केरल में पत्नियों की अदला-बदली के खेल का भंडाफोड़, 7 लोगों को किया गिरफ्तार
केरल में पत्नियों की अदला-बदली के खेल का भंडाफोड़Syed Dabeer Hussain - RE

केरल में पत्नियों की अदला-बदली के खेल का भंडाफोड़, 7 लोगों को किया गिरफ्तार

केरल के कोट्टायाम जिले के करुकाचल में पुलिस ने सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया। यहां, शारीरिक संबंधों के लिए पार्टनर्स की अदला-बदली की जाती थी। कई महिलाओं को जोर जबरदस्ती करके इसमें शामिल किया गया।

केरल, भारत। देश में कुछ न कुछ शर्मसार कर देने वाली घटनाएं सुनने को मिलती हैं। तो वहीं, कुछ लोग सेक्स रैकेट चला रहे हैं। अब केरल के कोट्टायाम जिले के करुकाचल में शारीरिक संबंधों के लिए पत्नियों की अदला-बदली के खेल समाने आया, इस सेक्स रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ किया।

सेक्स रैकेट के मामले में 7 लोग गिरफ्तार :

दरअसल, केरल के कोट्टायाम जिले के करुकाचल में हुए सेक्स रैकेट मामले के खुलासे में यह पता चला है कि, यहां शारीरिक संबंधों के लिए पार्टनर्स की अदला-बदली की जाती थी। सेक्स रैकेट के इस सिलसिले में केरल पुलिस द्वारा एक व्यक्ति और 6 अन्य लोगों यानी 7 को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार, ''यह सेक्स रैकेट को फेसबुक, मेसेंजर और टेलीग्राम प्लेटफॉर्म के जरिए चलाया जाता था जिसमें कई महिलाएं जुड़ी थीं, यहां तक कि कई लोगों ने अपनी पत्नियों को भी पैसों के लिए इस धंधे में जबरदस्ती धकेला।''

कैसे हुआ सेक्‍स रैकेट का भांडाफोड़ :

करुकाचल में चल रहे इस सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ तब हुआ, जब एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई। म‍हिला को उसका पति अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने के लिए बाध्य कर रहा था। उसकी शिकायत के बाद ही पुलिस ने छानबीन कर इस गिरोह का भांडाफोड़ किया है। इतना ही नहीं बल्कि इस मामले में पुलिस ने 5 केस और भी दर्ज किए हैं। पुलिस ने बताया कि, ''कई महिलाओं को जोर जबरदस्ती करके इसमें शामिल किया गया, इनमें से कई महिलाएं मानसिक रूप से ठीक नहीं थी। इन सोशल मीडिया ग्रुप में कई डॉक्टर्स, लॉयर्स और प्रोफेशनल्स जुड़े हुए हैं, इस ग्रुप के करीब 5000 सदस्य हैं।''

पूरे राज्य से लोग इस रैकेट में शामिल :

मिली जानकारी के अनुसार, इन समूहों में 1,000 से ज्यादा युगल हैं, जो महिलाओं की अदला-बदली कर रहे थे। पुलिस के मुताबिक, आरोपित राज्य के तीन अलग-अलग जिलों से हैं और पूरे राज्य से लोग इस रैकेट में शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार, समाज के उच्च वर्ग के कई लोग भी इस समूह का हिस्सा हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.