Indore : सामूहिक पिटाई के डर से कांपते रहे दंगे की साजिश रचने वाले

इंदौर, मध्यप्रदेश : शहर मे दंगे की साजिश रचने वाले चारों आरोपियों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट पेशी के दौरान ये सामूहिक पिटाई से बेहद डरे हुए नजर आए।
Indore : सामूहिक पिटाई के डर से कांपते रहे दंगे की साजिश रचने वाले
सामूहिक पिटाई के डर से कांपते रहे दंगे की साजिश रचने वालेRaj Express

इंदौर, मध्यप्रदेश। शहर मे दंगे की साजिश रचने वाले चारों आरोपियों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट पेशी के दौरान ये सामूहिक पिटाई से बेहद डरे हुए नजर आए। पुलिस के पुख्ता इंतजाम होने के कारण किसी ने भी इसकी कोशिश नहीं की। न्यायालय ने चारों को 2 सितम्बर तक पुलिस रिमाण्ड में सौंपा है। पुलिस ने इनके कुछ ठिकानों पर भी छापामारा है। पुलिस इनके कुछ साथियों से भी पूछताछ कर रही है।

दंगा भड़काने की साजिश रचते हुए खजराना पुलिस ने अल्तमश खान पिता अबरार खान निवासी ईशाक कालोनी, इमरान अंसार उर्फ मुनाजिर पिता अब्दुल हक अंसारी निवासी रानीपुरा, जावेद खान पिता मो. साहिद खान निवासी कनाडिया रोड खजराना और सैयद इमरान अली उर्फ रशीद पिता सत्तार अली निवासी गोया रोड खजराना को गिरफ्तार किया है। ये व्हाट्सअप ग्रुप पर शहर की शांति व्यवस्था बिगड़ाने की साजिश रच रहे थे। इनके निशाने पर हिंदूवादी संगठन से जुड़े नेता थे हिंदूवादी रैली में भी शामिल थे।

एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि आरोपी अल्तमश सोशल मीडिया पर भड़काऊ मैसेज से दंगा भड़काना चाहता था। सभी आरोपी कट्टर मानसिकता के हैं। अल्तमश 10वीं तक पढ़ा है। यह तीन सालों से समुदाय विशेष के युवाओं को उकसाने का काम कर रहा था। बताते हैं कि करीब 20 हजार वाट्सएप ग्रुप ऐसे सक्रिय हैं जिन पर एक वर्ग विशेष को भड़काने वाले संदेश भेजे जाते हैं। कई बार तो पुरानी वारदातों को लेकर भड़काऊ संदेश दिए जाते हैं कभी दूसरे देश के मैसेज को भी स्थानीय बताकर भड़काने की कोशिश की जाती है। ऐसे ग्रुप पुलिस के सामने चुनौती बन गए हैं। पुलिस को आरोपियों की मोबाइल रिकार्डिंग भी मिली है। इनके कुछ और साथी भी इस तरह के दंगा भड़काने की कोशिश करते हैं,पुलिस उनके खिलाफ भी केस दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करेगी।

सूत्रों के मुताबिक मोहम्मद इरफान राजबाड़ा पर पुराने कपड़े का कारोबारी है, जावेद किराना दुकान पर काम करता है। सैय्यद अंडे की दुकान चलाता है और अल्तमश साइन बोर्ड बनाने का काम करता है। इन चारों आरोपियों ने अभी तक किसी भी राजनीतिक दल से जुड़े होने की बात नहीं स्वीकारी है। दूसरी ओर शक किया जा रहा है कि किसी रसूखदार का इनको संरक्षण मिला जिसके कारण इन लोगों ने ये हरकत की थी। पुलिस इस बिन्दु पर भी छानबीन कर रही है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co