Indore : भंवरकुआं में डकैती, घर में घुसते ही डकैत बोले 9 करोड़ कहां हैं..?
भंवरकुआं में डकैतीSyed Dabeer Hussain - RE

Indore : भंवरकुआं में डकैती, घर में घुसते ही डकैत बोले 9 करोड़ कहां हैं..?

इंदौर, मध्यप्रदेश : भंवरकुआं में दिन दहाड़े सनसनीखेज डकैती, सीसीटीवी में कैद वारदात। रिवाल्वर की नोक पर पूरे परिवार को बनाया बंधक। डेढ़ लाख ले गए नकाबपोश डकैत, पुलिस का दावा जल्द सुलझेगी गुत्थी।

इंदौर, मध्यप्रदेश। भोलाराम उस्ताद पर गुरुवार को दिन दहाड़े फिल्मी स्टाइल में पंडित जयप्रकाश वैष्णव के घर डकैती की वारदात हो गई। डकैतों को ये सूचना मिली थी कि यहां पर 9 करोड़ रुपए हैं। वे वारदात करने पहुंचे तो उन्हें 9 करोड़ रुपए नहीं मिले इसके लिए पूरा घर उथल-पुथल कर दिया। इसके बाद ड्राज में रखे 1.50 लाख रुपए ले उड़े। बाइक पर आए 6 बदमाशों में से एक के हाथ में रिवाल्वर थी और पांच के हाथ में चाकू थे। उन्होंने एक युवती को गन पाइंट पर ले रखा था और उसकी छोटी बहन एवं मां को कमरे में बंद कर हाथ पैर बांध दिए थे। डकैती वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। सायबर एक्सपर्ट फुटेज के आधार पर डकैतों की पहचान करने में जुटे हैं। एसपी महेशचंद जैन का कहना है कि डकैतों के बारे में कुछ क्लू मिले हैं उसके आधार पर एएसपी,सीएसपी और तीन थानों की पुलिस टीम डकैतों की तलाश में जुटी हुई है। भंवरकुआं पुलिस ने केस दर्ज किया है।

दोपहर में कब हुई वारदात :

दोपहर करीब 12.38 बजे भोलाराम उस्ताद मार्ग पर रहने वाले पंडित जयप्रकाश वैष्णव के घर में एक साथ 6 बदमाश घुसे। उस वक्त घर में छोटी बेटी श्वेता और उसकी मां भावना वैष्णव थी। डकैतों मेें से एक के हाथ में रिवाल्वर थी और बाकी के हाथ में चाकू थे। इन लोगों ने कपड़े से चेहरे ढंक रखे थे। एक डकैत ने हेलमेट लगा रखा था अन्य डकैतों ने केप और मंकी कैप लगा रखी थी। डकैतों ने घर में घुसते ही पूछा कि 9 करोड़ रुपए कहां रखे हैं..? मां-बेटी ने कहा कि यहां 9 करोड़ रुपए नहीं है,इस बारे में हम कुछ नहीं जानते। तब डकैतों ने श्वेता और उसकी मां को एक कमरे में बंद किया और हाथ पैर बांध दिए। तभी वहां उनकी बेटी नेहा आई तो उसे गन पाइंट पर ले लिया। इसके बाद डकैतों ने पूरे घर को उथल-पुथल कर डाला। ये जेवर ले जाने लगे तो बेटी ने कहा कि ये तो नकली है,तब डकैत ये जेवर छोड़ गए। घर की तलाशी लेेने पर उन्हें ड्राज में रखे 1.50 लाख रुपए मिले वे ले गए। जाते समय नेहा के भी हाथ पैर बांध गए।

किराएदार छात्रा को भी बनाया बंधक :

शोरगुल होने पर उनकी छतरपुर की रहने वाली किराएदार छात्रा सीमा यादव वहां पहुंची तो उससे पूछा कि तुम कहां की हो सीमा ने कहा कि मैं बुंदेलखंड से हूं तो डकैत बोले हम भी बुंदेलखंडी हीं है। उन्होंने सीमा के भी हाथ पैर बांध दिए थे और उसे भी पंडित वैष्णव के घर में कैद कर दिया था। जाते समय डकैत बाहर से दरवाजा बंद कर गए थे। इनके जाने के बाद नेहा ने सबके बंधन खोले । पड़ोसियों,परिचितों एवं पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस टीम तत्काल वहां पहुंची। पुलिस टीम के साथ ही एफएसएल की टीम भी मौजूद थी। घर से कुछ फिंगर प्रिंट भी लिए गए हैं। वारदात यहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। उसके फुटेज भी कलेक्ट कर लिए गए हैं। कुछ पुराने बदमाशों से फुटेज की पहचान की जा रही है। फुटेज में डकैतों के हाव-भाव, पहचान के लिए एक्सपर्टस की टीम सक्रिय हो गई है।

कोरोना से हुआ था निधन पंडित वैष्णव का :

पिछले साथ दिसंबर में पंडित वैष्णव का कोरोना के कारण निधन हो गया था। वे जाने-माने 'योतिष थे,उनके बाद 'योतिष का काम उनकी बेटी देखती थी। उनके पास कई प्रतिष्ठित एवं रसूखदार भी भविष्य जानने आते थे। वारदात के बाद मां बेटियां बेहद डरी हुई हैं। आसपास के रहने वाले लोग भी डकैती की इस वारदात से सहमे हुए हैं। पुलिस के लिए भी ये डकैती चुनौती बन गई है।

जल्द होगा वारदात का खुलासा - एसपी

एसपी महेशचंद जैन ने बताया कि इस बात की जांच चल रही है कि डकैत कौन थे और उन्हें ये टिप कहां से मिली थी कि इस घर में भारी पैसा है। डकैती की वारदात के हर पहलू को परखा जा रहा है। फुटेज के आधार पर डकैतों की पहचान की कोशिश कर रही है। एएसपी,सीएसपी सहित तीन थानों की पुलिस इस गुत्थी को सुलझाने मेें लगी है। पुलिस को कुछ क्लू मिले हैं जिनके आधार पर पड़ताल चल रही है। जल्द ही इस वारदात का खुलासा हो जाएगा।

20 से 25 मिनट तक घर में रहे डकैत :

पंडित वैष्णव के परिचित पवन शर्मा ने बताया कि डकैतों की संख्या छह थी और वे हथियारबंद थे। उन्होंने आते ही श्वेता और उसकी मां भावना को एक कमरे में बंद कर हाथ पैर बांध दिए थे। उन्हें यहां पर भारी रकम की सूचना मिली थी। जब मां बेटी ने कहा कि हम उसके बारे में कुछ नहीं जानते तब उन्होंने पूरे घर की तलाशी ली। एक-एक स्थान को तलाशा लेकिन उन्हें ड्राज में रखे 1.50 लाख रुपए के अलावा कोई पैसा नहीं मिला। वे वही ले गए। जेवर नकली थे तो उन्हें छोड़ गए। ये डकैत घर में करीब 20 से 25 मिनट तक तलाशी लेते रहे,डराते धमकाते रहे उसके बाद वहां से चले गए। नेहा के हाथ-पैर नहीं बांधे थे। इनके जाने के बाद नेहा ने सभी को बंधन मुक्त करवाया और पुलिस एवं अन्य को सूचना दी।

डाक्टर की बहू के लाखों के जेवर भी चोरी :

भंवरकुआ इलाके में डकैती के साथ ही एक नर्सिंग होम चलाने वाले डाक्टर की बहू के जेवर चोरी होने की वारदात भी सामने आई है। इस मामले में घर में काम करने वाली नौकरानी पर आशंका जाहिर की गई है। पुलिस ने उससे पूछताछ भी की है लेकिन चोरी का कोई सुराग नहीं मिला है। अग्रवाल नगर निवाली डाक्टर गोविंद गोयल की बहू डाक्टर लक्ष्मी गोयल ने अपने हीरे का ब्रेसलेट,कान के टाप्स,अंगूठी और अन्य जेवर शोकेस के ड्राज में रखे थे। 28 अक्टूबर को बहू ने ये जेवर रखे थे 2 नवंबर को उन्होंने ड्राज चैक किया तो सारे जेवर गायब थे। डाक्टर ने इसकी शिकायत भंवरकुआ थाने पर की है नौकरानी पर शंका जाहिर की है। पुलिस ने नौकरानी से भी पूछताछ की है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है। पुलिस ने मामले की जांच की बात कही है। वे अन्य लोगों से भी पूछताछ करेंगे। चोरी हुए जेवरों की कीमत लाखों रुपए बताई गई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.