Indore : एसटीएफ ने किया 50 लाख की धोखाधड़ी का पर्दाफाश
एसटीएफ ने किया 50 लाख की धोखाधड़ी का पर्दाफाशसांकेतिक चित्र

Indore : एसटीएफ ने किया 50 लाख की धोखाधड़ी का पर्दाफाश

इंदौर, मध्यप्रदेश : एसटीएफ ने तीन फर्जी एडवाईजरी कंपनी पर छापामार कार्रवाई कर पांच संचालक को गिरफ्तार किया है। कंपनी के दफ्तर से 16 कम्प्यूटर, 27 मोबाइल और अन्य रिकॉर्ड बरामद किया है।

हाइलाइट्स :

  • तीन फर्जी एडवाइजरी कंपनी के पांच संचालक गिरफ्तार।

  • रिमांड पर कई और रहस्य सामने आने की संभावना।

इंदौर, मध्यप्रदेश। एसटीएफ ने तीन फर्जी एडवाईजरी कंपनी पर छापामार कार्रवाई कर पांच संचालक को गिरफ्तार किया है। कंपनी के दफ्तर से 16 कम्प्यूटर, 27 मोबाइल और अन्य रिकॉर्ड बरामद किया है। अभी तक 50 लाख की धोखाधड़ी सामने आई है। पूछताछ में और भी कई खुलासे होने की संभावना है। आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

एसटीएफ एसपी मनीष खत्री ने बताया कि पता चला था कि गीताभवन व बंगाली चौराहे के पास फर्जी तरीके से एडवाइजरी कंपनी संचालित की जा रही है। इस सूचना के बाद गीताभवन स्थित मार्केट स्पार्टम नामक कंपनी पर छापा मारा गया। यहां से संचालक पवन मुरमकर पिता स्व. अन्ना मुरमकर निवासी शीलनाथ कैम्प और आदर्श पिता अरविंद जैन निवासी पिपल्याहाना को गिरफ्तार किया गया। एसटीएफ की छानबीन के दौरान वहां से कई फर्जी बैंक खातों की जानकारी मिली है। इन खातों में लाखों रुपए का लेनदेन होने की बात पता चली है। एसटीएफ ने यहां से 16 मोबाइल, 13 कम्प्यूटर सिस्टम के साथ ढेर सारा रिकार्ड भी जब्त किया है, कई फर्जी दस्तावेज भी यहां मिले हैं जिनके बारे में पूछताछ की जा रही है। आरोपी पवन ने हरीश निवासी शिवाजी नगर नाम के क्लाइंट से लोन दिलवाने के नाम पर 2 निजी बैंको का खाता खुलवाकर उसमें निवेशकों की राशि जमा करवा दी थी। पुलिस ने पवन से एक लाख से अधिक की सोने की चैन भी बरामद की है। ये सोने की चेन धोखाधड़ी के पैसों से खरीदी गई थी। उससे पूछताछ की जा रही है। इसके साथ ही बंगाली चौराहे के पास योजना क्रमांक 94 पर संचालित स्टार इंटरप्राइजेस नामक गैर सेबी पंजीकृत शेयर मार्केट एडवाईजरी कंपनी के कार्यालय पर छापा मारा गया। यहां से संचालक आकाश पिता रेवती मंडल निवासी करूणा अपार्टमेंट कनाडिया रोड को गिरफ्तार किया। यहीं से सीपीयूए पैन ड्राइव व 5 मोबाइल के साथ अन्य सामग्री भी बरामद की गई। आकाश द्वारा कर्नाटक, नासिक, बंगलौर, ओरंगाबाद एवं राजस्थान के निवेशकों के साथ लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने की बात सामने आई है। इस मामले में पूछताछ कर जांच की जा रही है। इसके साथ ही बंगाली चौराहे के पास ही बिना नाम की कंपनी पर छापा मारा, यहां से संचालक अरविंद पाल पिता हरिशंकर पाल और भरत राठौर पिता संग्राम सिंह दोनों ही निवासी आदर्श मेघदूत नगर को पकड़ा। यहां से दो कम्प्यूटर व छह मोबाइल जब्त किए गए। इनके द्वारा राजकोट, अहमदाबाद गुजरात व अन्य राज्यों के निवेशकों के साथ लाखों रुपए की धोखाधड़ी की बात सामने आई है। एसपी मनीष खत्री के मुताबिक प्रारंभिक जांच में पता चला है कि इनके द्वारा लगभग 50 लाख रुपए से अधिक की धोखाधड़ी की गई है। पुलिस इनका रिमाण्ड लेकर पूछताछ कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.