास नाका पर चन्द्रशेखर नरवरिया से करीब 6 माह पूर्व 35 हजार रुपये देकर तैयार कराया था। पुलिस द्वारा चोर कंपार्टमेंट बनाने वाले चंद्रशेखर नरवरिया को भी पकड़ा गया है।

प्रत्येक ट्रिप में 100 से 200 लीटर डीजल-पेट्रोल की चोरी :

ये लोग प्रत्येक ट्रिप मे कम से कम 100 से 200 लीटर डीजल-पेट्रोल की चोरी कर पेट्रोल पम्प मालिक के साथ धोखाधड़ी करते हैं। ऐसे कई टैंकरों के होने की जानकारी मिली है। ये लोग प्रतिमाह करोडों रुपए की धोखाधड़ी को अंजाम दे रहे थे। खुडैल पुलिस ने धारा 420, 379 में केस दर्ज कर टैंकर जब्त कर दिलीप केलकर, अजय केलकर व पिन्टू राठौर के साथ ही चोर कम्पार्टमेंट बनाने वाले चंद्रशेखर नरवरिया को भी हिरासत में ले लिया है। चंद्रशेखर ने आरोप स्वीकार करीब 10 टेंकरो मे इस प्रकार से चोर कम्पार्टमेंट बनाने की बात कबूली है। सम्पूर्ण कार्यवाही मे 7 टेंकर पुलिस ने जब्त कर लिए हैं,अन्य की भी चैकिंग की जा रही है । आरोपियों को गिरफ्तार करने में महेन्द्रसिंह भदौरिया थाना प्रभारी खुडैल, सब इंस्पेक्टर कृष्णा पदमाकर, विक्रमसिंह सोलंकी, एएसआई सुरेश पवार, दिनेश यादव, पारस चौधरी, प्रवीण, नवीन व सैनिक सौदान की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.