Bankhedi : मूंग खरीदी विवादों में, किसानों से ठगी का मामला आया सामने
ठगी के शिकार हुए किसानराज एक्सप्रेस, संवाददाता

Bankhedi : मूंग खरीदी विवादों में, किसानों से ठगी का मामला आया सामने

बनखेड़ी, मध्यप्रदेश : समूचे क्षेत्र के किसान बहुत बड़े स्तर पर ठगों की हेरा फेरी का शिकार हो गए हैं। ठगों ने बड़े स्तर पर मूंग खरीदी कर किसानों को करोड़ों की चपत लगा दी।
Summary

जिस वक्त क्षेत्र का किसान मूंग की लगभग एक चौथाई उपज को पहले ही ओने पोने दामों में बेंचकर ठगा जा चुका है। उस वक्त बड़े किसान संगठन के मुखिया सरकार की उपलब्धि गिनाने उत्सव मना रहें हैं। कुछ किसान संगठन अपना वजूद बचाने संघर्ष कर रहें हैं। वहीं मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी को सिस्टम ने मजाक बना दिया हैं।

बनखेड़ी, मध्यप्रदेश। मूंग की खरीदी वैसे तो विवादित ही रहीं हैं। सर्वेयरों व वेयरहाउस संचालकों द्वारा किसानों से प्रति कुंटल वसूली के वीडियो भी जारी हुए। इन सबके बीच किसानों से ठगों ने लाखों की मूंग खरीदकर ठगी करने का मामला भी सामने आया। नए कृषि कानून में कोई भी व्यक्ति पैनकार्ड दिखाकर किसानों से खरीदी कर सकता हैं। ठगों ने भी ऐसा ही किया। जिस वक्त मूंग के दाम कम थे एवं समर्थन मूल्य पर मूंग तुलवाने दिक्कत आ रहीं थीं उसी मजबूरी का फायदा ठगों द्वारा उठाया गया। ग्राम सिंगोड़ा के आधा दर्जन किसानों की लगभग 500 कुंटल मूंग की खरीदी करते हुए कुछ लोगों ने थोड़े बहुत पैसे देकर बाकी रकम का चेक दिया। पर यह सब झांसा देने किया गया।

यह है मामला :

समूचे क्षेत्र के किसान बहुत बड़े स्तर पर ठगों की हेरा फेरी का शिकार हो गए हैं। ठगों ने बड़े स्तर पर मूंग खरीदी कर किसानों को करोड़ों की चपत लगा दी। ठग मूंग खरीदने के बाद क्षेत्र से चंपत हो गए । ठगे गए किसान अब परेशान हैं एवं जगह जगह थाने पहुंचकर शिकायत करते हुए न्याय की गुहार लगा रहें हैं। उक्त तरह की ठगी करोड़ों की है या अरबों की इसका खुलासा किसानों की शिकायतों के बाद और ठगों के पकड़ में आने के बाद ही होगा। सूत्रों की माने तो इस ठग गिरोह में राशन के चावल का एक बड़ा खरीददार भी शामिल है। हुआ यह है की जब मंडी में मूंग के दाम समर्थन मूल्य बहुत ज्यादा कम थे उस दौरान किसानों से इन ठगों ने मूंग की खरीदी ऊंचे दामो पर की और मूंग को कालाबाजारीयों को बेची जोकि राजनीतिक संरक्षण हासिल कर बहुत व्यापक स्तर पर मूंग समर्थन मूल्य के खरीदी केंद्रों पर बेच रहे थे। सबसे पहले ठगों ने नयागांव और इसके आसपास के इलाके में मूंग खरीदी शुरुआत की। इस संदर्भ में सिंगोड़ा निवासी किसानों ने बताया कि पूरे क्षेत्र से जब यह ग्रुप मूंग खरीदी कर रहा था तब बहुत से लोगों ने किसानों को समझाया था। लेकिन ठगों का मायाजाल ऐसा था किसान उन्हें लगातार मूंग देते रहे। हालांकि ठगी का शिकार हुए किसानों का एक बड़ा जत्था डूडादेह पहुंच कर इस गिरोह के सरगना को उसके निवास पर जाकर तलाश चुका हैं पर खालीहाथ हैं। लेकिन ठग किसानों को नहीं मिला इनमें से अनेकों किसानों ने बताया कि जब मूंग के दाम के मंडी में बहुत कम थे। किसानों से बढ़े हुए दामों पर प्रति क्विंटल मूंग की खरीदी शुरू की तथा किसानों को प्रति क्विंटल के मान से आधा भुगतान भी किया तथा शेष राशि का भुगतान बाद में करने का वादा किया। जो की 2 माह की समयावधि बीत जाने के बाद भी किसानों को नहीं मिली है। ठगों ने क्षेत्र के अनेकों गांव में किसानों को अपनी ठगी का शिकार बनाया।

छले गए किसान :

इस मूंग का इन ठगों ने क्या किया इस विषय में जानकारी ली गई तो पता चला है की किसानों से मूंग खरीद कर उसे कालाबाजारियो को प्रति क्विंटल की दर से बड़ा लाभ कमाकर बेचा गया। एवं पूरा भुगतान नगद लेकर रफू चक्कर हो गए हैं। ठगों की इस हेराफेरी से सर्वाधिक लाभ कालाबाजारियो को हुआ है क्योंकि उन्हें लगातार कम दामों में मूंग की सप्लाई घर बैठे बहुत आसानी से मिलती रहीं। इस स्थिति के लिए नए कृषि कानूनों का साइड इफेक्ट बताया गया एवं इस तरह की ठगी के और भी मामले सामने आने की आशंका जताई गई। उक्त आरोप कांग्रेस नेता पुष्पराज पटैल के नेतृत्व में ठगे गए किसानों ने बनखेड़ी थाने में शिकायत दर्ज करते हुए लगाएं। कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष कुंजीलाल पटैल, दिलीप साहू, नीलेश व्यास सहित कांग्रेस जन मौजूद रहे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co